महात्मा गांधी जयंती पर कविता 02 अक्टूबर गांधी जयंती

दोस्तों 02 अक्टूबर यानि महात्मा गाँधी जयंती 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रुप में भी मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गाँधी अपने पूरे जीवन में हिंसा के उपदेशक रहे थे राष्ट्र सामान्य सभा द्वारा 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्ररीय अहिंसा दिवस के रुप में घोषित किया गया है। इस के उपलक्ष्य में हम आपके लिए लेकर आरहे है कुछ ऐसी कविताओ का संग्रह जो शायद आपको पसंद आएगी | धन्यवाद

धोती वाले बाबा की
यह ऐसी एक लडा़ई थी
न गोले बरसाये उसने
न बन्दूक चलायी थी
सत्य अहि़सा के बल पर ही
दुश्मन को धूल चटाई थी
मन की ताकत से ही उसने
रोका हर तूफान को
हम श्रद्धा से याद करेगें
गाँधी के बलिदान को

बापू के जन्म दिवस पर कविता Gandhi Jayanti Kavita

एक थे लाल और एक थे बापू ,
कहाँ हैं अब ऐसे लाल और बापू ,
दोनों ने जीवन ,सर्वस्व किया ,नौछावर ,
अपनी इस जननी की खातिर ,
आओ मिलकर दिया जलाएं ,
जन्मदिन उनका मनाएँ ,
सुख ,समृधि का जो देखा उन्होंने सपना ,
उसको पूरा करने का क्योँ न ले प्रण अपना |
प्यारे बापू प्यारे शास्त्री जी ,
धन्यभाग हमारे ,
जो हम इस धरती पर आए ,
जहां ऐसे कर्णधार हमने हैं पाये |
अपने कर्मठ अमर सपूतों को ,
उनके पसीने की एक एक बूंदों को
क्योँ न याद करे हम दोनों को ,
भावबिह्वलहोकर दोनों को
इस धरा के अमर सपूतों को ,
एक ने बोला जय जवान -जय किसान ,
दूसरे बोले रघुपति राघव राजा राम
दोनों की थी एक ही बोली ,
देश हमारा खेले होली(रंगों की),
क्योँ न बोलें हम ये आज ,
भारत ,बन जाए हम सबकी शान

गाँधी जयंती पर बेस्ट पोएम Gandhi Jayanti Best Poem

ली सच की लाठी उसने
तन पर भक्ति का चोला
सबक अहि़सा का सिखलाया—–
वाणी में अमृत उसने घोला
बापू के इस रंग में रंग कर
देश का बच्चा- बच्चा बोला
कर देगें भारत माँ पर अर्पण
हम अपनी जान को
हम श्रद्घा से याद करेगें
गाँधी के बलिदान को

चरखे के ताने बाने से उसने
भारत का इतिहास रचा
हिन्दू,मुस्लिम,सिख,ईसाई
सबमें इक विश्वास रचा
सहम गया विदेशी फिरंगी
लड़ने का अभ्यास रचा
मान गया अंग्रेजी शासक
बापू की पहचान को
हम श्रद्धा से याद करेगें
गाँधी के बलिदान को

गांधी जयंती पर देशभक्ति कविता हिन्दी में Gandhi Jayanti DeshBhakti Kavita 

जिस बापू ने सारे जग में
हिन्दुस्तान का नाम किया
उस पर ही इक घात लगाकर
अनहोनी ने काम किया
बापू ने बस राम कहा और
चिर निद्र में विश्राम किया
यह संसार नमन करता है
आजादी की शान को
हम श्रद्धा से याद करेगें
गाँधी के बलिदान को.

Best Wallpaper on Gandhi Jayanti  02 October 

महात्मा गांधी पर कविताएं

Poem on Mahatma Gandhi in Hindi गांधी जयंती

बापू महान, बापू महान!
ओ परम तपस्वी परम वीर
ओ सुकृति शिरोमणि, ओ सुधीर
कुर्बान हुए तुम, सुलभ हुआ
सारी दुनिया को ज्ञान
बापू महान, बापू महान!!
बापू महान, बापू महान
हे सत्य-अहिंसा के प्रतीक
हे प्रश्नों के उत्तर सटीक
हे युगनिर्माता, युगाधार
आतंकित तुमसे पाप-पुंज
आलोकित तुमसे जग जहान!
बापू महान, बापू महान!!
दो चरणोंवाले कोटि चरण
दो हाथोंवाले कोटि हाथ
तुम युग-निर्माता, युगाधार
रच गए कई युग एक साथ ।
तुम ग्रामात्मा, तुम ग्राम प्राण
तुम ग्राम हृदय, तुम ग्राम दृष्टि
तुम कठिन साधना के प्रतीक
तुमसे दीपित है सकल सृष्टि ।

You Must Read

इस बार कृष्ण जन्माष्टमी 2017 पर कृं कृष्णाय नमः का जाप कर अध... भाद्रपद की अष्टमी को रात के 12 बजे मथुरा नगरी की ज...
देवशयनी एकादशी व्रत कथा पूजा विधि और महत्व... देवशयनी ग्यारस : देवशयनी एकादशी कल मंगलवार 04 जून ...
गोपाष्टमी 2017 मुहर्त पूजा विधि कथा और महत्व... गोपाष्टमी 2017 : कार्तिक शुक्ल पक्ष की अष्टमी को ग...
छोटी दिवाली 2017 नरक चतुर्दशी की पूजा विधि और राजा बलि की कथ... छोटी दिवाली 2017 : धनतेरस के अगले दिन और बड़ी दिवाल...
Bal Divash Shayari Geet in Hindi Bal Divash Shayari : 14 नवम्बर को बाल दिवस ह...
Independence Day India 15 August 2017 Special Event list आओ झुक कर सलाम करे उनको, जिनके हिस्से में ये मु...
दीपावली के शुभकामनाएं संदेश मैसेज वॉलपेपर हिंदी मराठी और पंज... दिवाली का ये पावन त्‍यौहार, जीवन में लाए खुशियां अ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *