Diwali/Deepawali Laxmi Puja Muhurat 2018 दीपावली पर लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहर्त और समय

Deepawali/Diwali Puja Muhurat : दीपावली लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त 2018 :  इस वर्ष दीपावली 7 नवम्बर को मनाई जाएगी। इस बार दिवाली पर लक्ष्मी जी की पूजा कार्तिक कृष्ण पक्ष के अमावस्या में प्रदोषकाल तथा स्थिर लग्न में ही मनाना चाहिए। दीपावली के दिन अमावस्या तिथि, दिन बुधवार है। प्रदोष काल समय को दिपावली पूजन के लिये शुभ मुहूर्त के रुप में प्रयोग किया जाता है | प्रदोष काल में भी स्थिर लग्न समय सबसे उतम रहता है | इस दिन 07:13 से 09:08 के दौरान वृष लग्न रहेगा | प्रदोष काल व स्थिर लग्न दोनों रहने से मुहुर्त शुभ रहेगा | अतः यह दीपावली विशेष रूप से पुण्य प्रदान करने वाला होगा। दीपावली के दिन चार मुख वाला दीप पूरी रात प्रज्वलित करना अत्यंत शुभ और मंगल माना जाता है। इससे धन धान्य की वृद्धि होती है।

Deepawali Puja Muhurat 2018 : प्रदोष काल मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त = 07:11 से 08:16 सांय
अवधि = 1 घण्टा 5 मिनट्
प्रदोष काल = 07:43 से 08:16 सांय
वृषभ काल = 07:11 से 09:06 सांय
अमावस्या तिथि प्रारम्भ = 19/अक्टूबर/2017 को 00:13 बजे रात
अमावस्या तिथि समाप्त = 20/अक्टूबर/2017 को 00:41 बजे रात

Deepawali Puja Muhurat : दीपावली महानिशिता काल मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त = 09:40 से 12:32 रात
अवधि = 0 घण्टे 41 मिनट्स
महानिशिता काल = 23:40 से 24 :31
सिंह काल = 25:41+ से 27:59+
अमावस्या तिथि प्रारम्भ = 7 नवम्बर/2017 को ००:13 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त = 7 नवम्बर/2018 को 00:13 बजे

दीवाली चौघड़िया पूजा मुहूर्त – Diwali Choghadiya Puja Muhurat Time

दीवाली लक्ष्मी पूजा के लिये शुभ चौघड़िया मुहूर्त
प्रातःकाल मुहूर्त (शुभ) = 06:28 – 07:43
प्रातःकाल मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) = 10:51 से 14 :44
सायंकाल मुहूर्त (अमृत, चर) = 16: 19 से 20:55
रात्रि मुहूर्त (लाभ) = 24:06 से24:41

Diwali/Deepawali Laxmi Puja Muhurat 2018

Diwali/Deepawali Laxmi Puja Muhurat 2018 लक्ष्मी पूजा, दीपावली पूजा : लक्ष्मी पूजा को प्रदोष काल के दौरान किया जाना चाहिए जो कि सूर्यास्त के बाद प्रारम्भ होता है और लगभग 2 घण्टे 24 मिनट तक रहता है। कुछ स्त्रोत लक्ष्मी पूजा को करने के लिए महानिशिता काल भी बताते हैं। हमारे विचार में महानिशिता काल तांत्रिक समुदायों और पण्डितों, जो इस विशेष समय के दौरान लक्ष्मी पूजा के बारे में अधिक जानते हैं, उनके लिए यह समय ज्यादा उपयुक्त होता है। सामान्य लोगों के लिए हम प्रदोष काल मुहूर्त उपयुक्त बताते हैं।

You Must Read

13 साल की रेप पीडि़ता लड़की बनी मां... राजगढ़ : सेमलिया के मजरा रामपुरा मे...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.