गणतंत्र दिवस पर निबंध Gantantr Diwas Nibandh in Hindi

गणतन्त्र दिवस Republic Day : भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था। एक स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान Constitution को 26 नवम्बर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था। 26 जनवरी को इसलिए चुना गया था क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आई० एन० सी०) ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था। यह भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है, अन्य दो स्‍वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती हैं। संविधान दिवस 2018 भारत का 69वां गणतंत्र दिवस जो हम पुरे भारत में एक साथ 26 जनवरी को मानाने जा रहे है | हम आपको बता दे की 26 जनवरी 1950 के दिन ही भारत सरकार अधिनियम 1935 के स्थान पर हमारा संविधान लागू किया गया था | 26 जनवरी भारत में मनाया जाने वाला एक राष्ट्रीय पर्व National festival है |इस दिन 26 जनवरी 1950 के बाद भारत को एक गणतांत्रिक देश Democratic country घोषित किया गया था |

26 january

Gantantr Diwas Nibandh in Hindi

26 जनवरी गणतंत्र दिवस Gantantr Diwas 2018 : गणतंत्र दिवस पर आप सभी को Rkalert.in परिवार की तरफ से हार्दिक बधाईयाँ | दोस्तों हम आपके लिए लेकर आ रहे है | भारत के संविधान दिवस के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जो आप नहीं जानते है | हम आपको बता दे की 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजो की गुलामी से आज़ादी मिली थी | इतना ही नहीं आज़ादी के बाद भी हम संघर्ष करते रहे क्योकि हमरे पास अपना संविधान नहीं था | 4 नवंबर 1947 को डॉ.बी.आर.अंबेडकर की अध्यक्षता में भारतीय संविधान के प्रारुप को सदन में रखा गया । उसके बाद सविंधान समिति ने लगभग 2 साल 11 महीने और 18 दिनों के बाद 26 जनवरी 1950 को हमारी संसद द्वारा भारतीय संविधान को पास किया गया | और खुद को संप्रभु, लोकतांत्रिक, गणराज्य घोषित करने के साथ ही भारत के लोगों द्वारा 26 जनवरी को पूर्णं स्वराज (गणतंत्र दिवस )के रुप में मनाया जाने लगा |

भारत में गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है | इस दिन को लोग अपने-अपने तरीको से मानते है | खास तोर से स्कूल में भाषण के द्वारा गणतंत्र दिवस मानाने का चलन है | सम्पूर्ण भारत में इस दिन सभी राज्यों की राजधानीयों और राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में इस उत्सव पर खास प्रबंध किया जाता है| इस दिन कार्यक्रम की शुरुवात राष्ट्रपति दवारा झंडा रोहण के बाद राष्ट्रगान के साथ होती है | इसके बाद नई दिल्ली के राजपथ पर तीनों सेनाओं द्वारा परेड का आयोजन व प्रतेक राज्यों की झाकियोँ की प्रदर्शनी, पुरस्कार वितरण, आदि क्रियाएँ होती है। और अंत में पूरा वातावरण “जन गण मन गण” से गूँज उठता है |

Gantantr Diwas Essay in Hindi

दोस्तों आप सभी को पता है की हमारा भारत देश जो ब्रिटिश सरकार की हुकूमत से 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ था | परन्तु भारत को अपना सविंधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था उस दिन से हमारा भारत देश पूर्ण रूप से आजदी मनाने लगा था |इस ख़ुशी से आतप्रोत हम आजदी की वर्ष गांठ प्रति वर्ष बड़े ही हर्षउलाश से 26 जनवरी को मानते है |

हिन्दुस्तान अपनी 69वी वर्ष गांठ वर्ष 2018 में मनाने जा रहा है हमारे भारत के महान स्वतंत्रता सेनानीयों के कड़ी मेहनत और संघर्ष के बाद भारत एक पूर्ण स्वराज देश बना था | भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी और नेता महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री,सुभाष चन्द्र बोस जिन्होंने कई वर्षो तक ब्रिटिश सरकार का सामना किया और आजदी के लिए अपनी जान तक गवा दी उसी लड़ाई के बदोलत आज भारत पूर्ण स्वराज मिला है | हम उन्हें हमेशा एक महान उत्सव और समारोह के द्वारा याद करते है और उनसे प्रेरणा लेते है की जो कोई भी भारत की तरफ बुरी नजर से देखेगा हम उसे चैन से नहीं जीने देंगे |स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कहा था | हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को को हमने एक ही संविधान और संघ में पाया है | हमारे देश में रहने वाले पुरुषों और महिलाओं के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.