धनतेरस 2018 पर धनवन्तरी कुबेर की पूजा विधि व यमराज का दीपदान

धनतेरस 2018 : हिन्दुओ का एक महत्वपर्ण त्यौहार हैं धनतेरस जिसे हम धनत्रयोदशी के नाम से भी जानते है | यह त्यौहार दीपावली के दो दिन पहले कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी (तेरस) को मनाया जाता है | धन्वंतरि भगवान का जन्म इसी त्रयोदशी के दिन हुआ था | यह चिकित्सा के देवता है | इसलिए इसे धन्वंतरि जयंती भी कहते है | शास्त्रों में कहा गया है की धन्वंतरि को विष्णु भगवन का अवतार माना जाता है | कहा जाता है की भगवान धन्वंतरि का जन्म समुद्र मंथन के दोरान हुआ था | जब भगवान धन्वंतरि समुद्र से निकले तब एक हाथ में औषधि और दूसरे में अमृत कलश था | और भुजाओ में शंख और चक्र धारण किये हुए थे |धनतेरस के दिन देव धन्वंतरि की पूजा करने की परंपरा है |

Happy Dhanteras 2018 Dhanvantri

 


1. धनतेरस पर लक्ष्मी की पूजा : Ma Lakshmi Pooja on Dhanteras

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का पर्व हर साल दिवाली से दो दिन पहले मनाया जाता है | धनतेरस के दिन के घर और अपने प्रतिस्ठान व ऑफिस पर शाम के समय दीपक जलाकर देवी लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए | कहा जाता है की माता लक्ष्मी सुख समृद्धि की देवी है इसलिए इस अवसर पर धनप्राप्ति के लिए लक्ष्मी पूजन का विशेष महत्व होता है |

Lakshmi Pooja on Dhanteras

 


2. धनतेरस पर महाराज धनवंतरि की पूजा : Dhanvantri Poojan on Dhanteras

धन्वंतरि भगवान का जन्म इसी त्रयोदशी के दिन हुआ था | यह चिकित्सा के देवता है | इसलिए इसे धन्वंतरि जयंती भी कहते है | शास्त्रों में कहा गया है की धन्वंतरि को विष्णु भगवन का अवतार माना जाता है | कहा जाता है की भगवान धन्वंतरि का जन्म समुद्र मंथन के दोरान हुआ था | जब भगवान धन्वंतरि समुद्र से निकले तब एक हाथ में औषधि और दूसरे में अमृत कलश था | और भुजाओ में शंख और चक्र धारण किये हुए थे | धनवंतरी के प्रकट होने के उपलक्ष्य में ही धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। भगवान धन्वन्तरी समुद्र से कलश लेकर प्रकट हुए थे | इसलिए ऐसी कहा जाता है की इस दिन बर्तन खरीदना चाहिए ।

Dhanvantri Poojan on Dhanteras

 

पुराणों के अनुसार धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरि की मूर्ति को पूर्व दिशा की ओर स्थापित करें |व भगवान धनवंतरि का निम्न मंत्र से जाप करें


3. धनतेरस पर धन्वन्तरी पूजा मंत्र |Dhanwantari Puja Mantra

सत्यं च येन निरतं रोगं विधूतं,अन्वेषित च सविधिं आरोग्यमस्य।
गूढं निगूढं औषध्यरूपं, धनवंतरिं च सततं प्रणमामि नित्यं।।


4. धनतेरस पर कुबेर पूजा मंत्र |Kuber Puja Mantr 2018

आवाहयामि देव त्वामिहायाहि कृपां कुरु।
कोशं वद्र्धय नित्यं त्वं परिरक्ष सुरेश्वर।

धन प्राप्ति के लिए कुबेर देव का मंत्र

ऊं श्रीं ऊं ह्रीं श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः।
ऊँ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये धनधान्यसमृद्धिं में देहि दापय


5. धनतेरस पर कुबेर पूजा |Kuber Worship on Dhanteras

लक्ष्मी और धन्वन्तरी के साथ -साथ धनतेरस के दिन कुबेर महाराज की पूजा करनी चाहिए | वेदों में कहा गया है की धन के देवता कुबेर की पूजा विधि विधान से की जाये तो वह प्रसन्न होकर सुख- संपत्ति का वरदान प्रदान कर सकते हैं | कुबेर महाराज को खुश करने के लिए उसकी फोटो या कुबेर यंत्र के सामने दीपक जलाकर मंत्रो का जाप करना चाहिए | कुबेर यंत्र मन्त्र जो निम्न प्रकार है | धन प्राप्ति के लिए पूजा में प्रयोग की गई हल्दी, धनिया, कमलगट्टा, दूर्वा आदि को एक कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखना चाहिए।

धनतेरस पर कुबेर पूजा

 


6. धनतेरस पर कुबेर की पूजा विधि |Kuber Puja Vidhi on Dhanteras

कहा जाता है की कुबेर महाराज की पूजा अगर पुरे विधि विधान से की जाये तो कुबेर महाराज बहुत प्रसन्न होते है | और कुबेर देव की पूजा के लिए धनतेरस का दिन बहुत ही शुभ माना गया है। सुबह नित्य कार्य करके पूजा स्थान पर कुबेर देव की प्रतिमा या कुबेर यंत्र स्थापित कर पूजा करनी चाहिय । और घर की तिजोरी की पूजा भी कर सकते है। पूजा में तिजोरी पर रोली से स्वस्तिक बनाकर पूरी श्रद्धाभाव से मंत्रों का जाप करे व कुबेर महाराज का ध्यान करना चाहिए। ‘ऊँ कुबेराय नमः’मन्त्र का 108 बार जाप करे | कुबेर देव की धूप, दीप, फूल व गंध से पूजा करनी चाहिए


7. धनतेरस पर यमराज को दीपदान Yamraj Deepdaan on Dhanteras 

धनतेरस के दिन यमदेव का भी दीपदान किया जाता है | कहा जाता है की इस दिन यमदेव की पूजा करने घर में आकस्मिक मृ्त्यु का भय नहीं रहता है | धन तेरस के दिन यमदेव की पूजा करने के बाद मुख्य द्वार पर दक्षिण की और मुख वाला दीपक रात भर जलना चाहिये |इस दिन कीमती धातुओं की खरीद की प्रथा के कारण धनतेरस को व्यवसाय समुदाय के लिए विशेष महत्व कारी बताया है।

 

धनतेरस पर यमराज को दीपदान

More Topic To Read According You...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.