भारत का 74वां स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2020

भारत का स्वतंत्रता दिवस प्रतेक वर्ष 15 अगस्त को मनाया जाता है। सन् 1947 में इसी दिन भारत ने अंग्रेजी शासन से स्‍वतंत्रता प्राप्त की थी। यह भारत का राष्ट्रीय त्यौहार है। प्रतिवर्ष इस दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल किले पर जाकर देश को सम्बोधित करते हैं। 15 अगस्त 1947 के दिन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने दिल्ली के लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को फहराया था। हर वर्ष के भांति इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा | पिछले वर्ष तत्काल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुरे भारत को सम्बोदित करते हुये कहा था हम आप को एक नये भारत की और लेकर जा रहे हैं | और  74 वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा इस बार भी भारत के प्रधानमंत्री के रूप में दोबारा सपथ ग्रहण की नरेन्द्र मोदी ने और भारत को संबोधित करेंगे | गुलाम भारत के महान वीरो की गाथा और उनके समर्पण के कुछ अनकहे किस्से जो आपने पहले नही सुना होगा |

महात्मा गाँधी का सविनय अवज्ञा आंदोलनों

महात्मा गाँधी के नेतृत्व में भारतीय स्वतंत्रता में लोगों ने काफी हद तक अहिंसक प्रतिरोध और सविनय अवज्ञा आंदोलनों में हिस्सा लिया था । भारत की स्वतंत्रता के बाद ब्रिटिश सरकार ने भारत को धार्मिक आधार पर विभाजित किया था | इस विभाजन से भारत और पाकिस्तान का उदय हुआ। भारत पाकिस्तान विभाजन के बाद दोनों देशों में हिंसक दंगे भड़क गए और सांप्रदायिक हिंसा की अनेक घटनाएं हुईं।

भारत पाकिस्तान विभाजन का असर

भारत व पाकिस्तान के विभाजन के कारण इतिहास में कभी इतनी ज्यादा संख्या में लोगों का विस्थापन नहीं हुआ। यह संख्या तकरीबन 1.5 करोड़ थी। 1951 की विस्थापित जनगणना के अनुसार विभाजन के एकदम बाद 72,26,000 मुसलमान भारत छोड़कर पाकिस्तान गये और 72,49,000 हिन्दू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत आए। इस दिन को झंडा फहराने के समारोह, परेड और सांस्कृतिक आयोजनों के साथ पूरे भारत में मनाया जाता है। भारतीय इस दिन अपनी पोशाक, सामान, घरों और वाहनों पर राष्ट्रीय ध्वज प्रदर्शित कर इस उत्सव को मनाते हैं और परिवार व दोस्तों के साथ देशभक्ति फिल्में देखते हैं, देशभक्ति के गीत सुनते हैं।

15 अगस्त 2020 स्वतंत्रता दिवस का दिन

भारत का स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त, 2020 को शनिवार को पूरे भारत में मनाया जाएगा।15 अगस्त 2020 को पूरे भारत के लोगों द्वारा भारत के 74वाँ स्वतंत्रता दिवस को मनाया जायेगा। 15 अगस्त 1947 को भारत में प्रथम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया गया था। 15 अगस्त सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के लिए और उनको याद करने के लिये जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता बहुत योगदान दिया है और भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़े थे ।

स्वतंत्रता दिवस उत्सव 15 अगस्त को लाल किले पर विशेष

2020 में भारत अपना 74वा स्वतंत्रता दिवस को मानाने जा रहा है। इस बार भी हर साल की भाती प्रत्येक राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों में बड़ी उत्सुकता से स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा | स्वतंत्रता दिवस की पूर्व सांध्य पर “राष्ट्र के नाम संबोधन” में हर साल भारत के राष्ट्रपति भाषण देते है । 15 अगस्त को देश की राजधानी यानि लाल किले पर पूरे जुनून के साथ स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाएगा | रजधानी दिल्ली के लाल किले पर भारत के प्रधानमंत्री झंडा फरायेगे । ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रगान होगा है 21 तोपों की सलामी दी जायेगी है तथा तिरंगे और महान पर्व को सम्मान दिया जाएगा ।

स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री का भाषण और सन्देश

स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण के दौरान भारत के प्रधानमंत्री स्वतंत्रता सेनानियों और भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के नेताओँ जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी थी को श्रद्धांजलि देने के बाद, पिछले साल की उपलब्धियों, महत्पूर्ण सामाजिक मुद्दे और उनके हल, देश के आगे का विकास, शिक्षा आदि के बारे में बात करते है।

15 अगस्त पर भारतीय सैनिकों द्वारा मार्च पास्ट

लाल किले पर पैरामिलीट्री फोर्सेस और भारतीय सैनिकों द्वारा भव्य मार्च पास्ट किया जाता है। विभिन्न सांस्कृतिक परंपरा के अलग-अलग राज्य में स्वतंत्रता दिवस का उत्सव मनाया जाता है जहाँ हर राज्य का मुख्यमंत्री राष्ट्रीय झंडे को फहराता है | स्वतंत्रता दिवस को मनाने के दौरान आतंकवादी हमलों का बड़ा खतरा रहता है खासतौर से दिल्ली, मुम्बई तथा जम्मु-कश्मीर जैसे बड़े शहरों में। इसी वजह से इस अवसर पर हवाई हमलों से बचने के लिये लाल किले के आस-पास के क्षेत्र को “नो फ्लाई जोन” घोषित कर दिया जाता है। सुरक्षा कारणों से पूरे शहर में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की जाती है। पूरे देश के लोगों के लिये इस कार्यक्रम का टेलीविजन पर प्रसारण किया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस पर लोकप्रिय संस्कृति का आयोजन

स्वतंत्रता दिवस पर हिंदी में देशभक्ति गीत और क्षेत्रीय भाषाओं में टेलीविजन और रेडियो चैनलों पर प्रसारित किए जाते हैं। इनको गीतों को झंडा फहराने के समारोह के साथ भी बजाया जाता है। देशभक्ति की फिल्मों का प्रसारण भी होता है नयी पीढ़ी के लिए तीन रंगो में रंगे डिज़ाइनर कपड़े भी इस दौरान दिखाई दे जाते हैं। 15 अगस्त पर प्रतिभागियों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक क्रिया-कलापों द्वारा झंडा लहराया जाता है। ध्वजारोहण, राष्ट्रगान, परेड समारोह, दूसरे सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित लगभग सभी सरकारी और गैर-सरकारी संस्थान, शिक्षण संस्थान, कुछ निजी संस्थान आदि पूरे देश में होता है। स्कूल तथा कॉलेजों में प्रधानाचार्य द्वारा झंडा फहराया जाता है और फिर वहाँ के विद्यार्थियों द्वारा परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रम को आगे बढ़ाया जाता है। इस दिन पर, सरकारी कार्यालय, बिल्डिंग आदि को रोशनी, फूलों और दूसरे सजावटी समानों से सजाया जाता है। अलग अलग लंबाई के झंडे के द्वारा लोग देश के प्रति अपने समर्पण और प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करते है।

15 अगस्त का भारतीय डाक सेवा का कार्यक्रम

भारतीय डाक सेवा 15 अगस्त को स्वतंत्रता आंदोलन के नेताओं, राष्ट्रवादी विषयों और रक्षा से संबंधित विषयों पर डाक टिकट प्रकाशित करता है। इंटरनेट पर, 2003 के बाद गूगल अपने भारतीय होमपेज पर एक विशेष गूगल डूडल के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.