धनतेरस 2018 कुबेरजी यंत्र आरती पूजा मन्त्र

धनतेरस 2018 धनतेरस की पूजा सम्पूर्ण भारत में सोमवार 5 नवंबर 2018 को की जाएगी | बताया गया है की दिवाली से पहले धनतेरस की पूजा का बड़ा ही महत्व है | इस दिन आरोग्य और धन के लिए भगवान धनवंतरी की बड़े ही हर्षउलास के साथ पूजा की जाती है | इस दिन समुद्र मंथन के दौरान भगवान धनवंतरी अमृत कलश और आयुर्वेद लेकर प्रकट हुए थे | इसी कारण भगवान धनवंतरी को औषधी के जनक भी कहा जाता है | शास्त्रों में कहा गया है की इस दिन सोने चांदी के बर्तन व आभूषण खरीदना शुभ माना गया है | सोने चांदी के बर्तन व आभूषण खरीदने से भगवान धनवंतरी बड़े ही खुश होते है |

कुबेर जी

 

कुबेर जी यंत्र Kuberji Yantr

कुबेर महाराज देवताओ के धनाध्यक्ष रूप में पूजे जाते है |कहा जाता है की कुबेर महाराज भगवान शिव के परम भक्त थे कुबेर महाराज की तपस्या से प्रसन्न होकर शिवजी ने कुबेरजी को अपना मित्र बनाया था |कुबेर महाराज यंत्र में पुष्पक विमान पर विराजमान है कुबेर महाराज के एक हाथ में गदा दुसरे हाथ में प्रचुर धन देने वाली वरमुद्रा सुशोभित है | यह यंत्र अन्य तंत्रों से भिन्न है | कहा गया है की कुबेर यंत्र की पूजा सम्पूर्ण विधि विधान से की जाये तो मनुष्य की दुःख दरिद्रता और सभी संकट दूर हो सकते है |

कुबेर जी यंत्र

 

Kuberji Arti in Hindi

हिन्दू धर्म के सभी देवी – देवताओ के विशेष त्यौहार पर पूजा करने का प्रचलन है | इसी प्रकार कार्तिक मास की कृष्णा पक्ष की तेरस ( त्रयोदसी ) यानि दिवाली से दो दिन पहले धन के देवता और आरोग्य के रूप में धनवंतरी महाराज की पूजा करने का विधान है |कोई भी कार्य पूजा के बिना संपन नहीं होता है | दोस्तों हम लेकर आरहे है आपके लिए आरती का विडियो और लिरिक्स जो आप सुन व पढ़ सकते है |

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे ,
स्वामी जै यक्ष जै यक्ष कुबेर हरे।
शरण पड़े भगतों के,
भण्डार कुबेर भरे।
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
शिव भक्तों में भक्त कुबेर बड़े,
स्वामी भक्त कुबेर बड़े।
दैत्य दानव मानव से,
कई-कई युद्ध लड़े ॥
॥ ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
स्वर्ण सिंहासन बैठे,
सिर पर छत्र फिरे,
स्वामी सिर पर छत्र फिरे।
योगिनी मंगल गावैं,
सब जय जय कार करैं॥
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
गदा त्रिशूल हाथ में,
शस्त्र बहुत धरे,
स्वामी शस्त्र बहुत धरे।
दुख भय संकट मोचन,
धनुष टंकार करें॥
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
भांति भांति के व्यंजन बहुत बने,
स्वामी व्यंजन बहुत बने।
मोहन भोग लगावैं,
साथ में उड़द चने॥
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
बल बुद्धि विद्या दाता,
हम तेरी शरण पड़े,
स्वामी हम तेरी शरण पड़े अपने भक्त जनों के ,
सारे काम संवारे॥
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
मुकुट मणी की शोभा,
मोतियन हार गले,
स्वामी मोतियन हार गले।
अगर कपूर की बाती,
घी की जोत जले॥
॥ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥
यक्ष कुबेर जी की आरती ,
जो कोई नर गावे,
स्वामी जो कोई नर गावे ।
कहत प्रेमपाल स्वामी,
मनवांछित फल पावे।
॥ इति श्री कुबेर आरती ॥

कुबेर मन्त्र Kubera Mantra in Hindi

कुबेर महाराज धन के अधिपति हैं | कुबेर महाराज की पूजा त्रयोदशी के दिन करने का विशेष महत्व है |कुबेरजी देवताओं के कोषाध्यक्ष हैं| कहा जाता है की पृथ्वीलोक की समस्त धन संपदा के भी एकमात्र वही स्वामी हैं | इसलिए हम लेकर आरहे है आपके लिए धन के देव कुबेर को प्रसन करने का मंत्र है श्री कुबेर मंत्र जाप विधि और कुबेर मंत्र के लाभ |

Dhanters Puja

 

 

ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये |
धनधान्यसमृद्धिं मे देहि दापय स्वाहा॥

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः॥

ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कुबेराय अष्ट-लक्ष्मी मम गृहे धनं पुरय पुरय नमः॥

Kubera Mantra  Lyrics

धन के देवता कुबेर को प्रसन करने का मंत्र श्री कुबेर मंत्र जाप विधि जो आप विडियो के द्वारा सुन कर उसका अनुसरण कर सकते है |

More Topic To Read According You...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.