मुहर्रम ताजिया 2017 कविता गज़ल शेर ए शायरी इन उर्दू

मुहर्रम 2017 अपने दोस्तों के लिए उर्दू में शायरी और हिंदी में मुहर्रम कविता, गज़ल, शेर ए शायरी। जो आप को ऑनलाइन डाउनलोड करने और पढ़ने के लिय हम लेकर आ रहे है | मुहर्रम उर्दू शायरी, हिंदी शायरी,एसएमएस, दुख भरी शायरी इत्यादि |धन्यवाद्  |

Muharram Photo Wallpaper 2017

Muharram 2017

मुहर्रम ग़ज़ल इन उर्दू  Muharram Gazal Sher E Shayri

दश्त ए बाला को अर्श का जीना बना दिया

दश्त-ए-बाला को अर्श का ज़ीना बाना दिया जंगल को मुहम्मद का मदीना बन्ना दीया
हर ज़र्रे को नजफ का नगीना बना दिया हुसैन तुम ने मरने को जीना बना दिया

मुहर्रम शायरी

शमशेर से मोला ने कहा चला मगेजर ऐसे

शमशेर से मोला ने कहा चला मगर ऐस
हो ख़ैबर-ओ-खंडक मैं भी हाल चाल मगर ऐसे
इस मेह्दान में रहे मौत की जाल थल मगर ऐसे
इस दश्त मैं रहे खून की दलदल ऐसे
तू जिस पे उत्तर गए मैं उस का वाली हूँ
वोह सिर्फ अली था मैं हुसैन इब्न ए अली हूँ

मुहर्रम कविता

Muharram Karbala and Imam Hussain Shayari in Urdu

मुहर्रम कर्बला और इमाम हुसैन शायरी

मुहर्रम कर्बला

मुहर्रम उल हरम
अफज़ल है कुल जहाँ से घराना हुसैन का
निबिओं का ताजदार है घराना हुसैन का
एक पल की थी बस हुकूमत यजीद की
सदियन हुसैन रा है जमाना रा हुसैन का

तरीका मिसाल असी कोई दोंड के लिए
सर तन से जुड़ा भी हो मगर मौत न आये
सोचन मैं सबर ओ राजा के जो मफिल
एक हुसैन रा अब अली रा जैन मैं आये

इश्क मैं किया लुटिया इश्क मैं किया बेचेन
अल ए नबी ने लिख दिया सारा नसीब रीत पर

कर्बला को कर्बला के शहंशाह पर नाज़ है
उस नवासे पर मुहम्मद मुस्तफा को नाज़ है
यूँ तू लाकोउन सजदे के मुखुक ने मगर
हुसैन ने वो सजदा किया जिस पर खुदा को नाज़ है

मुहर्रम शायरी इन हिंदी  Muharram Shayari in Hindi

Imam Hussain Shayari

कर्बला की शाहदत इस्लाम बन गई
खून तो बहा था लेकिन हौशालो की उडान बन गई

इमाम का होशाला
इस्लाम बना गया
अल्लाह के लिए उसका फ़र्ज़
आवाम को धर्म सिखा गया

कर्बला की उस जमी पर खून बहा
कत्लेआम का मंजर सजा
दर्द और दुखो से भरा था जहा
लेकिन फौलादी हौसले को शहीद का नाम मिला

न हिला पाया वो रब की मैहर को
भले जीत गया वो कायर जंग
पर जो मौला के दर पर बैखोप शहीद हुआ
वही था असली सच्चा पैगम्बर

Karbalaa  Sher E Shayari in English

Muharram Tajiya 2017 

Dy Ke Sarr Shabber Nay Islaam Zindaa Kar Diyaa
Karblaa Ko Jis Ke Sajdy Ne Muallah Kar Diyaa,

Hasharr Tak Koi Yazeedi Sarr Uthaa Sakta Nahain
Jis Ka Mutlab Zindagi Bharr Deen Chuka Sakta Nahain

Faatima Ke Laal Nay Ehsaan Easa Kar Diyaa
Karbalaa Ko Jis Ke Sajdy Ne Muallah Kar Diyaa…!!!

 

You Must Read

UPSC CDS 1 Result 2017 Combind Defence Service Final Result ... UPSC CDS 1 Result 2017 Declare : संघ लोक सेवा ...
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस BJP prepare for International Yoga D... योग दिवस 21 जून को मनाया जायेगा इस की तयारी पुरे ज...
दशहरा 2017 बधाई संदेश और सायरी मेसेज... Dussehra Shayari (दशहरा शायरी) ; दशहरा (विजयदशमी )...
नाग पंचमी की पूजा विधि व्रत कथा और महत्व... नागपंचमी : नाग पंचमी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योंहा...
Raksha Bandhan का शुभ मुहर्त जानिए रात में लग रहा है चंद्रग्... 12 वर्षो बाद फिर Raksha Bandhan के दिन यह योग बना ...
हिंदी दिवश 2017 का महत्व, कविता नारे और बधाई संदेश... हिंदी दिवश 2017 : भारत देश एक हिंदी भाषी देश हैं |...
MDSU Ajmer BA BSC BCOM and PG Online Examination Form Date ... MDSU Ajmer Online Examination Form 2017-18 for BA,...
रिलायंस जिओ न्यू 4G प्लान और फ्री रिचार्ज ऑफर हिंदी न्यूज़... रिलायंस जिओ क्या हैं ? : जिओ भारत मैं दूरसंचार सेव...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *