Devendra Jhajharia Biography World Record Career Family Personal Life Awards Achievements Medal

Devendra Jhajharia Biography : Hello Friends Greeting You All A Big Achievements For India And Indian Athlete Team Golden Movement For Indian Sports Fans Devendra Jhajharia Once Again Won A Gold Medal In Rio Paralympic Game 2016. Indian Javelin Throw Athlete Devendra Jhajharia Winner Of Gold Medal At Rio Paralympic And Get First Position Threw a world record throw of 63.97 Metres In History. We Are Giving Here Devendra Jhajharia Biography World Record Career Family Personal Life Awards Achievements Medal

Devendra Jhajharia Biography Family World Record Contact Address In Hindi

Devendra Jhajharia Biography : क्या आप देवेंद्र झाझरिया के फैन है, और उनके बारे में जानकारी सर्च कर रहे है उनके Contact Number इनके Family के बारे में Address और राजस्थान के इस ओलम्पिक गोल्ड मेडलिस्ट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी Devendra Jhajharia Biography में आपकों इनसे जुड़ी प्रत्येक information & details उपलब्ध करवा रहे है. पैरालिंपिक खिलाड़ी देवेंद्र झाझरिया को खेल रत्‍न पुरस्‍कार से नवाजे जा चुके है.

Devendra Jhajharia Biography World Record In Hindi

आपका परिचय एक ऐसें जीवंत एथलीट से करा रहे है जिनका नाम है देवेन्द्र, जिन्होंने  रियो पैरालम्पिक रियो 2016 खेल में भारत का प्रतिनिधित्व किया तथा भाला फेक प्रतियोगिता में नया इतिहास रचते हुए भारत की झोली में एक गोल्ड मैडल डालने में कामयाब रहे. इससे पहले भी Devendra Jhajharia समर पैरालम्पिक में स्वर्ण पदक जीत चुके है. देवेन्द्र बिलासपुर, छत्तीसगढ़ में काम करते है तथा ‘भारतीय खेल प्राधिकरण’ के सदस्य भी चुने जा चुके इसके अतिरिक्त ये राज्य की पैरालिम्पिक समिति के मेंबर है.इनकी पत्नी मंजू कब्बडी प्लेयर है जो भारत के लिए खेलती है. एक नजर Javelin Throw के इस महान खिलाड़ी की Personal Information पर.

Devendra Jhajharia Life Personal Information

जीवन परिचय
Devendra Jhajharia
पूरा नाम/Name Devendra Jhajharia/देवेन्द्र
धर्म हिन्दू
जन्म/DOB 10 जून, 1981
जन्म स्थान चुरू जिला, राजस्थान
माता-पिता राम सिंह झाझड़िया, जीवनी देवी
विवाह/Wife मंजू
बच्चे जीवा

काव्यान

Sports Belong Javelin Throw

Devendra Jhajharia Rio Paralympic 2016 Game Live Video

दोस्तो हम यहाँ पर Devendra Jhajharia Rio Paralympic 2016 Game Live Video दे रहे है जिसमे आप देख सकते है की कैसे देवेन्द्र जी ने रियो में सोना जीता था तो देखिये The Mirchi News का विडियो

Know About Devendra Jhajharia Starting Life

About Devendra Jhajharia Starting Life : 10 जून 1981 को राजस्थान के चुरू जिले की राजगढ़ तहसील में जन्मे देवेन्द्र 36 वर्ष के हो चुके है. इनके पिता राम सिंह झाझड़िया और माता जीवनी देवी के साधारण किसान परिवार में जन्मे देवेन्द्र एक साधारण बालक थे, जिन्हें बचपन से खेलने तथा पढ़ने का बड़ा शोक था. हर माँ बाप की तरह तरह राम सिंह का भी सपना था कि उनका बेटा भी पढ़ लिखकर एक बड़ा आदमी बने, मगर बचपन के दिनों की एक घटना जिसने देवेन्द्र को अपाहिज बना दिया था. पेड़ पर फल तोड़ने चढ़े देवेन्द्र को बिजली का करंट लग गया और बुरी तरह घायल होकर गिर पड़े थे. इस हादसे में उन्हें अपना बायाँ हाथ कटवाना पड़ा क्योकि वह बुरी तरह जल चूका था.

Devendra Jhajharia Career And Start Javelin Throw

पढ़ने के साथ साथ इन्हें भाला फेक Javelin Throw में बेहद रूचि थी, धन के अभाव में ये खेल के उपकरण नही खरीद पाए तो लकड़ी के भाले से ही अभ्यास किया करते थे. आर्थिक संकट के हालात से बचपन गुजारने वाले देवेन्द्र ने अपने स्कूली समय में ही कई जिलास्तरीय टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीते थे. Devendra Jhajharia के Javelin Throw Career में एक व्यक्ति की महत्वपूर्ण भूमिका रही वो थे इनके कोच आर डी सिंह इन्ही के सहयोग के फलस्वरूप देवेन्द्र ने 1995 में देवेन्द्र ने पहली बार पैरा-एथलेटिक्स में हिस्सा लिया तथा नेहरु कॉलेज से पढाई के साथ साथ खेल की व्यवस्था कराने में अहम भूमिका निभाई. वर्ष 2001 में अजमेर विश्वविद्यालय से देवेन्द्र ने ग्रेजुएशन की.

Devendra Jhajharia का विवाह राष्ट्रीय कबड्डी टीम की खिलाड़ी मंजू के साथ हुआ

Devendra Jhajharia indian Athlete Awards Achievements Medal

बिना किसी सरकारी सहायता के अपना मुकाम हासिल करने वाले देवेन्द्र ने अपने भाला फेक में प्रतिभा के दम पर भारत को कई बार विश्व स्तर पर गौरव दिलाया है. इन्होने 2002 के एशियन गेम्स में भारत को पहला पदक दिलाया था, जो उनके करियर का पहला अंतर्राष्ट्रीय पदक भी था. इस प्रतियोगिता में 62.15 मीटर के साथ नया कीर्तिमान भी स्थापित किया. इसके बाद आईपीसी एथलेटिक्स विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड, दोहा में आयोजित आईपीसी एथलेटिक्स विश्व चैंपियनशिप में रजत तथा 2016 के दुबई में आयोजित आईपीसी एथलेटिक्स एशिया-ओशिनिया चैंपियनशिप टूर्नामेंट में देवेन्द्र ने एक बार फिर गोल्ड मैडल भारत को दिलाने में सफलता प्राप्त की.

Devendra Jhajharia Rio Paralympic 2016 Game Video

Devendra Jhajharia Won Rajiv Gandhi Khel Ratna खेल रत्‍न पुरस्‍कार

जेवलिन थ्रो में दो गोल्ड मैडल जितने वाले राजस्‍थान के चुरू जिले के रहने वाले देवेंद्र को Rajiv Gandhi Khel Ratna खेल रत्‍न पुरस्‍कार से नवाजा गया है. 2004 में पहली बार एथेंस पैरालिंपिक खेलों में प्रवेश लेने के साथ ही हर बार नया रिकॉर्ड बनाने वाले देवेन्द्र Javillen Throw World Ranking अब विश्‍व रैंकिंग में वह तीसरे नंबर पर है. युवा खेल प्रेमियों के लिए प्रेरणा के स्त्रोत देवेन्द्र से भारत एवं हम को बड़ी उम्मीदे है वो आगे भी इसी तरह खेलकर देश का नाम रोशन करते रहेंगे.

Some Known Facts About Devendra Jhajharia

  • देवेंद्र झाझरिया के परिवार में माता जीवनी देवी व पिता राम सिंह अलावा अरविन्द और प्रदीप इनके दो भाई भी है.
  • इनकी लम्बाई 1.83मीटर और वजन 80 किलों लगभग है.
  • देवेन्द्र ने NMPG College, Hanumangarh से बीए 2001 में की और वर्तमान में जयपुर में अपने परिवार के साथ रहते है.
  • इन्हें खेल के अलावा घूमने फिरने एवं यात्रा का शोक है.
  • 2016 के रियो पेरोल्म्पिक में गोल्ड मेडल जितने के साथ ही ये javelin throw थ्रो में भारत को दो पदक जितने वाले पहले एथलीट बने.
  • द्रोणाचार्य कोच आर डी सिंह ने ही इन्हें आगे खेलने के लिए प्रेरित किया और अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट तक जाने में सहयोग किया.

Devendra Jhajharia Won Gold Medal In Rio Paralympic 2016 Game

अन्तराष्ट्रीय खेल में देवेन्द्र को 2002 में हाथ आजमाने का अवसर मिला तथा एशियन गेम्स, भूटान, साउथ कोरिया में आयोजित एशियाई खेलों में इन्होने स्वर्ण पदक जीता. अगली बार 2004 आयोजित पैरोल्म्पिक खेलों में इन्होने अपने ही पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने के साथ 62.15 मीटर भाला फेककर नया रिकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मैडल अपने नाम किया. वर्ष 2013 में लयों में हुए IPC एथलेटिक्स वर्ल्ड टूर्नामेंट में इनका हाथ एक बार ओर चला व गोल्ड मैडल जितने में कामयाबी मिली. रियो पैरालिंपिक्स 2016 में भारत के लिए जैवलिन थ्रो F46 में देवेन्द्र ने अपने इतिहास को दोहराते हुए स्वर्ण पदक जीता था. इस बार की प्रतियोगिता में इन्होने 63.97 मीटर भाला फेककर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया.

प्रधानमन्त्री मोदी ने देवेंद्र झाझरिया की जीत पर बधाई दी है। पीएम ने ट्वीट कर कहा कि हमें आप पर गर्व है। इन्होने 14 साल पहले 2004 एथेंस पैरालंपिक में भी सोना जीता था.

You Must Read

रामदेव जी महाराज का मेला रुणीजा धाम रामदेवरा : कोन थे रामदेव... बाबा रामदेव जी महाराज का जन्म और परिचय : लोक देवता...
Raksha Bandhan Best Wishes SMS Message Poem Shayari Hindi Gi... Rakshabandhan is the unique festival of brother an...
शिक्षक दिवश पर भाषण हिंदी मैं एक छात्रा की जुबान से... हर साल 5 सितम्बर पूरे भारत में शिक्षक दिवस के रुप ...
गणेश चतुर्थी 2017 विसर्जन श्री गणपति की आरती गणेश चालीसा और ... भगवान गणेश जी का जन्म दिन " गणेश चतुर्थी 2017 "पुर...
नवरात्र 2017 दुर्गा पूजा से सरकारी नौकरी में सफलता के व अन्य... नवरात्र Navratra 2017 का त्यौहार हिन्दू धर्म का सब...
UP ITI Private Merit List 2018 Uttar Pradesh ITI Cut off Mer... UP ITI Private Merit List 2018 Vyavasayik Pareeksh...
पितृ पक्ष 2017 श्राद्ध का महत्व, तिथि समय, पूजा विधी,पितृ तर... श्राद्ध कब हैं ? और श्राद्ध क्यों मनाया जाता हैं ?...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *