श्री गणेश चतुर्थी पूजा विधि महत्व और गणेश उत्सव पर शुभकामनाएं बधाई संदेश

व्रकतुंड महाकाय, सूर्यकोटी समप्रभाः |
निर्वघ्नं कुरु मे देव, सर्वकार्येरुषु सवर्दागणेश चतुर्थी 2017 : गणेश चतुर्थी का त्योंहार भगवान् श्री गणेशजी के जन्म दिवश पर मनाया जाता हैं | भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चौथ को गणेश चतुर्थी का उत्सव मनाया जाता हैं | गणेश चतुर्थी 25 अगस्त 2017 को हैं | गणेश चतुर्थी का उत्सव दस दिनों तक चलता हैं और आखिर मैं अनंत चौदश को खत्म होता हैं | यह त्योंहार भारत के लगभग सभी हिस्सों मैं मनाया जाता हैं ,लेकिन महाराष्ट्र मैं यह उत्सव कुछ खाश और चाव के साथ मनाया जाता हैं | दस दिनों तक चलने वाले उत्सव की शुरुआत 25 तारीख शुक्रवार से होगी और अनंत चौदस को समाप्त होगा ,इस दिन गणेशजी प्रतिमा का विसर्जन कर दिया जायेगा |

श्री गणेश चतुर्थी पूजा विधि :

ganesh utsav pooja

श्री गणेश पूजा के लिए दोपहर का सही समय माना गया हैं | भगवान गणेश की गणेश चतुर्थी के दिन सोलह वैदिक मन्त्रों के जापों के साथ पूजा की जाती है। गणेश-चतुर्थी की पूजा को विनायक-चतुर्थी पूजा के नाम से भी जाना जाता है | इस दिन पवित्रभाव से इनकी पूजा करने से गणपति सभी दुखों को हर लेते है | इसलिए इन्हें सिद्धिविनायक दुखहर्ता भी कहते है |


गणेश चतुर्थी पर विनायक गणपति की पूजा विधि :

  1. गणेश चतुर्थी की पूजा के लिए प्रात:काल नित्यादी क्रियाओं से निवृति होने के बाद पूजन के लिए सोने, तांबे, मिट्टी, अथवा गौ के गोबर की गणेशजी की प्रतिमा बना लेनी चाहिए |
  2. इसके बाद कोरे घड़े में जल भरना चाहिए | उस घड़े के मुख पर नया कपड़ा बिछाकर उस पर गणेशजी की प्रतिमा को स्थापित करना चाहिए |सभी पूजन सामग्री (पुष्प, दूर्वा, धूप, दीप, कपूर, लाल मौली, रोली, चंदन, मोदक, शमी के पत्ते, सुपारी) आदि को व्यवस्थित कर लेना चाहिए |
  3. तत्पश्चात शुद्ध आसन पर बैठकर गणेश भगवान का ध्यान कर लड्डू रखकर षोडशोपचार से विधिवत् पूजन करना चाहिए |
    इसके बाद गडाधिप, उमापुत्र, अघनाशक, विनायक, ईशपुत्र, सर्वसिद्धप्रद, एकदंत, इभवक्म, मूषकवाहन तथा कुमारगुरु नाम बारी – बारी से लेकर सिद्धिविनायक का आह्वान करना चाहिए |
  4. अब आसन, पाद्य, अर्घ, आचमन, स्नान, वस्त्र, गंध और पुष्पादि से पूजन कर के पुनः अंग पूजा करनी चाहिए तथा धूप, दीप, नैवेद्य, आचमन, पान और दक्षिणा के बाद आरती उतारनी चाहिए तथा नमस्कार करना चाहिए |
  5. चतुर्थी के मध्यान्ह में सोलह लड्डू और दक्षिणा सहित ब्राह्मणों को देने चाहिए |
  6. रात्रि में जब चंद्रोदय हो जाए, तब चन्द्रमा का यथाविधि पूजन करके अर्घ प्रदान करना चाहिए |
  7. आखिर में ब्राह्मणों को भोजन कराकर और स्वयं मौन रहकर गणेशजी के आगे रखें पांच लड्डुओं का भोजन करना चाहिए |

गणपति उत्सव का महत्व :

ganeshji chaturthi message

गणेश उत्सव मनाने का हमारे देश मैं बड़ा ही महत्व हैं | विदेशी हुकूमत से पराधीन भारत के निवासियों को एक सूत्र में बांधने के लिए लोकमान्य बालगंगाधर तिलक ने गणपति उत्सव को सर्वाधिक महत्वपूर्ण पर्व बना दिया | गणपति के रूप में राष्ट्र – देवता के पूजा के प्रतीक रूप में स्वतंत्रता संग्राम में यह परम्परा आरम्भ हुई और तब से भारत में चारों तरफ गणेशोत्सव की धूम मच गई | “गणपतिबप्पा मोरया, मंगलमूर्ति मोरया” की गूंज चारों ओर सुनाई देने लगी | सभी लोग मिलकर उत्सव मनाने लगे | इस उत्सव में भजन, कीर्तन एवं प्रवचन के द्वारा लोगों के दिलों में एकता, भाईचारा एवं देशभक्ति की भावना जगाई जाती |
वर्षों पूर्व बालगंगाधर तिलक ने गणेश उत्सव की जिस महत्वपूर्ण परम्परा की धूम धाम से शुरुआत की थी आज भी यह उत्सव उतनी ही धूम धाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है | घर घर में लोग गणपति की मूर्ति लाकर उसकी पूजा करते है | यह मूर्ति घर में कितने दिन रखी जाये, यह उस घर की परम्परा पर निर्भर करती है | कही कही पर सार्वजनिक गणपति की भी स्थापना की जाती है |

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं संदेश : Wishes Message on Ganesh Chaturthi

ganesh utsav pooja

आते बड़े धूम से गणपति जी,
जाते बड़े धूम से गणपति जी,
आख़िर सबसे पहले आकर,
हमारे दिलों में बस जाते हैं गणपति जी।


Happy Ganesh Chaturthi Wishes SMS

आपका और खुशियो का जन्म जन्म का साथ हो
आप की तरक्की की हर किसी की ज़ुबान पर बात हो,
जब भी कोई मुश्किल आए,
My Friend Ganesha हमेशा आप के साथ हो.


गणेश चतुर्थी पर शायरी : Ganesh Chaturthi Hindi Shayari

सुख करता जय मोरया, दुख हरता जय मोरया;
कृपा सिन्धु जय मोरया, बूढ़ी विधाता मोरया;
गणपति बप्पा मोरया, मंगल मूर्ती मोरया!
गणेश चतुर्थी की शुभ कामनाएं!


गणेश चतुर्थी बधाई संदेश : Wishes SMS on Ganesh Chaturthi

गणेश जी आपको नूर दे,
खुशियाँ आपको संपूर्ण दे,
आप जाए गणेश जी के दर्शन को
ओर गणेशजी आपको सुख संपति भरपूर दे…


Happy Ganesh Chaturthi 2017 Wishes SMS Message in Hindi

सब शुभ कारज में पहले पूजा तेरी,
तुम बिना काम ना सरे, अरज सुन मेरी,
रिध सिध को लेकर करो भवन में फेरी,
करो ऐसी कृपा नित करूँ मैं पूजा तेरी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.