इस वजह से मनाया जाता हैं पाकिस्तान स्वतंत्रता दिवस भारत से 1 दिन पहले

14 अगस्त, 1947 पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस : 15 अगस्त, 1947 भारतीय इतिहास की वो तारीख थी जब हमारा देश ब्रिटिश हुकूमत से आजाद हुआ था। ठीक, इसी दिन हमारा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान बना। जहां भारत से एक दिन पहले ही यानी 14 अगस्त को पाकिस्तान स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। Pakistan National Anthem पाकिस्तान का राष्ट्रगान एक हिन्दू शायर ने लिखा था | जब दोनों देश आजाद हुये थे तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जिन्ना ने सोचा की हमारा National Anthem भी होना चाहिये | इस के बाद जिन्ना ने हुकुम दिया की कोई हिन्दू शायर से हमारा राष्ट्रगान लिखवाना हैं पाकिस्तान के लेखको वह शायरों को काफी बुरा लगा लेकिन जिन्ना के सामने किसी की नहीं चली | और Pakistan National Anthem जगनाथ आजाद ने लिखा जो एक हिन्दू था जो पाकिस्तान में रहना चाहता था | लेकिन जब मार काट चली तो वह पाकिस्तान छोड़ कर भारत चले आये थे | पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी मुहम्मद अली ने भी अपनी किताब द इमरजेंस ऑफ पाकिस्तान में इस बात की पु्ष्टि की है. उनके मुताबिक 15 अगस्त 1947 को रमजान का आखिरी जुमा था जो इस्लामी मान्यताओं के हिसाब से सबसे मुबारक दिनों में से एक है. मुहम्मद अली लिखते हैं कि इस मुबारक दिन पर कायदे आजम पाकिस्तान के गवर्नर जनरल बने, कैबिनेट ने शपथ ली, चांद सितारे वाला झंडा फहराया गया और दुनिया के नक्शे पर पाकिस्तान वजूद में आया.

pakistan independance day

तो क्या पाकिस्तान को पहले मिली थी स्वतंत्रता – जाने

हुआ यूं था कि ब्रिटिश हुकूमत ने भारतीय स्वतंत्रता विधेयक में 15 अगस्त 1947 की तारीख दोनों देशों को दी थी। लेकिन, इस अधिनियम में जारी किए गए पहले स्टाम्प में 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में उल्लेख किया। पाकिस्तान को अपने पहले पते पर ऐतराज था उस समय जिन्ना ने कहा था | 15 अगस्त पाकिस्तान के स्वतंत्र और संप्रभु राज्य का जन्मदिन है।यह मुस्लिम राष्ट्र के भाग्य की पूर्ति का प्रतीक है, जिसने पिछले कुछ वर्षों में अपनी मातृभूमि बनाने के लिए महान त्याग किए हैं।’1948 में, पाकिस्तान ने 14 अगस्त, 1947 को कराची में सत्ता के हस्तांतरण का आयोजन किया थ।इस दौरान 14 अगस्त 1947 को मुस्लिमों की एक बहुत ही पवित्र तारीख रमजान का 27 वां स्थान दिया गया | इसलिए पाकिस्तान में 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाने लगा।

क्यों मनाता हैं पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस

साल 1948 में पाकिस्तान में आजादी की तारीख को 14 अगस्त कर दिया गया था. इस पर अलग-अलग बातें सामने आती हैं. कई रिपोर्टों में कहा गया है कि उस साल 14 अगस्त को रमजान का 27वां दिन यानी शब-ए-कद्र पड़ रहा था. मान्यता है कि इसी रात धार्मिक ग्रंथ कुरान मुकम्मल हुआ था और यह दिन काफी पवित्र माना जाता है. इसके बाद पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को ही मनाया जाने लगा. कुछ इतिहासकारों का मानना है कि 14 अगस्त को वायसराय के सत्ता हस्तांतरित करने के बाद ही कराची में पाकिस्तानी झंडा फहरा दिया गया था और इसलिए बाद में पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस की तारीख 14 अगस्त ही कर दी गई | साल 1948 में पाकिस्तान में आजादी की तारीख को 14 अगस्त कर दिया गया था. कई मीडिया रिपोर्ट्स का ये भी कहना है कि उस दिन रमजान का 27वां दिन था. जो इस्लामी कैलेंडर के अनुसार खास और पवित्र दिन माना जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.