26 जनवरी गणतंत्र दिवस 2019 पर परेड और झाँकियाँ

गणतंत्र दिवस Gantantr Diwas प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है गणतंत्र दिवस Gantantr Diwas भारत का सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पर्व National festival है। 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान The constitution of Indiaअस्तित्व में आया था भारत 26 जनवरी को वास्तव में लोकतांत्रिक और गणतंत्र देश Democratic and republican countries बना था । इस दिन भारत ने अंततः आत्मा की स्वतंत्रता कानून Freedom law का शासन और शासन के मूल सिद्धांत का अधिकार The right to rule of law मिला । इस दिन भारतीय लोगों में देशभक्तिपूर्ण Patriotic उत्साह पूरे जोश के साथ रहता है। गणतंत्र दिवस Republic Day पर अनेक प्रकार की सुन्दर–सुन्दर झाँकियाँ नाच-गाने, बैण्ड-बाजे, हाथी, ऊँट, घोड़ों की सवारियाँ, टैंक, तोप, समुद्री जहाज़ और हवाई जहाज़ के नमूने कृषि और उद्योग की झाँकियाँ, स्कूली बच्चों के नाच-गाने करते हुए ग्रुप राष्ट्रपति को सलामी देते हुए चलते हैं। जो कि विजय चौक से शुरू होकर लाल क़िले तक जाते हैं।

Republic Day Parade 2018

गणतंत्र दिवस परेड Republic Day Parade

gantantr diwas pared

गणतंत्र दिवस Gantantr Diwas 26 जनवरी को राजधानी, नई दिल्ली में सबसे भव्य रूप से मनाया जाता है, जहां महान राष्ट्र की सैन्य शक्ति military power का प्रतीक और सांस्कृतिक दुनिया की सबसे प्रभावशाली परेड प्रदर्शित होता है। सभी सरकारी भवनों को शहर को एक परफेरीलैंड वातावरण सजाया जाता है। गणतंत्र दिवस Republic Day के दिन पूरे देश में बहुत उत्साह और गर्व से मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस Republic Day परेड में निम्न झाकियों का प्रदर्शन किया जाता है |

गणतंत्र दिवस पर BSF की झाँकी BSF Jhanki on Republic Day 2018 

bsf

BSF Border Security Forces अपनी ‘उंटा’ परेड का प्रदर्शन करती है | BSF अपनी गुजरात और राजस्थान की सीमाओं की सुरक्षा के लिए करीब 1200 ऊंटों को जोधपुर में बीएसएफ BSF द्वारा प्रशिक्षित किए जाते हैं। 5 वर्ष के करीब 100 ऊँटो Camel को ट्रेनिंग दी जाती है जो बाद में गणतंत्रता दिवस Gantantr Diwas की परेड में अपना प्रदर्शन करते है

गणतंत्र दिवस पर खास झाकियों का प्रदर्शन Special displays on Republic Day 2019

69th Republic Day Jhanki 2018

गणतंत्र दिवस Republic Day पर पहली बार आसियान देशों के कलाकार एक साथ मिलकर ‘रामायण’ का मंचन करेंगे। इतना ही नहीं, राजपथ पर साबरमती आश्रम के सौ वर्ष की कहानी बयां करती झाकी भी देश-दुनिया के दर्शकों को दिखाई देगी | आसियान देशों की झांकी में सीता स्वयंवर, राम वनवास, अशोक वाटिका, समुद्र पर सेतु का निर्माण, राम-रावण युद्ध, श्रीराम के बाणों की टंकार और हनुमान द्वारा आकाश मार्ग से संजीवनी बूटी लाने के प्रसंग जहां चित्रों के माध्यम से प्रदर्शित होंगे। वहीं राम, लक्ष्मण, सीता, रावण, हनुमान तथा जटायु इत्यादि विभिन्न पात्र भी मंचन करते नजर आएंगें। गुजरात की झाकी में साबरमती आश्रम के सौ वर्ष पूरे होने की कहानी को दर्शाया गया है। यहीं से महात्मा गाधी ने खादी को बढ़ावा देने के लिए चरखे से खादी कातना शुरू किया था। इस झाकी के मध्य भाग पर महात्मा गाधी की विशाल प्रतिमा लगाई गई है। मध्य भाग में स्वच्छता, खुशहाली और मरीजों के उपचार की झलक देखने को मिलती है।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस परेड की कहानी The story of January 26 Republic Day Parade

गणतंत्र दिवस परेड

26 जनवरी गणतंत्र दिवस Republic Day 2019 की परेड को देखते हुए हमारे मन में देश के लिए हमेशा गर्व और सम्मान की भावना पैदा होती है। लेकिन क्या आप जानते है गणतंत्र दिवस परेड के पीछे की कहानी इस के लिए देश भर में 6000 marchers, 1200 छात्रों और 5000 artist होते हैं, जो इसे 6 महीने की अवधि में कर पाते हैं यह शानदार उत्सव 33 विभागों और 3200 अधिकारियों की वजह से होता है

गणतंत्र दिवस समारोह 2019 के मुख्य अतिथि

2019 में भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा मुख्य अतिथि होंगे।

गणतंत्र दिवस 2018 के मुख्य अतिथियों की लिस्ट List of main guests of Republic Day 2019

गणतंत्र दिवस 2018 में मुख्य अतिथि ASEAN के 10 देशों के प्रमुख) नेता होंगे। मुख्य अतिथि और उनके राष्ट्रों के नाम की सूची दी जा रही है |

  1. सुल्तान और विद्यमान प्रधान मंत्री, Hassanal Bolkiah – Brunei
  2. प्रधान मंत्री, Hun Sen – Cambodia
  3. राष्ट्रपति, Joko Widodo – Indonesia
  4. प्रधान मंत्री, Thongloun Sisoulith – Laos
  5. प्रधान मंत्री, Najib Razak – Malaysia
  6. राष्ट्रपति, Htin Kyaw – Myanmar
  7. राष्ट्रपति, Rodrigo Roa Duterte – Philippines
  8. राष्ट्रपति, Halimah Yacob – Singapore
  9. प्रधान मंत्री, Prayuth Chan-ocha – Thailand
  10. प्रधान मंत्री, Nguyen Xuan Phuc – Vietnam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.