बाबा गुरमीत राम रहीम की बायोग्राफी, बाबा के जन्म से लेकर जैल तक के सफर की रहस्यात्मक कहानी

ram rahim ki jivni

1. बाबा गुरमीत राम रहीम की बायोग्राफी

बाबा गुरमीत राम रहीम का जीवन : बाबा राम रहीम का जन्म राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के गुरुसर मोदिया के जाट सिख परिवार में 1967 को हुआ था। गुरमीत राम रहीम की मां का नाम नसीब कौर इंसान है। जब वह सात साल के थे तत्कालीन डेरा प्रमुख शाह सतनाम सिंह जी ने उनको यह नाम दिया। 1990 में बाबा राम रहीम ने डेरा सच्चा सौदा की गद्दी संभाली थी और डेरा प्रमुख बनने के बाद गुरमीत सिंह का नाम संत गुरमीत राम रहीम सिंह इंसां हो गया।

2. डेरा सच्चा सौदा की स्थापना

dera sachha souda sirsa

डेरा सच्चा सौदा की स्थापना 29 अप्रैल 1948 में हुई थी | शाह मस्ताना जी महाराज ने डेरा सौदा की स्थापना की थी | डेरा को बनाने के लिए मस्ताना जी ने हरयाणा के सरसा जिले मैं जगह चुनी | 12 साल तक उन्होंने हजारों-लाखों भक्तों को ध्यान करना सिखाया | मस्ताना जी ने सतनाम सिंह को गद्दी पर बिठाया | सतनाम महाराज ने 90 के दशक की शुरुआत में ही सिरसा के डेरा आश्रम में देश और विदेश के लाखों अनुयायियों को बुलाया. जिनकी मौजूदगी में 23 सितंबर 1990 को एक समारोह में गुरमीत राम रहीम को डेरा सच्चा सौदा की गद्दी सौंप दी गई | 1990 से लेकर जैल मैं जाने तक बाबा राम रहीम ने डेरा सच्चा सौदा पर राज किया | 27 साल तक बाबा ने राज किया और अपनी पहचान का देश मैं ही नहीं विदेशों मैं भी परचम लहराया | दुनिया मैं बाबा गुरमीत राम रहीम के पांच करोड़ के लगभग अनुयाई हैं |

३. डेरा सच्चा सौदा के बाबा गुरमीत राम रहीम का साम्राज्य

dera sachha souda photo

देश और विदेश में कुल मिलाकर राम रहीम के ढाई सौ आश्रम चलते हैं लेकिन सबसे बड़ा आश्रम हरियाणा के सिरसा में है।यहाँ से बैठ कर ही चलाता बाबा अपना साम्राज्य | 800 एकड़ जमीन में फैले इस आश्रम में बैठकर राम रहीम अपना साम्राज्य चलाता रहा है। सिरसा के इस आश्रम में ही बाबा की एक रस्यमयी गुफा है। वो गुफा जिसमें बाबा की अय्याशी का अड्डा चलता था, जिसकी वजह से बाबा राम रहीम सलाखों के पीछे पहुंच गया है। 800 एकड़ में बसा ये आश्रम अपने आप में एक अलग दुनिया है। एक ऐसी दुनिया, जहां पत्ता भी हिलता है तो राम रहीम के इशारे पर। सिरसा के इस आश्रम में , बिल्डिंग्स, बाज़ार, कॉम्पलेक्स, फैक्ट्री, पेट्रोल पंप ,हॉस्पिटल ,कॉलेज ,स्कूल ,स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, पञ्च सितारा होटल ,स्टेडियम, बाग-बगीचे, खेत और तालाब मतलब आप एक शहर में जो-जो देख सकते हैं, वो सबकुछ आपको यहां भी मिल जाएगा। यहीं नहीं आश्रम में एक हेलीपैड भी है, जिसपर बाबा हेलीकॉप्टर से लैंड और टेकऑफ करता है। इस आश्रम में फ्लैट्स बने हैं जिसमें सैंकड़ों बाबा के अनुयायी रहते हैं।
कई सौ स्क्वायर मीटर में फैला सतसंग का हॉल है जहां एक साथ लाखों लोग बैठ सकते हैं। इसके अलावा यहां 13 भव्य भवन हैं जो अलग-अलग डिजाइन के हैं। कहते हैं इन भवन और बिल्डिंग के डिजाइन खुद बाबा राम रहीम ने तैयार किए हैं। इस आश्रम में राम रहीम अय्याशी की ज़िंदगी गुजारता था।इसी आश्रम के बीचों-बीच कांच और दीवारों से बना एक भवन है, जिसे राम रहीम की गुफा कहा जाता है। गुफा में जाने के लिए तीन दरवाजे हैं जहां तक बाबा की गाड़ी सीधे जाती है। इस गुफा में बिना इजाजत कोई नहीं घुस सकता। कहा जाता है इसी गुफा में बाबा अय्याशी करता था। साध्वी ने इसी गुफा में उसके साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया था।

4. बाबा राम रहीम का शासन :

ram rahim ka raj

बाबा राम रहीम अपनने माँ बाप की इकलोती सन्तान था | इकलोती सन्तान होने के कारण बड़े ही लाड चाव से पाल पोशकर बड़ा किया गया | बाबा राम रहीम सात साल की उम्र तक अपने माता पिता के पास रहने के बाद डेरा सच्चा सौदा सिरसा के बाबा शाह सतनाम सिंह की शरण मैं आ गये | 23 सितंबर 1990 को शाह सतनाम सिंह ने गुरमीत सिंह को अपना उतराधिकारी बना दिया और डेरे की सम्पूर्ण जायदाद गुरमीत सिंह के नाम कर दी ,और गुरमीत सिंह से गुरमीत सिंह राम रहीम नाम रख दिया | तब से लेकर जैल मैं जाने तक बाबा ने अपने नाम का विश्व कीर्तिमान हिसिल किया हैं | बाबा राम रहीम ने भारत देश मैं ही नहीं बल्कि विदेशो मैं भी अपने नाम के नारे “धन धन सतगुरु तेरा ही आसरा ” की मिशल कायम की |आज बाबा राम रहीम के पांच करोड़ से ज्यादा अनुयाई हैं | बाबा राम रहीम के 40,000 के लगभग सेवादार और साध्वी हैं | जो दिन रात बाबा की सेवा करके अपना गुजर भसर करते हैं | बाबा का इतना कठोर शासन की बाबा की अनुमति बिना पता तक नहीं हिलता हैं | डेरा मैं जो भी कोई भी काम होता हैं वो बाबा की मर्जी से ही होतास था | बाबा राम रहीम की इतनी तगड़ी धाक की एक मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री ,केन्द्रीय मंत्री और बड़े बड़े आई एस अधिकारी उनंके पांवो की धूल चाटते थे | बाबा राम रहीम धर्म की आड़ मैं एक शोकिन,अय्यासी और ढोंगी और पाखंडी बाबा था | जिसकी अपने डेरे मैं फुल दादागिरी चलती थी | अपने समर्थको की बदोलत वह बड़े बड़े कांड और राजनितिक उलटफेर कर देता था |

5. बाबा राम रहीम के स्पोर्ट्स कीर्तिमान

sportsman baba ram rahim

बाबा गुरमीत राम रहीम 25 खेलों मैं मेडल हाशिल कर चूका था | शोकिन,अय्यासी और पाखंडी बाबा होते हुए भी राम रहीम खेलों का भुत अधिक शोकिन था | वह ,फुटबॉल ,क्रिकट ,बास्केट बोल ,पोलो ,शतरंज ,होंकी और अन्य कई खेलो मैं मैडल व् crtificate हाशिल कर चूका था | इस प्रकार बाबा राम रहीम की एक अजीब ही दास्ताँ हैं |

6 . राम रहीम कैसे बना गुरु से बलात्कारी बाबा

blatkari baba ram rahim

अपने आप को भागवान बताने वाला बाबा गुरमीत राम रहीम एक इंसान नहीं ,बल्कि एक संत के नाम पर धब्बा हैं | भोले भाले लोगों को अपनी बातों मैं उलझा कर ,अपने आप को भगवान बताकर अपने सेवादारो और साध्वियो का यौन शोषण करता रहा | बाबा राम रहीम ने दरिंदगी की सभी हदे पार कर दी | किसी ने भी नहीं सोचा था की बाबा इसे होंगे | लेकिन बाबा ने अपने बाहरी दिखावे की आड़ मैं लड़कियों का रैप पर रैप करता रहा और जिसको भी पता चला उसको मरने की धमकी दी और उसका मर्डर कर दिया | इस प्रकार बाबा खुद को इश्वर समझ कर गुनाहों पर गुनाह करते गया और 25 अगस्त 2017 को बाबा के काले कारनामो का चिटठा पंचकुला सीबीआई कोर्ट ने पुरे देश के सामने उजागर कर दिया और बाबा को बलात्कारी बाबा दोषी करार देते हुए पंचकुला सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह द्वारा 28 अगस्त 2017 को बीस साल की सजा और ३० लाख जुर्माने की घोषणा करते हुए बाबा राम रहीम को जैल की सलाखों मैं पहुंचा दिया |

7. बाबा राम रहीम के अनगिनत घिनोने कारनामे

बाबा गुरमीत राम रहीम के बारे मैं ऐसे सैकड़ो कारनामे जिनके सच को जानकर आपके पैरों के निचे से जमीन खिसक जाएगी | बाबा के ऐसे कुकर्म जिनके बारे में आप कभी सोच भी नहीं सकते,आज हम खोलने जा रहे हैं गुरमीत राम रहीम के कुक्रत्यों का रहस्य –

बाबा गुरमीत राम रहीम का साध्वी यौन शोषण मामला :

2002 में डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख बाबा राम रहीम पर एक साध्‍वी ने यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगाया था। जज जगदीप सिंह को इसी 15 साल पुराने चर्चित केस पर अपना फैसला सुनाना है।यौन शोषण का शिकार हुई एक साध्वी ने गुमनाम पत्र लिखकर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से शिकायत की थी। पत्र पर संज्ञान लेते हुए सितम्बर 2002 को मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। सीबीआई ने जांच में उक्त तथ्यों को सही पाया और डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह के खिलाफ विशेष अदालत के समक्ष 31 जुलाई 2007 में आरोप पत्र दाखिल कर दिया। डेरा प्रमुख को उक्त मामले में अदालत से जमानत तो मिल गई परंतु पिछले लम्बे समय से मामला पंचकुला की सीबीआई अदालत में चल रहा है। जिसका फैसला 28 अगस्त को हुआ और बाबा को दोषी ठहराया गया |

I. डेरा समर्थक रंजीत सिंह हत्याकांड :
II. गुरमीत राम रहीम द्वारा पत्रकार रामचन्द्र छत्रपति की हत्या
III. राम रहीम साध्वी रैप हत्या कांड :
IV. राम रहीम पर 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का मामला
V. गुरुगोविंद सिंह की पोशाक में फ़ोटो
VI. नामचर्चा में हिंसा
VII. फ़कीरचंद की हत्या का मामला

8. ये हैं 5 हीरो जिनकी वजह से बाबा राम रहीम को जैल जाना पड़ा

ram rahim ke cash ki gvahptrkaar raam chanderraam rahim ko jail bhejne wale justic jugdeep singhsatish dagar ips

A. दो साध्वियां

बाबा राम रहीम पर बलात्कार का जो आरोप साबित हुआ है, उसकी शुरुआत 2002 से हुई। 2002 में ही यह बात सामने आई थी कि बाबा गुरमीत राम रहीम ने दो साध्वियों के साथ बलात्कार किया था। एक साध्वी ने जुलाई 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को एक पत्र लिखकर बताया था कि बाबा राम रहीम ने उसके साथ बलात्कार किया है। जिन दो साध्वियों ने बाबा राम रहीम पर बलात्कार का आरोप लगाय था, वह इस मामले में सबसे अहम किरदार हैं। इन दोनों साध्वियों ने करीब 15 साल तक लड़ाई लड़ी और आखिरकार अब सीबीआई कोर्ट ने बाबा राम रहीम को दोषी करार दिया है।

B. पत्रकार राम चंदेर

इस मामले को लोगों के सामने उजागर करने वाले पत्रकार राम चंदेर न होते तो शायद यह मामला मीडिया में ही नहीं आ पाता। पत्रकार राम चंदेर ने ही अपने अखबार के जरिए दो साध्वियों से रेप होने की घटना को उजागर किया था। राम चंदेर के ही अखबार में साध्वी की उस चिट्ठी को छापा गया था। आपको बता दें कि अब इनकी हत्या कर दी गई है और चंदेर की हत्या का आरोप भी बाबा गुरमीत राम रहीम पर है। रामचंदर छत्रपति की 24 अक्टूबर 2002 में उनके घर पर प्वाइंट ब्लैंक पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यह हत्या राम रहीम के खिलाफ साध्वी के साथ रेप की खबर अखबार में छपने के कुछ महीने बाद ही की गई थी।

C. सीबीआई अधिकारी सतीश डागर

सीबीआई अधिकारी सतीश डागर : जब यह मामला सीबीआई के पास पहुंचा तो सीबीआई अधिकारी सतीश डागर ने बाबा राम रहीम को सलाखों के पीछे पहुंचाने का बीड़ा उठाया। राम चंदेर के बेटे अंशुल ने अपने पिता की हत्या के बाद इंसाफ के लिए 15 साल तक लड़ाई लड़ी, जिस दौरान उन्हें सीबीआई अधिकारी सतीश डागर मिले। अंशुल ने बताया कि अगर सीबीआई के डीएसपी सतीश डागर नहीं होते तो शायद कभी भी इंसाफ नहीं मिल पाता। वह सतीश डागर ही थे, जिन्होंने साध्वियों को समझाया और अपनी लड़ाई लड़ने के लिए उन्हें प्रेरित किया।

D. जस्टिस जगदीप सिंह

जस्टिस जगदीप सिंह इस केस में फैसला सुनाने वाले सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह ने भी अहम भूमिका निभाई है। इन्होंने ही बाबा राम रहीम को दोषी करार देते हुए फैसला सुनाया। 28 जुलाई को जगदीप सिंह ने राम रहीम को 10 साल की सजा सुनाई है। जगदीप सिंह को पिछले साल ही सीबीआई स्पेशल जज के लिए चुना गया था, जो कि एक न्यायिक ऑफिसर के रूप में दूसरी पोस्ट है। जगदीप सिंह न्यायिक सेवा में शामिल होने से पहले पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के वकील थे। हरियाणा के रहने वाले सिंह ने 2000 और 2012 के बीच कई नागरिक और आपराधिक मामले उठाए थे।

9. बाबा राम रहीम के कुक्रत्यो की सजा – 20 साल की सजा और ३० लाख का जुर्मान

raam rahim ko jail

गुरमीत राम रहीम को रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा, 30 लाख का जुर्माना | डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप को दो मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत ने 10-10 साल की सजा सुनाई है. इसके अलावा कोर्ट ने 30 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है. इसमें से दोनों पीड़िताओं को 14-14 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा और दो लाख रुपये में कोर्ट में जमा होंगे. सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि डेरा प्रमुख के खिलाफ दायर रेप के दोनों मामलों में सुनाई गई जेल की दोनों सजाएं एक के बाद एक लगातार कुल 20 साल तक चलेंगी.

10. बाबा राम रहीम की गुफा का राज

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गुफा तक के रास्ते में हर जगह सादे कपड़ों में या फिर बकायदा कमांडो शैली में बंदूक लिए लोग तैनात हैं. राम रहीम की गुफा में शानदार सोफा और चमकदार पर्दों वाला हॉल है.यहां 209 शिष्यायें खास तौर पर चुनी जाती हैं. इन शिष्याओं में से कुछ को ही इस गुफा में आने का अधिकार है. गुफा में जाने के लिए बाकायदा पहचान और बायोमीट्रिक सिस्टम है, तभी दरवाजे खुलते हैं. ये शिष्यायें किसी साध्वी की तरह खास गेरुआ या सफेद रंग के कपड़े पहनती हैं और अक्सर बाल खुले रखती हैं. इसके अलावा ये शिष्याएं गुरमीत को खाना खिलाने, मुलाकात करवाने, सुबह शाम स्टेज तक लाने का काम करती हैं. राम रहीम के प्रवचन में भी बाईं तरफ इनके लिए एक खास जगह बनी होती है. प्रवचन वाले हॉल मे यही सब कुछ संभालती हैं और बाहरी हिस्से में दूसरे पुरुष कारसेवक काम करते हैं

गुफा में गुरमीत के लिए अलग से तैयार होने की जगह और खास लोगों से मिलने का कमरा भी है. यहीं से गुरमीत के पास कई देशों में सीधे बात करने के लिए हॉटलाइन भी है. इस पूरी गुफा में ऐशो-आराम की हर चीज मौजूद है. झाड़फानूस से लेकर शानदार बाथरुम तक. इसके अलावा जिस गोल स्टेज में गुरमीत प्रवचन देता है. उसके नीचे पहिए लगे होते हैं और ऊपर एक हैंडल, जिससे मंच आगे और पीछे जाता है. बाबा भी उसी पर बैठकर सीधे एक चक्कर लगाते और वापस आ जाते. कपड़े भी खास डिजाइनर से चंडीगढ़ से बनकर आते हैं. चमकदार और शिफॉन से बने. राम रहीम के गुफा में एक एनआरआई गेस्ट हाउस भी है. जहां पर शानदार सुईटस ही नहीं, स्विमिंग पूल और रिवॉल्विंग रेस्टोरेंट भी था. बिल्कुल मुंबई के एंबेसेडर होटल की तरह. इसके अलावा आश्रम में खुद के दो पेट्रोल पंप हैं. आश्रम की गाड़ियों को पर्ची पर सीधे पेट्रोल मिलता है. आश्रम में सब कुछ उगता है. दाल-चावल से लेकर आलू-टमाटर तक. आश्रम में ही कई लोग शर्ट-पैंट और बाकी कपड़े सिलते हैं तो एक जगह पर मसाले भी बनते हैं यानि सब कुछ आश्रम में ही मिल जाता है बाहर जाने की जरुरत ही नहीं. आश्रम में अंदर घूमने के लिए बैटरी वाली कार भी हैं |
इतना ही नहीं आश्रम में एक विशाल वॉशिंग मशीन मौजूद है. किसी बड़े कुएं की तरह जिसमें एक बार में 10 से 15 हजार तक कपड़े धुल सकते हैं. इसे खास तौर पर बनवाया गया है. आश्रम में सीसीटीवी तो था ही इसके अलावा एक कंट्रोल रूम भी है जहां देश के तब के सारे चैनलों की मॉनिटरिंग और गुरमीत से संबंधित खबरों को रिकॉर्ड करने का सिस्टम भी था

11. बाबा राम रहीम कैसे बना एक संत से रॉक स्टार ?

राम रहीम का पहला म्यूजिक ऐल्बम : साध्वी के यौन शोषण के आरोप में घिरे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह ने अपनी छवि एक धार्मिक रॉक स्टार के तौर पर भी गढ़ी है। इस छवि के पीछे उनकी फिल्मों और म्यूजिक ऐल्बम का बड़ा रोल रहा है। राम रहीम का पहला म्यूजिक ऐल्बम ‘हाइवे लव चार्जर’ नाम से 2014 में आया था। इससे एक साल से भी कम समय में राम रहीम की पहली फिल्म एमएसजी: द मैसेंजर ऑफ गॉड रिलीस हुई, जिसके साथ ही डेरा प्रमुख रॉक स्टार बाबा के अवतार बन गए।

12. बाबा राम रहीम की रंगीली दुनिया

बाबा राम रहीम के शौक के बारे में भी सुन लीजिए-महंगी बाइक और इंपोर्टेड कार राम रहीम के लिए मानो जिद की हद तक के शौक हैं। उसकी ऐशगाह में महंगी कार और बाइक्स का एक लंबा चौड़ा काफिला है। रेप के दोषी इस बाबा के गैराज में मर्सडीज, बीएमडब्ल्यू, ऑडी, लेक्सस और टोयोटा जैसी महंगी कारें आपको खड़ी मिलेंगी। खुद का हेलिकोप्टर ,रात रंगीन करने के लिए सैकड़ो मॉडल लडकियाँ और खाने के लिए लाजबाब पकवान, और पहनने के लिए खुद के डिजाईन किये हुए राजा महाराजाओं जैसी पोशाके ,जिनको देखकर हर कोई दंग रह जाता हैं  |

13. हनीप्रित कौर कोन हैं ? उसका बलात्कारी बाबा से क्या तालुकात हैं जाने –

haniprit kour

कोर्ट की कार्रवाई से लेकर उनके जेल जाने तक एक महिला हमेशा उनके साथ दिखी। ये महिला कोई और नहीं बल्कि राम रहीम की बेटी हनीप्रीत इंसा है, जो उनके बेहद करीब है। हनीप्रीत को उन्होंने गोद लिया है और अक्सर उनके साथ नजर आती हैं। माना जा रहा है कि सजा के ऐलान के बाद बाबा के डेरा सच्चा सौदा की कार्य की जिम्मेदारी भी इन्हें ही सौंपी जाएगी।हनीप्रीत कौर के बाबा से गलत सम्बन्ध बताये जा रहे हैं |

14. डेरा सच्चा सौदा सिरसा का अगला उतराधिकारी कौन होगा जाने |

रेप केस में गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने और 20 साल की सजा होने के बाद अब सभी के मन में ये सवाल उठ रहे हैं कि आखिर डेरा सच्चा सौदा का अगला प्रमुख कौन होगा? अरबों संपत्ति वाले डेरा सच्चा सौदा को अब कौन संभालेगा, इस पर चर्चा का दौर जारी है।

अगले डेरा प्रमुख को लेकर चर्चा तेज : अगले डेरा प्रमुख को लेकर जिन लोगों के नाम आगे चल रहा है उसमें बाबा की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत कौर, बेटे जसमीत से लेकर आश्रम की साध्‍वी विपश्वना तक के नाम शामिल हैं। हालांकि अगले डेरा प्रमुख का चुनाव कैसे होगा, फिलहाल अगले डेरा प्रमुख के लिए जो नाम सबसे आगे हैं उनमें राम रहीम के बेटे जसमीत सिंह इंसा का नाम चर्चा में है। 2007 में राम रहीम ने उन्हें अपना उत्‍तराधिकारी नियुक्ति किया था। हालांकि डेरा ट्रस्ट की डीड के निमय पर गौर करें तो डेरा का अगला वारिस डेरा प्रमुख का बेटा रिश्तेदार नहीं हो सकता है।

 

You Must Read

दीपावली के शुभकामनाएं संदेश मैसेज वॉलपेपर हिंदी मराठी और पंज... दिवाली का ये पावन त्‍यौहार, जीवन में लाए खुशियां अ...
विश्व उफौ दिवस 2 July world unidentified flying objects... international alien abduction day 2 जुलाई को मनाते...
रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में आज ली शपथ... रामनाथ कोविंद भारत के वर्तमान राष्ट्रपति : रामनाथ ...
छोटी दिवाली 2017 नरक चतुर्दशी की पूजा विधि और राजा बलि की कथ... छोटी दिवाली 2017 : धनतेरस के अगले दिन और बड़ी दिवाल...
Rajasthan police GK Online Test series Raj Police Exam Gener... Rajasthan Police Constable Examination 2018 GK Onl...
Rajasthan Jail Prahari Result 2017 Date Expected Cutt off Ma... Rajasthan Jail Prahari Result 2017, Raj Jail Warde...
देवशयनी एकादशी व्रत कथा पूजा विधि और महत्व... देवशयनी ग्यारस : देवशयनी एकादशी कल मंगलवार 04 जून ...
रक्षाबंधन पर भाइयों के राखी बांधने की सबसे शुभ घड़ी... रक्षाबंधन 2017 : भाई-बहन के असीम स्नेह का पर्व रक्...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *