Teej 2017 Sindhara Teej Vart Date Hariyali Teej Festival Shayari SMS Wishes

तीज 2017 सावणी तीज व्रत

Teej 2017 Sindhara Teej Vart Date Hariyali Teej Festival Shayari SMS Wishes तीज स्थानीय भाषा बरसात के मौसम में पैदा होने वाले लाल कीड़े को कहा जाता हैं , हिंदू त्यौहारों का आगमन तीज के त्यौहार के आने से ही होता हैं कहावत के अनुसार कहा जाता हैं की ” तीज त्यौहारा बावड़ी ले डूबी गणगोर ” तो जैसे ही सावन का महिना आता चारों और हरियाली छा जाती हैं इसी कारण इसे हरियाली तीज कहा जाता हैं

तीज त्यौहार दो प्रकार का होता हैं

1. आखातीज :- जो बैशाख शुक्ल तृतीया को मनाया जाता हैं इसे हिंदुओं के लिए एक शुभ दिन माना जाता है। भारत में इस दिन ज्यादातर बाल विवाह सम्पन्न करवाए जाते हैं

2. हरियाली तीज :- हरियाली तीज पुरे भारत में सावन माह शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता हैं | विशेष महत्व राजस्थान प्रदेश में हैं |
3. कजरी तीज : – कजरी तीज भाद्रपद कृष्ण पक्ष की तृतीया को हरियाली तीज के 15 दिन बाद में राजस्थान राज्य के पूर्व क्षेत्र में मनाया जाता हैं

4 हरितिका तीज : हरितिका तीज हिंदी माह के अनुसार भाद्रपद शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता हैं

तीज 2017 कब हैं :- Teej Date Time Teej Kab H

Teej Date Time Teej Kab H इस वर्ष तीज का त्यौहार 25 जुलाई 2017 श्रावण मास या सावन माह शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाएगा | यह हिदू धर्म का पर्व हैं , तीज पर्व के एक दिन पहले ही महिलाए व बालिकाए हाथो में मेहँदी लगाती हैं और तीज त्यौहार के दिन महिलाए अपने सौभाग्य के लिए व कुवांरी लडकियाँ अच्छे पति के लिए भगवान शिव व माता पार्वती का व्रत रखती हैं व्रत के लिए प्रात: काल में गृहणी कार्य से निवर्त होकर स्नान करके शिव मन्दिर में कथा सुनने के लिए जाती हैं और शाम को चन्द्रमा को अर्ध्य देकर भोजन करती हैं |

तीज त्यौहार कैसे मनाया जाता हैं :- Teej Poojan Vidhi Hariyali Teej Kaise Manaye

Teej Poojan Vidhi Hariyali Teej Kaise Manaye भारत देश में तीज त्यौहार से 15 दिन पूर्व से पेड़ो की डालियों पर झूले डाले जाते हैं और लोग आनंद से झुला झूलते हैं और तीज से एक दिन पूर्व सिंजारा स्थानीय भाषा में सिंधारा मनाया जाता हैं और इस दिन महिलाए हाथों पर मेहँदी लगाती हैं | तीज त्यौहार के दिन सभी नये वस्त्र पहनते अपने घरों पर मिठाई बनाते हैं और बाजरों से भी मिठाई लायी जाती हैं उसके बाद में सभी समूह के साथ में झुला झूलते हैं | राजस्थान प्रदेश में नव विवाहिता जब झुला झूलती हैं तो उससे उसके पति का नाम पूछा जाता हैं

तीज त्यौहार का महत्व :-

हिन्दू संस्कृति में तीज त्यौहार का बड़ा ही महत्व हैं और हिन्दू धर्म में हर त्यौहार व पर्व का बहुत ही महत्व होता हैं | इस दिन नव विवाहिता और कुवारी लडकियाँ व्रत करती हैं| तीज पर्व धार्मिक व संस्कृतिक के साथ मानसून का पर्व भी कहा जाता हैं क्योकिं इस समय मानसून पूर्ण रूप से सक्रिय रहता हैं जिससे चारो और धरती माता हरियाली की चादर ओढ़ लेती हैं | मौसम मन को मोहने वाला होता हैं | और जीवन को आनंद की अनुभूति होती हैं व सकुन मिलता हैं

सिंजारा /सिंधारा

सिंजारा / सिंधारा तीज त्यौहार के एक दिन पूर्व सावन शुक्ल द्वितीया को होता हैं इस दिन भारत देश में नव विवाहिता के लिए ससुराल पक्ष वालों के द्वारा नये वस्त्र आभूषण मिठाई आदि उसके पीहर ले जाया जाता हैं साथ में कोई भी एक बड़ा बर्तन जो उसकी शादी के समय तय किया जाता हैं वह भी ले जाते हैं | जिसके बदले में लडकी के पीहर वाले उनको भेंट के रूप वस्त्र और रुपए (जुहांरी ) देते हैं |

You Must Read

Priya Prakash Varrier Biography Age Education Height Eyes Li... Priya Prakash Varrier BioGraphy a Malayalam Actres...
Rajasthan BSTC Online Application Form 2018 Date Notificatio... Rajasthan BSTC Online Application Form 2018 Notifi...
Raj Board RBSE 12th Arts Result 2017 BSER 12th Topper Merit ... Rajasthan Board 12th Arts Result 2017 : Rajasthan ...
Shekhawati University Time Table 2018 PDUSU B.A/B.Sc/B.Com E... Pandit Deendayal Upadhyaya Shekhawati University S...
स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2017 पर देश भक्ति कविताएँ व देश भक्... स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2017 स्वतंत्रता दिवस के द...
15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस का महत्व विशेष कार्यक्रम और निबंध... 15 अगस्त 1947 का दिन भारतीय इतिहास का महत्वपू्र्णं...
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस BJP prepare for International Yoga D... योग दिवस 21 जून को मनाया जायेगा इस की तयारी पुरे ज...
धनतेरस पूजा 2017 धनतेरस के टोटके के बारे में रोचक जानकारी... धनतेरस की पूजा 2017 : हिन्दू धर्म की पौराणिक कथाओं...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *