गांधी जयंती पर हिंदी में निबंध 2 अक्टूबर 2017

दोस्तों : 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती है| हम सभी यहाँ गांधीजी को श्रद्धांजलि देने के लिए इकठे हुए है | हम अपने महान व्यक्ति के बारे में बात करेंगे | जिन्होंने हमें सत्य और अहिशा के मार्ग पर चलाना सिखया था | हम गांधी जयंती को पुरे भारत में एक राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाते हैं | महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है | जिसे हम बापू या राष्ट्रपिता के नाम से भी जानते है |

Rashtrapita Mahatma Gandhi Pictures in HD

गांधी जयंती पर हिंदी में निबंध

2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है | क्युकी गाँधीजी हमेशा ही अहिंसा के विरुद्ध थे | इसलिए 2 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2007 में गैर-हिंसा के अंतर्राष्ट्रीय दिवस घोषित किया गया था | गाँधी जी को शांति और सच्चाई के प्रतीक के रूप में भी याद करते | गांधीजी का जन्म एक छोटे से गाँव पोरबंदर गुजरात में 1869 में हुआ था | गाँधीजी वकालत करने इंग्लेंड चले गए वहा से उन्होंने कानून की डिग्री प्राप्त की | इसके बाद वो भारत लोट आये | उसके बाद नौकरी करने दक्षिण अफ्रीका चले गए | दक्षिण अफ्रीका में उन्हें नस्ल भेद का समाना करना पड़ा | गाँधी जी ने अपनी आत्मकथा “सच्चाई के साथ मेरा प्रयोग” नामक अपनी आत्मकथा में अपने जीवन के इतिहास का वर्णन किया । ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत की आजादी के लिए लड़ते रहे |

गांधी जी सरल जीवन और उच्च सोच वाला व्यक्ति था | गाँधीजी धूम्रपान, अस्पृश्यता और गैर-शाकाहार का विरोधी था | 2 अक्टूबर के दिन भारत सरकार द्वारा शराब की बिक्री पर पूरी तरह से रोक है | गांधी जी सच्चाई और अहिंसा के अग्रणी थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिए सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया | नई दिल्ली के राज़ घाट पर उनकी प्रतिमा को फूलो से सजाया जाता है | प्रार्थना की जाती है |और उनके पसंदीदा गीत “रघुपति राघव राजा राम, पतित पवन सीता राम …” गाकर श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है |

महात्मा गांधी एक महान व्यक्ति थे | जिन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी | गाँधीजी ने न केवल अहिंसा के अद्वितीय विधि का बीड़ा उठाया था | बल्लिक ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत को स्वतंत्रता प्राप्त करवाकर दुनिया को साबित कर दिया है| कि आजादी अहिंसा के पथ के माध्यम से शांतिपूर्ण ढंग से प्राप्त की जा सकती है | गांधीजी आज भी शांति और सच्चाई के प्रतीक के रूप में जाने जाते है |

You Must Read

कालाष्टमी कालभैरव जयंती 2017 कथा महत्व पूजा विधि... कालाष्टमी कालभैरव जयंती 2017 : कृष्ण पक्ष की प्रते...
वन्दे मातरम् गीत के रचियता शब्द साधन बोल हिंदी अर्थ राष्ट्री... वन्दे मातरम् गीत की रचना प्रसिद्ध उपन्यासकार बंकिम...
Reet 2018 Online Application Form Rajasthan 3rd Grade Teache... Reet Exam 2017-18 online Application Form Notifica...
Happy New Year 2018 Wishes Message in Hindi Happy New Year 2018 Wishes SMS Message Shayari : न...
राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2017 अधिसूचना ऑनलाइन फॉर्म न्... राजस्थान प्रदेश के युवाओ के लिए बड़ी खुश खबरी आई है...
आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप 2017 आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत... आईसीसी महिला विश्व कप 2017 के अपने छठे मैच में भार...
Rajasthan Police Admit Card 2017 Raj Police Exam Date Call L... Rajasthan Police Constable Admit Card 2017: - Dear...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *