14 जनवरी मकरसंक्रांति त्यौहार 2018 का महत्व व सूर्य की उपसना

मकरसंक्रांति Makar Sankranti हिन्दुओ का प्रमुख त्यौहार है | इस त्यौहार को सूर्य के उत्तरायण होने पर सम्पूर्ण भारत में मनाया जाता है | 14 जनवरी को जब सूर्य उत्तरायण होकर मकर रेखा से गुजरता है तब ही यह त्यौहार मनाया जाता है | इस दिन की यह खाश बात है की इस दिन सूर्य धनु राशी को छोड़कर मकर राशी में प्रवेश करता है और इसके साथ ही सूर्य की उत्तरायण गति आरम्भ होती है |

मकरसंक्रांति पर्व 2018

सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना ही मकरसंक्रांति कहलाता है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाता है। शास्त्रों में उत्तरायण की अवधि को देवताओं का दिन और दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है। इस दिन स्नान, दान, तप, जप और अनुष्ठान का अत्यधिक महत्व है।

मकरसंक्रांति दिन और दिनांक Makar Sankranti Day and Date

मकरसंक्रांति Makar Sankranti प्रतेक वर्ष 14 जनवरी को सम्पूर्ण भारत के अलावा नेपाल व बंगलादेश */में भी बड़ी धूम धाम से मनाई जाती है | इस वर्ष रविवार 14 जनवरी 2018 को मनाई जाएगी |

संक्रांति के दिन 2018

मकरसंक्रांति Makar Sankranti 2018

देश के अलग अलग हिस्सों में मकरसंक्रांति के त्यौहार को अलग अलग तरीको से मनाया जाता है | जैसे पंजाब व हरियाणा और जम्मू कश्मीर में नई फसल के स्वागत के रूप में लोहड़ी नामक त्यौहार मनाया जाता है | आंध्रप्रदेश ,केरल ,कर्नाटक में इसे संक्रांति के नाम से जाना जाता है | और तमिलनाडु में इसे पोंगल त्यौहार के रूप में मनाया जाता है | जबकि असम में बिहू के रूप में मनाया जाता है |

मकरसंक्रांति पर्व

मकरसंक्रांति पर पकवान Food on Makar Sankranti

देश में अलग अलग मान्यताओं के के कारण इस दिन पकवान भी अलग अलग बनाये जाते है | परन्तु इस दिन दाल व चावल की खिचड़ी मुख्यतय सभी जगहों पर बनाई जाती है | जबकि तिल और गुड का भी मकरसंक्रांति पर बड़ा महत्व है | इस दिन महिलाये पाने पति की लम्बी उम्र के लिए वस्तुए आदान प्रदान करती है |

मकरसंक्रांति पर पकवान

मकरसंक्रांति पर तिल का महत्व Importants of Til on Makar Sankranti

ज्योतिषियों के अनुसार मकरसंक्रांति के दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता हैं |और मकर राशि के स्वामी शनि महाराज हैं जो सूर्य भगवान के पुत्र होते हुए भी सूर्य भगवान से शत्रुता का भाव रखते थे | इसलिए शनिदेव के घर में सूर्य की उपस्थिति के दौरान शनि उन्हें कष्ट न दें इसलिए मकर संक्रांति के दिन तिल का दान करना शुभ माना गया है |

मकरसंक्रांति पर तिल का महत्व

मकरसंक्रांति पतंग उड़ाने का महत्व Importance of flying Kite on Makar Sankranti

मकरसंक्रांति पतंग उड़ाने का महत्व

मकरसंक्रांति पर्व पर पतंग उड़ाने का कोई धार्मिक उद्देश्य नहीं है कहा जाता है की जब सूर्य उत्तरायण होता है तब उसकी किरणों से हमारे शारीर के लिए औषधि के रूप में असर करती है | क्योकि पतंग उड़ाते समय सूर्य की किरणे सीधी हमारे शारीर से टकराती है | जिसके कारण सर्दी में होने वाले रोग नष्ट हो जाते है और हम स्वस्थ रहते है |

मकरसंक्रांति पर सूर्य की उपासना Sun worship on Makar Sankranti

मकरसंक्रांति पर सूर्य की उपासना

मकरसंक्रांति के दिन सूर्य की उपासना इसलिए की जाती है कि उस दिन एक राशी से दूसरी राशी में परिवर्तन होता है | इसी दिन से दिन बड़े होने लगते है व रात का समय कम होने लगता है |ज्योतिषियों के अनुसार इस दिन गंगा स्नान करना उत्तम माना गया है | जबकि बताया गया है की इसी दिन देवी -देवता अपना स्वरूप बदलकर त्रिवेणी संगम गंगा, यमुना और सरस्वती पर स्नान करने आते है | इसीलिए इस दिन स्नान करने से सभी कष्टों का नस्ट हो जाते है |

You Must Read

Dera Sacha Sauda DSS Gurmeet Ram Rahim Singh Rape Cash CBI S... News in going viral and getting trends in Indian s...
महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर के पाठ्यक्रम स्कूल... महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय, अजमेर जो 1 अग...
ICC Womens World Cup 2017 fixtures Teams squad list Live Sco... आईसीसी महिला विश्व कप जो 24 जून 2017 से शुरू होगा ...
Anjali Raghav Full Details of Wiki Biography Boyfriend Name ... Anjali Raghav Biography Wikipedia Contact नमस्कार ...
रक्षाबंधन मुहर्त 2017 ये हैं भाई के राखी बाँधने का उचित समय... रक्षाबंधन राखी मुहूर्त 2017 : हमारे शास्त्रों की प...
शिक्षक दिवस पर गीत कविता और भाषण प्रतियोगिता... शिक्षक दिवस 2017 : 5 सितम्बर को शिक्षक दिवश है...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *