Diwali Puja Samagri List 2022 PDF in Hindi दिवाली पर मां लक्ष्मी की पूजा के लिए ख़रीदे ये सामन, ऐसे करे पूजा और सुने ये कथा

Diwali Puja Samagri List 2022 PDF दिवाली पूजन सामग्री लिस्ट Diwali Lakshmi Puja Samagri List Diwali Puja Vidhi Diwali Ki Katha Kahani दिवाली पूजन विधि कथा कहानी. अगर आप दिवाली की पूजा पूरी विधि-विधान से करके माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करना चाहते है तो सबसे जरुरी है दिवाली पर मां लक्ष्मी की पूजा में वो सभी सामग्री शामिल करे जो माँ लक्ष्मी को प्रिय है | और उसके बाद शुभ मुहूर्त में पूरी विधि-विधान से माँ लक्ष्मी / दिवाली की पूजा करे और कथा सुने |

आप यहाँ से Diwali Puja Samagri List in Hindi दिवाली पूजन सामग्री की संपूर्ण सूची Diwali Lakshmi Puja Items दिवाली की पूजा विधि व कथा के बारे में जानकारी प्राप्त व Diwali Puja Samagri List 2022 PDF डाउनलोड कर सकते है |

Diwali Pujan Samagri List Puja Vidhi Katha

Diwali Puja Samagri List PDF 2022 in Hindi  दिवाली पूजन-सामग्री की संपूर्ण सूची PDF

दिवाली पर मां लक्ष्मी की पूजा में काम आने वाली सम्पूर्ण सामग्रियों की सूचि निचे उपलब्ध करवा दी गई है | अगर आप माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करके उनकी कृपा द्रष्टि पाना चाहते है तो दिवाली पर मां लक्ष्मी की पूजा के लिए ये सामग्रिया जरुरी है | बतादे की इस पूरी दिवाली पूजन सामग्री को खरीदने के लिए लगभग 2500 से 3000 रुपये तक का खर्चा आएगा | आप निचे दी गई Diwali Puja Samagri List 2022 PDF in Hindi को डाउनलोड कर दिवाली पूजन सामग्री लिस्ट को सेव/सुरक्षित रख सकते है |

Diwali Puja Samagri List 2022 in Hindi

  • मां लक्ष्मी जी, गणेशजी और मां सरस्वती की मूर्ति या तस्वीर
  • चांदी का सिक्का
  • गुलाब या कमल का फूल
  • चंदन
  • कुमकुम
  • केसर
  • सरसों
  • गेंहू
  • चावल
  • हरा मुंग
  • गुड़
  • 5 सुपारी
  • 5 पान के पत्ते
  • छोटी इलायची
  • अबीर
  • लौंग
  • मौली या कलावा
  • फूलों की माला
  • तुलसी दल
  • गौ मूत्र
  • कमलगट्टे
  • साबुत धनिया
  • कुशा और दूर्वा
  • आधा मीटर सफेद कपड़ा
  • आधा मीटर लाल कपड़ा
  • गन्ना, सिंघाड़े, काचरे, बेर, मुली
  • नैवेद्य
  • लकड़ी की चौकी
  • गुलाल
  • बही-खाता, स्याही की दवात
  • हल्दी की गांठ
  • जनेऊ
  • सोलह श्रृंगार का सामान (चूड़ी, मेहंदी, पायल, बिछिया, काजल, बिंदी, कंघा)
  • दीपक
  • तेल
  • नारियल
  • पंच मेवा (मखाना, किशमिश, छुहारा, बादाम, काजू आदि)
  • गंगाजल
  • पंचामृत (शहद, दूध, शक्कर, दही, गंगाजल)
  • घी
  • सुखा मेवा
  • मिठाई
  • इत्र की शीशी
  • जल कलश तांबे
  • खील-बताशे
  • कपूर
  • बैठने के लिए आसन
  • आम का पत्ता
  • श्रीयंत्र
  • कौड़ी

डाउनलोड करे – Diwali Pujan Samagri List 2022 PDF in Hindi

Diwali Shayari 2022 दिवाली पर शायरी Love Romantic

Diwali Funny Jokes दिवाली के फनी चुटकुले For GF BF Husband Wife

दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं Diwali Ki Hardik Shubhkamnaye Badhai Mubarak

दिवाली स्टेटस 2022 Happy Diwali Whatsapp Status Video Love Romantic Caption

Diwali Wallpaper HD Photo 2022 शुभ दिवाली की फोटो पोस्टर ड्राइंग

Diwali Whatsapp DP 2022 अपने नाम की दिवाली Whatsapp DP डाउनलोड करे

दिवाली पूजन सामग्री 2022 Diwali Pujan Samagri 2022 Video

Diwali Ke Din Kya Karna Chahiye Kya Nahi दिवाली के दिन क्या करे क्या नहीं शुभ और अशुभ

दिवाली के दिन ये टोटके, उपाय करने से होगी धन की वर्षा [देखे] Diwali Ke Tone Totke Upay Vastu Tips

Diwali Rangoli Designs 2022 दिवाली पर घर आँगन व ऑफिस में बनाने वाली सुन्दर रंगोली की डिजाईन

Diwali Poem 2022 दि‍वाली पर कविता बच्चों के लिए

दिवाली पर निबंध Diwali Essay In Hindi For Class 1 To 10th

Diwali Laxmi Puja Katha दिवाली की पौराणिक कथा

एक पौराणिक कथा के अनुसार, एक गांव में साहूकार रहता था | उसकी बेटी हर दिन पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाने के लिए जाती थी | जिस पीपल के पेड़ पर वह जल चढ़ाती थी, उस पेड़ पर मां लक्ष्मी का वास था | एक दिन लक्ष्मीजी ने साहूकार की बेटी से कहा कि वह उसकी मित्र बनना चाहती हैं | लड़की ने जवाब में कहा कि वह अपने पिता से पूछकर बताएगी | घर आकर साहूकार की बेटी ने पूरी बात बताई | बेटी की बात सुनकर साहूकार ने हां कर दी | दूसरे दिन साहूकार की बेटी ने लक्ष्मीजी को सहेली बना लिया |

दोनों अच्छी सखियों की तरह एक-दूसरे से बातें करतीं | एक दिन लक्ष्मीजी साहूकार की बेटी को अपने घर ले आईं | लक्ष्मी जी ने अपने घर में साहूकार की बेटी का खूब आदर किया और पकवान परोसे | जब साहूकार की बेटी अपने घर लौटने लगी तो लक्ष्मीजी ने उससे पूछा कि वह उन्हें कब अपने घर बुलाएगी | साहूकार की बेटी ने लक्ष्मी जी को अपने घर बुला लिया, लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण वह स्वागत करने में घबरा रही थी कि क्या वह अच्छे तरह से स्वागत कर पाएगी |

साहूकार अपनी बेटी की मनोदशा को समझ गया | उसने बेटी को समझाते हुए कहा कि वह परेशान न हो और फौरन घर की साफ-सफाई कर चौका मिट्टी से लगा दे | चार बत्ती वाला दीया लक्ष्मी जी के नाम से जलाने के लिए भी साहूकार ने अपनी बेटी से कहा | उसी समय एक चील किसी रानी का नौलखा हार लेकर साहूकार के घर आ गया | साहूकार की बेटी ने उस हार को बेचकर भोजन की तैयारी की | थोड़ी ही देर में मां लक्ष्मी भगवान गणेश के साथ साहूकार के घर आईं और साहूकार के स्वागत से प्रसन्न होकर उसपर अपनी कृपा बरसाई | लक्ष्मी जी की कृपा से साहूकार के पास किसी चीज की फिर कभी कमी न हुई |

Bhai Dooj Shayari 2022 भैया दूज शायरी Happy Bhai Duj Wishes Message SMS

Happy Bhai Dooj 2022 भैया दूज की हार्दिक शुभकामना बधाई संदेश मेसेज हिंदी में

Bhai Dooj Ke Din Kya Karna Chahiye Kya Nahi भाई-बहन क्या करे क्या ना करें

Diwali Ki Kahani Katha दिवाली को लेकर प्रचलित पौराणिक कथाएं

1. एक पौराणिक कथा के अनुसार, कार्तिक अमावस्या के दिन भगवान श्री राम वनवास काटकर और रावण का वध करके अयोध्या लौटे थे | भगवान राम के अयोध्या आगमन पर लोगों ने दीप जलाकर उत्सव मनाया था | तभी से दिवाली मनाई जाती है |

2. एक अन्य कथा के अनुसार, एक नरकासुर नाम का राक्षस था | राक्षस ने अपनी असुर शक्तियों से देवता और जनमानस को परेशान कर रखा था | इतना ही नहीं, इस राक्षस ने साधु-संतों की 16 हजार स्त्रियों को बंदी बना लिया था | नरकासुर के बढ़ते अत्याचारों से परेशान देवता और साधु-संतों ने भगवान श्री कृष्ण से मदद मांगी थी | इसके बाद भगवान श्री कृष्ण ने कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को नरकासुर का वध कर देवता और संतों को उसके आतंक से मुक्ति दिलाई थी | इसके साथ ही उन्होंने 16 हजार स्त्रियों को कैद से मुक्त कराया | कहते हैं कि इसी खुशी में दूसरे दिन यानि कार्तिक मास की अमावस्या को लोगों ने घरों को दीये से सजाया | तभी से नरक चतुर्दशी और दीपावली का त्यौहार मनाया जाने लगा |

Bhai Par Kavita Poem छोटे-बड़े भाई पर हिंदी कविता

Bhai Dooj Poem 2022 भाई दूज पर कविता 2022

Bhai Dooj Essay 2022 In Hindi English भाई दूज पर निबंध 400, 200 शब्दों और 10 लाइन में

3. दिवाली को लेकर धार्मिक मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु ने राजा बलि को पाताल लोक का स्वामी बनाया था और इंद्र ने स्वर्ग को सुरक्षित पाकर खुशी से दीपावली मनाई थी |

4. एक अन्य कथा के अनुसार, दिवाली के दिन समुंद्र मंथन के दौरान क्षीरसागर से लक्ष्मी जी प्रकट हुई थीं और उन्होंने भगवान विष्णु को पति के रूप में स्वीकार किया था | तभी से दिवाली का त्योहार मनाया जाता है |

गोवर्धन पूजा के दिन क्या करें क्या न करें Govardhan Puja Ke Din Kya Karna Chahiye Kya Nahi

Diwali Laxmi Pujan Vidhi दिवाली की पूजा विधि
  • सर्वप्रथम पूजा के स्थान को स्वच्छ करें और हल्दी से चौक पूरें |
  • अब एक लकड़ी की चौकी उस चौक पर रखें |
  • इस चौकी पर लाल व सफ़ेद वस्त्र बिछाए और माता लक्ष्मी, सरस्वती जी तथा गणेश जी की मूर्ति या तस्वीर विराजमान करें |तदोपरांत पूजन के जलपात्र से जल लेकर सभी प्रतिमाओं पर छिड़कें |
  • अब पृथ्वी माता को प्रणाम करके आसन ग्रहण करें |
  • इसके बाद हाथ में अक्षत (चावल), पुष्प और जल लेकर पूजा का संकल्प करें कि मैं अमुक व्यक्ति अमुक स्थान व समय पर मां
  • लक्ष्मी, सरस्वती तथा गणेशजी की पूजा करने जा रहा हूं, जिससे मुझे शास्त्रोक्त फल प्राप्त हों |
  • अब देवी लक्ष्मी, गणेश जी व देवी सरस्वती जी का पूजन करें |
  • तत्पश्चात कलश पूजन करें फिर नवग्रहों का पूजन कीजिए |
  • उनके समक्ष सात, ग्यारह अथवा इक्कीस की संख्या में दीप प्रज्वलित करें |
  • माता श्री लक्ष्मी को श्रृंगार की सामग्री अर्पित करें |
  • अंत में सभी देवी-देवताओ से इस पूजा में हुई गलती के लिए क्षमा मांगकर पूजा संपन्न करे |

सभी देवी-देवताओ पर शायरी फोटो डाउनलोड करने, पशु-पक्षियों जिव-जंतुओ व प्रकृति से मिलने वाले शुभ-अशुभ संकेतो और राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर मनाए जाने वाले Events & Festival से सम्बंधित बधाई/शुभकामना सन्देश, शायरी FB Whatsapp Status Instagram Caption, Full HD Wallpaper Photo images DP Profile Pics इत्यादि डाउनलोड करने के लिए विजिट करे www.Rkalert.in पर | और सबसे पहले Shayari, Photo, Status डाउनलोड करने के लिए निचे दी गई Rkalert.in के सोशल मीडिया पेज को Follow व ग्रुप Join करे |

Follow On FacebookClick Here
Join Facebook GroupClick Here
Follow On TwitterClick Here
Subscribe On YouTubeClick Here
Follow On InstagramClick Here
Join On TelegramClick Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.