Bal Divash Shayari Geet in Hindi

  • Bal Divash Shayari : 14 नवम्बर को बाल दिवस हैं | इस दिन आजाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहरलाल नेहरु का जन्म हुआ था | दूसरी और प्रधानमंत्री नेहरुजी को बच्चों से बहुत प्यार था बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरु कहते थे | इसलिए यह दिन प्रति वर्ष 14 नवम्बर को Bal Divash के रूप में मनाया जाता हैं |वे भारत के महान युग द्रष्टा जिन्होंने भारत के भविष्य की बागडोर अपने हाथ में ली,आज उनका नाम देश के बच्चे बच्चे की जुबान पर लिखा हैं -चाचा नेहरु, जिन्होंने नन्हे मुन्हे बच्चों को अपना असीमित प्यार दिया,जो बच्चों के गुलाम हो गये ,चाचा नेहरु ने बच्चों में देश का भविष्य देखा,क्योंकि बच्चें ही हमारे नव भारत का भविष्य बदल सकते हैं | इतना प्यार देने वाले चाचा नेहरु को उनके प्यारे बच्चे उनके जन्म दिन पर याद करते हैं और इस दिन को Bal Divash के रूप में मनाते हैं | बाल दिवश पर बच्चे अपने स्कूल में Bal Divash Shayari बोलते हैं,baal divash पर geet बोलते हैं और भाषण देते हैं | इस दिन को एक उत्सव के रूप में मनाया जाता हैं और बच्चों द्वारा अपने चाचा को याद किया जाता हैं उनकी यादो और उनके प्यार को तरोताजा करते हैं यही बालदिवश हैं |

बाल दिवश पर शायरी

बाल दिवश एक राष्ट्रीय उत्सव हैं | जो प्यारे छोटे बच्चों और चाचा नेहरु के प्यार को जिन्दा रखने के लिए प्रतिवर्ष स्कूलों में मनाया जाता हैं | स्कूल के बच्चों द्वारा नेहरु जी के जन्म दिवश पर उपर shayari ,Kavita और भाषण बोले जाते हैं और हास्यपद कविताएँ सुनाई जाती हैं |

चाचा नेहरु प्यारे थे भारत माता के राज दुलारे थे ‘
देश के पहले प्रधानमन्त्री थे स्वतन्त्रता के सैनानी थे ||

एक गुलाब ही सब पुष्पों में इनको लगता प्यारा
भारत माँ का लाल यह,सब से ही था न्यारा ||

अचकन में फुल लगाते थे हमेशा ही मुस्कराते थे
बच्चों से प्यार जताते थे,चाचा नेहरु प्यारे थे ||

चाचा का हैं जन्म दिवश सब बच्चें आयेंगे |
चाचा नेहरु के गुलाब से,हम सारी दुनिया महकायेंगे ||

बाल दिवश पर गीत | धुन हैं “मेरे देश की धरती सोना उगले-उगले हीरे मोती”

बच्चो हम आज बताते हैं
यह बाल दिवस क्या होता
यह बाल दिवस क्यों होता।

ये तो तुम सबने सुना ही होगा
दुनिया राम चलाते हैं
बैकुंठ छोड़कर बच्चे बन
भगवान धरा पर आते हैं
जिनको छल कपट नहीं आते
भगवान वहीँ पर रम जाते हैं
इसलिये तो बच्चे दुनिया में
भगवान का रूप कहाते हैं।

बच्चो हम आज बताते हैं
यह बाल दिवस क्या होता
यह बाल दिवस क्यों होता..

गर महल बनाना हो ऊँचा
तो नीवें ठोस अटूट रखो
भारत को पंख लगाना है
तो बच्चों को मजबूत करो
उनके सपनों को पलने दो
ये फूल चमन में खिलने दो
तब रितु बसंती आयेगी
भारत के भाग्य जगायेगी।

बच्चो हम आज बताते हैं
यह बाल दिवस क्या होता
यह बाल दिवस क्यों होता..

प्यारे बच्चों तुम ख़ूब पढ़ो
खेलो कूदो इक नाम करो
इस वतन को श्रेष्ठ बनाना है
निर्मित होकर निर्माण करो
निष्ठा हो भारत माता से
भारत से भाग्य विधाता से
इस देश को स्वर्ग बनाना है
सच्चाई से तुम काम करो

बच्चो हम आज बताते हैं
यह बाल दिवस क्या होता
यह बाल दिवस क्यों होता..

थी बड़ी सोच मौलिक सपने
बच्चों के प्यारे चाचा के
जिनको नेहरू जी कहते हैं
भारत के वीर जवाहर के
नेहरू चाचा का जन्मदिवस
इसलिये तो देश मनाता है
यह तिथि नवंबर चौदह का
दिन बाल दिवस कहलाता है।

बच्चो हम आज बताते हैं
यह बाल दिवस क्या होता
यह बाल दिवस क्यों होता..

You Must Read

Holi Best Shayari Status Whatsapps Facebook Holi Wishes Mess... Holi Best Shayari, Wishes Message SMS Status for W...
भारत का 71वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा इस बार 15 अगस्त 2... आजादी के 70 साल भारत की आजादी के साथ ही भारत का न...
मंगला गौरी व्रत पूजन विधि कहानी और महत्व... श्रावण के महीने में मंगला गौरी का व्रत सौभाग्यवती ...
Telugu Titans vs Tamil Thalaivas Pro Kabaddi live match 28 J... The first Match of the 5th season of the pro kabad...
राधाष्टमी महोत्सव 2017 बरसाना की राधाष्टमी की पूजा विधि व्रत... राधाष्टमी पर्व 2017 : राधाष्टमी का त्योंहार भाद्रप...
2 जुलाई विश्व खेल पत्रकारिता दिवस 2017... International Sports Press Association इंटरनेशनल स...
World Environment Day 2018 Theme Slogan Poster – 5 जून... World Environment Day is celebrated every year on ...
UP Board 10th 12th Class Copy Rechecking Online Form Subject... UP Board 10th 12th Class Copy Rechecking 2018 : UP...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *