Inspiring Success Story of Narayana Murthy भारतीय आईटी जगत के महाराजा

भारत के प्रसिद्ध उधोगपतियो में से एक नाम नागवार रामाराव नारायणमूर्ति का भी हें जो एक प्रसिद्ध सॉफ़्टवेयर कंपनी इन्फोसिस टेक्नोलॉजीज के संस्थापक हें आज भारत के उधोगपतियो से एक सफल उधोगपति हें, उन्हें भारतीय आईटी जगत का जार महाराजा भी कहा जाता है. नारायणमूर्ति भारतीय साफ़्टवेयर उद्योग के प्रणेता ही नहीं वरन विदेशों में भारतीय कम्पनियों का झन्डा ऊँचा करने के प्रेरणा स्त्रोत भी है। नारायणमूर्ति ने दुनिया को दिखा दिया है यदि आप में आत्मविश्वास है, कुछ कर गुजरने की क्षमता है, तो सफ़लता हमेशा आपके कदम चूमेगी।

जन्म – 20 अगस्त 1946

जन्म स्थान- मैसूर, कर्नाटक, भारत

शिक्षा प्राप्त की- भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर

व्यवसाय-  गैर-कार्यपालक अध्यक्ष एवं चीफ मेन्टर: इन्फोसिस

बच्चे– रोहन एवं अक्षत

पुरस्कार –  पद्म श्री, कनाडा इंडिया फाउंडेशन चंचलानी ग्लोबल इंडियन अवार्ड, पद्म विभूषण इन ट्रेड एंड इंडस्ट्री और हूवर मेडल

नारायणमूर्ति के सफलता के राज

नारायणमूर्ति हमेशा से ही कुछ अलग करने की सोचते थे और हुआ भी कुछ ऐसा ही की उन की लगन और मेहनत ने आज दुनिया के नक्से में एक अलग पहचान बनाये हुई हें लेकिन उन के सफलता के पीछे उन्होंने बहुत से दुःख देखे हें लेकिन कभी हार नही मान,  सन 1981 में अपने कुछ मित्रों के साथ मिलकर नारायणमूर्ति ने इनफ़ोसिस की स्थापना की जिसने देखते ही देखते सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में सफलता की नयी ऊँचाइयों को छुआ। वे सन 1981 से लेकर सन 2002 इनफ़ोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बने रहे और अपने नेतृत्व में कंपनी को उन गिनी चुनी कम्पनियों के समकक्ष खड़ा कर दिया जिनके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता |

जीवन परिचय Narayan Murthy biography

एन. आर. नारायणमूर्ति का विवाह सुधा मूर्ति से हुआ। उन्होंने हुबली के बी.वी. भूमारड्डी कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बी.इ. किया। अपनी कक्षा में प्रथम आने पर उन्हें कर्णाटक के मुख्यमंत्री से पुरस्कार मिला। इसके पश्चात उन्होंने इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस से कंप्यूटर साइंस से एम.इ. वे अब एक सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक हैं। वे इनफ़ोसिस फाउंडेशन के माध्यम से लोकोपकारी कार्य करती हैं।

एन. आर. नारायण मूर्ति के अनमोल विचार

  • प्रदर्शन पहचान दिलाता है। पहचान से सम्मान आता है। सम्मान से शक्ति बढ़ती है। शक्ति मिलने पर विनम्रता और अनुग्रह का भाव रखना किसी संगठन की गरिमा को बढ़ाता है।
  • हमारी संपत्ति हर शाम दरवाजे से बाहर निकलती है, हमें सुनिश्चित करना होगा कि वो अगली सुबह वापस आ जाए।

You Must Read

PSTET Admit Card TET Punjab Permission Letter 2018 Education... Hello Greeting To All PSTET Applicant After a Long...
डेरा सच्चा सोदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ साध्वी योन श... डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के ...
बालदिवस पर चाचा नेहरु के साथ बच्चों की फोटो वॉलपेपर... Rkalert.in परिवार की तरफ से सभी बच्चों बालदिवस की ...
एड्स से निपटने के लिय अमेरिका ने गाय से किया वैक्सीन तैयार... HIV से बचाएगी गाय माता  : भारत में हिन्दू धर्म मैं...
ANTHE Online Exam 2017 National Talent Hunt for 8th, 9th and... Hello friends, you are very good news for all Stud...
Happy Holi Dhulandi HD Wallpaper Photo Image for Whatsapps F... Happy Holi Dhulandi HD Wallpaper Photo Image Pic :...
दुर्गाष्टमी महानवमीं पूजन विधि कन्या पूजन जानिए कन्या पूजन क... दुर्गाष्टमी महानवमीं पूजन : नवरात्र के नौ दिनों तक...
कन्या संक्रांति 2017 विश्वकर्मा जयंती पूजा विधि मुहर्त का सम... कन्या संक्रांति ,विश्वकर्मा जयंती 2017 : 17 सितम्ब...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *