शिक्षक दिवस पर गीत कविता और भाषण प्रतियोगिता

happy teachers day 2017

शिक्षक दिवस 2017 : 5 सितम्बर को शिक्षक दिवश है | इस मोके पर पूरा भारत देश भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाक्रष्ण की जयंती के रूप मैं शिक्षक दिवश मनाते हैं | शिक्षक दिवश पर सभी स्कुलो मैं शिक्षको के बारे मैं भाषण , शिक्षक दिवश पर गीत, शिक्षक दिवश पर कविता आदि का आयोजन किया जाता हैं | 5 सितम्बर को शिक्षक दिवश पर बोलने क लिए हम सभी छात्रों और छात्राओं के लिए कुछ विशेष सामग्री पेश करने जा रहे हैं | देखे ,

शिक्षक दिवस पर छात्रा का भाषण : Teachers Day Speech

teachers day speech

शिक्षक दिवस पर भाषण आदरणीय शिक्षकों और मेरे सभी साथियों ,व बड़े भाई बहनों को नमस्ते |आप सभी तो जानते ही हैं की आज हम सभी यहाँ एकत्र हुए हैं शिक्षक दिवस का पालन करने के लिए|सबसे पहले तो में हमारे सभी शिक्षकों को आदार और सम्मान के साथ प्रणाम करती हूँ|आप सभी को मेरी तरफ से शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |

सबसे पहले तो में अपनी class शिक्षक का आभार व्यक्त करना चाहती हूँ की उन्होंने मुझे मौका दिया की में इस महान अवसर पर अपने शिक्षकों के लिए अपने मन में उनके प्रति जो प्यार और सम्मान है उससे उनके समक्ष रख सकूँ| दोस्तों आज 5th सितम्बर है और आप सभी को पता है की हम बहुत ख़ुशी और उत्साह के साथ इस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाते हैं|5th सितम्बर को डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म दिन है|डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक बहुत बड़े शिक्षक और विद्वान थे|वे भारत के पहले उपराष्ट्रपति और द्वित्य राष्टरपति बने थे|

डॉ सर्वपल्ली राष्ट्रपति खुद भी एक बहुत बड़े शिक्षक थे और वे सभी शिक्षकों का बहुत इज्जत करते हैं |उनका शिक्षा और शिक्षकों के प्रति बहुत गहरी सोच थी और वे सभी शिक्षकों को बहुत पसंद करते हैं इसीलिए उनके जन्म दिन को शिक्षक दिवस के रूप में पुरे भारत में मान्या जाता है | दोस्तों हमारे शिक्षकों का बहुत बड़ी योगदान है हमारे जीवन को एक सही आकार देने में|हमारे शिक्षक ही हमारे मार्ग दर्शक हैं जो हमें सही रास्ता दिखा के जिंदगी में एक सफल और जिम्मेदार नागरिक बनने में हमारी मदद करते हैं|इसीलिए हमें हमेशा हमारे शिक्षकों का दिल से आदर और सम्मान करना चाहिए और जिंदगी भर उनका आभार रहना चाहिए |

हमारे माता पिता हमें जन्म दे के प्यार कर सकते हैं पर हमारे शिक्षक ही हमें सही और गलत का परख करना सिखाते हैं और हमारा भविष्य उज्जवल बनाते हैं|शिक्षकों के लिए हर छात्र समान है व,वे किसी भी छात्र के साथ भेद भाव नहीं करते,और एकदम निस्वार्थ और इम्मंदारी से सभी बच्चों को अपने खुद के बच्चों के जैसे व्यवहार करते हैं ज्ञान प्रदान करते हैं | इसीलिए कहा जाता है की शिक्षकों का स्थान हमारे जीवन में सबसे उपर होना चाहिए|हमें हमेशा उनकी बातों का पालन करना चाहिए |एक शिक्षक ही हैं जो हमारे चरित्र का निर्माण करते हैं और हमें शिक्षा के महत्व के बारे में बताते हैं|वे हम सभी के लिए एक प्रेरणादायक स्त्रोत हैं जिनकी सिख से हम एक अच्छा इंसान बन सकेंगे|हम कल्पना भी नहीं कर सकते की बिना शिक्षक का हमारा क्या हाल होता|इसीलिए हमें अपने शिक्षकों का दिल से आदर,सम्मान और प्यार करना चहिये|उन्हें कभी नहीं भूलना चाहिए|

तो इस महान अवसर पर में अपने सभी शिक्षकों को उनके महान कार्यों के लिए आभार व्यक्त कर रही हूँ और एक बार फिर से में सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाइयां देना चाहती हूँ|

धन्यवाद –

शिक्षक दिवस पर हिंदी कविता : Teachers Day kavita in Hindi

shikshak divsh kavita in hindi

कुछ चार बरस का ही था मैं

जब पहली बार स्कूल गया

किसी ने मेरा हाथ थामा

लगा की जैसे माँ आ गई

क्या होता है गुरु ?

उस दिन ही मैंने जाना था,

पूरे मन, वचन, कर्म से उनको

अपना भगवान माना था |

गुरु ही तो वह बाती है

खुद जलकर प्रकाश फैलता है

अपनी मेधा के बल पर

छात्रों का भविष्य बनाता है |

क्या है हमारी गलती, उनसे

हमें अवगत कराता है |

सुधार करने का एक मौका देता

फिर स्वयं भी उसे बताता है |

आत्मविश्वास का एक दीप जलाता

मुश्किलों में साथ निभाता है

तुम सबकुछ कर सकते हो हर बार यही बतलाता हैं |

नमन करता हूँ मैं उन सबको

कुछ लायक मुझे बनाया है

मैं कौन हूँ और क्या हूँ

मेरा मुझसे परिचय कराया है |

शि‍क्षक दिवस पर कविता : दीपक सा जलता है गुरु

दीपक सा जलता है गुरु
फैलाने ज्ञान का प्रकाश

न भूख उसे किसी दौलत की
न कोई लालच न आस
उसे चाहिए,
हमारी उपलब्ध‍ियां
उंचाईयां,

जहां हम जब खड़े होकर
उनकी तरफ देखें पलटकर

तो गौरव से उठ जाए सर उनका

हो जाए सीना चौड़ा

हर वक्त साथ चलता है गुरु
फिर तराशता है शिद्दत से

और बना देता है सबसे खास

उसे नहीं चाहिए कोई वाहवाही

बस रोकता है वह गुणों की तबाही

और सहेजता है हममें
एक नेक और काबिल इंसान को

शिक्षक दिवस गीत : Teachers Day Song

Teachers Day Geet

गुरु का दर्जा सबसे ऊँचा सारे हिन्दुस्तान में
दसों दिशाएँ बाँच रही हैं, मंत्र ये सबके कान में

गुरु ही हैं जो सदा उबारे, पग-पग अंधकार के भय से
बिन शिक्षा के हम हैं ऐसे, बिना सुगंध सुमन हों जैसे
यही सार उद्घोषित होता, सब धर्मों के ज्ञान में

कितना भी हो कठिन लक्ष्य, आसान बनाते गुरुवर
सबकी राहों में आशा के, दीप जलाते गुरुवर
गुरु चाहें तो प्राण फूँक दें, पल भर में पाषाण में

आशंका, भय, कठिनाई से जब भी हम डरते हैं
तब गुरु ही अंधियारे पथ पर, उजियारा करते हैं
गुरु परिवर्तन कर सकते हैं, विधि के लिखे विधान में

क ख ग घ, ए बी सी डी, रटने को देते हैं
और फिर जीवन के दर्शन का पाठ पढ़ा देते हैं
शिक्षक ही अवलंबन बनते, बालक के उत्थान में

निस्पृहता और निश्छलता ही, गुरुता की थाती है
गुरु के मन में स्वार्थ भावना, पनप कहाँ पाती है
गुरु कुछ भेद नहीं ||

 

You Must Read

दिवाली लक्ष्मी पूजन की विधि सामग्री और पूजा करने का सही तरीक... दीपावली 2017 : भारत देश त्योंहारो का देश कहा जाता ...
Google Launched New Technology mosquito will kill mosquitoes गूगल सर्च इंजन अब एक तकनीकी योजना ला रहा है जिसका ...
भारत का 71वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा इस बार 15 अगस्त 2... आजादी के 70 साल भारत की आजादी के साथ ही भारत का न...
नवरात्र 2017 कैसे करे नवरात्र में नौ देवियों की पूजा... पुराणों के अनुसार महानवरात्रि की पूजा की परम्परा स...
Reet 2018 Vacancy Increase 25000 to 35000 Reet 2017 - 18 Third Grade Teacher Recruitment Vac...
नवरात्र 2017 दुर्गा पूजा से सरकारी नौकरी में सफलता के व अन्य... नवरात्र Navratra 2017 का त्यौहार हिन्दू धर्म का सब...
Baldiwas Kavita बाल दिवस पर विशेष कविताओ का संग्रह... बाल दिवस Bal Diwas को चाचा नेहरु के जन्मदिवस के रू...
मलयालम सिनेमा की मशहूर अभिनेत्री के यौन शोषण मामले में एक्‍ट... यौन शोषण के आरोपी एक्‍टर दिलीप कुमार : केरल के जान...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *