गणेश विसर्जन के समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है यहाँ से देखे गणपति विसर्जन की तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Ganesh Visarjan Ke Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhna Chahiye गणेश विसर्जन के समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है यहाँ से देखे Ganesh Visarjan 2022 Date Time Ganesh Visarjan Ka Shubh Muhurat Ganesh Visarjan ki Puja Vidhi Ganesh Visarjan Ka Tarika गणपति विसर्जन की तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि |

जिस प्रकार से गणेश मूर्ति की स्थापना शुभ मुहूर्त व पूरी पूजा – पाठ से की जाती है ठीक उसी प्रकार गणेश विसर्जन भी शुभ मुहूर्त में और पूरी विधि-विधान से किया जाता है | ऐसी मान्यता है कि भगवान गणेश की स्थापना व विसर्जन पूरी विधि-विधान से करने से वो हमारे सभी दुखों को हर लेते हैं और सुख-समृद्धि का वरदान देकर जाते हैं | इस पेज से आप गणपति विसर्जन के करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए Ganesh Visarjan 2022 Date And Time Shubh Muhurat Ganesh Visarjan ki Puja Vidhi Tarika Rule Niyam & Ganesh Visarjan Ke Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhe के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है |

Ganesh Visarjan Ke Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhna Chahiye

गणेश विसर्जन शुभ मुहूर्त Ganesh Visarjan 2022 Date Time Shubh Muhurat

शुभ समय में किये गए कार्य का अच्छा फल मिलाता है | इसलिए गणपति विसर्जन भी शुभ मुहूर्त यानि शुभ समय में करे | विद्वान पंडितो व ज्योतिषाचार्य द्वारा बाते गया Ganesh Visarjan 2022 Date And Time Shubh Muhurat गणेश विसर्जन शुभ मुहूर्त की जानकारी निचे दे दी गई है | आप अपनी सुविधानुसार इन शुभ समय में गणपति जी का विसर्जन करे |

गणपति विसर्जन का दिन : 9 सितंबर 2022
गणेश विसर्जन सुबह के समय में शुभ मुहूर्त – 06:03 AM से 10:44 AM तक
गणेश विसर्जन दोपहर के समय में शुभ मुहूर्त – 12:18 PM से 01:52 PM तक
गणपति विसर्जन शाम के समय में शुभ मुहूर्त – 04:59 PM से 06:33 PM तक
गणेश विसर्जन रात के समय में शुभ मुहूर्त – 09:26 PM से 10:52 PM व  12:18 AM से 04:37 AM तक (1.0 सितंबर)

गणेश विसर्जन के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त

प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – 06:03 AM से 10:44 AM
अपराह्न मुहूर्त (चर) – 04:59 PM से 06:33 PM
अपराह्न मुहूर्त (शुभ) – 12:18 PM से 01:52 PM
रात्रि मुहूर्त (लाभ) – 09:26 PM से 10:52 PM
रात्रि मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) – 12:18 AM से 04:37 AM, सितम्बर 10

गणेश विसर्जन करते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है Ganesh Visarjan Karte Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhe

गणपति बाप्पा की 10 दिनों तक पूजा पाठ करने के बाद विसरजं के दौरान हम कुछ गलतिया कर बैठते है जिसकी वजह से हमे पूजा का पूरा फल नहीं मिलता | अगर आप जानना चाहते है की गणेश जी महाराज को प्रसन्न करने व मनोकामना पूर्ण करने के लिए गणपति विसर्जन के दौरान किन बातो का ध्यान रखना चाहिए तो हम यहाँ आपके लिए Ganesh Visarjan Karte Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhe गणेश विसर्जन करते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है के बारे में जानकारी लाए है | आइये जानते है गणेश विसर्जन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहए Ganesh Visarjan Karte Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhna Chahiye.

  • जिस दिन आपको भगवान गणेश का विसर्जन करना हो तो उससे पहले सबसे पहले मंगलमूर्ति की आरती करें |
  • घर से गणेश जी की प्रतिमा लेकर जाते समय इस बात का ध्यान रखें कि प्रतिमा की मुख घर के अंदर की ओर हो, न कि पीठ |
  • विसर्जन के पूर्व श्रीगणेश से जाने-अनजाने में हुई अपनी गलतियों के लिए क्षमा मांगे और प्रार्थना करें कि आपके घर में सदैव सुख-समृद्धि का वास हो |
  • विसर्जन के पूर्व नदी या तालाब के किनारे एक बार पुन: श्रीगणेश की आरती करें. इसके बाद ससम्मान प्रतिमा का विसर्जन करें |
  • श्री गणेश प्रतिमा को फेंकें नहीं उन्हें पूरे आदर और सम्मान के साथ वस्त्र और समस्त सामग्री के साथ धीरे-धीरे बहाएं |
  • गणेश विसर्जन की पूजा में नील और काले रंग के कपडे नहीं पहनने चाहिए |
  • गणपति विसर्जन के समय आपका मुह उत्तर दिशा में हो |
  • गणेश जी महाराज की मूर्ति विसर्जन के बाद पानी और मुट्टी पर पैर नहीं लगना चाहिए
  • मूर्ति विसर्जन का पानी तुलसी के पौधे में न डाले |
  • मूर्ति को अपने आप गलने दे |
  • मूर्ति को गलने के लिए पूर्व या उत्तर दिशा में रखना चाहिए |

Ganesh Visarjan Ke Samay Kin Bato Ka Dhyan Rakhna Chahiye

Ghar Me Ganesh Visarjan Karne Ka Tarika
  • सबसे पहले एक गमले में पानी दाल ले |
  • अब मूर्ति को इस गमले में विसर्जित करे |
  • मूर्ति को गलने के लिए पूर्व या उत्तर दिशा में रखना चाहते |
  • मूर्ति विसर्जन का पानी तुलसी के पौधे में न डाले |

Ganesh Visarjan Status Shayari Photo Quotes गणेश विसर्जन की शुभकामनाएँ बधाई सन्देश

गणेश विसर्जन की कहानी Ganpati / Ganesh Visarjan Story Kahani Katha

गणेश महोत्सव का आखिरी दिन गणेश विसर्जन की परंपरा है | 10 दिवसीय महोत्सव का समापन अनंत चतुर्दशी के दिन विसर्जन के बाद होता है | परंपरा है कि विसर्जन के दिन गणपति की मूर्ति का नदी, समुद्र या जल में विसर्जित करते हैं | इसके पीछे एक दिलचस्प कहानी है | ऐसा माना जाता है कि श्री वेद व्यास जी ने गणपति जी को गणेश चतुर्थी के दिन से महाभारत की कथा सुनानी शुरू की थी, उस समय बप्पा उसे लिख रहे थे | कहानी सुनाने के दौरान व्यास जी आंख बंद करके गणेश जी को लगातार 10 दिनों तक कथा सुनाते रहे और गणपति जी लिखते गए | कथा खत्म होने के 10 दिन बाद जब व्यास जी ने आंखे खोली तो देखा कि गणेश जी के शरीर का तापमान काफी ज्यादा बढ़ गया था | ऐसे में व्यास जी ने गणेश जी के शरीर को ठंडा करने के लिए जल में डुबकी लगवाई | तभी से यह मान्‍यता है कि 10वें दिन गणेश जी को शीतल करने के लिए उनका विसर्जन जल में किया जाता है |

Ganesh Visarjan Pooja Vidhi Ganpati Bappa Ka Visarjan Karne Ka Tarika गणेश विसर्जन पूजा विधि

अगर आप गणेश जी महाराज का विसर्जन पुरे विधि विधान से करोगे तो अवश्य गणपति बाप्पा प्रसन्न होंगे और आपकी हर मनोकामना पूरी करेंगे | अगर आप Ganesh Visarjan Karne Ki Vidhi Ganesh Visarjan Pooja Vidhi Ganpati Bappa Ka Visarjan Karne Ka Tarika नहीं जानते तो इस पेज को स्क्रॉल कर Ganesh Visarjan Pooja Vidhi Ganpati Bappa Ka Visarjan Karne Ka Tarika गणेश विसर्जन पूजा विधि देखे |

  • भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जित करने से पहले एक लकड़ी की पटरी पर गंगाजल डालकर उस पर घर की महिलाएं स्वास्तिक बनाएं |
  • अब पटरी पर अक्षत डालकर उसपर गुलाबी, पीला या लाल रंग का कपड़ा बिछा दें |
  • कपड़ा बिछाने के बाद उस स्थान पर बप्पा की प्रतिमा रख दें |
  • बप्पा को पटरी पर स्थापित करने के बाद उस पर फूल, फल और मोदक का भोग लगाएं |
  • गणेश जी को विदा करने से पहले प्रतिमा की विधिवत पूजा करें |
  • भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जित करने से पहले बप्पा को नए वस्त्र पहनाएं |
  • बाद में एक रेशमी कपड़े में मोदक, पैसा, दूर्वा घास और सुपारी को रखकर बांध दे और उस पोटली को बप्पा की प्रतिमा के पास रख दें |
  • अब घर के सभी सदस्य एक साथ बप्पा की आरती करते हुए बप्पा मोरिया रे, बप्पा मोरिया रे की जयकार लगाएं |
  • बाद में सभी लोग एक साथ हाथ जोड़कर बप्पा की प्रतिमा के सामने उनसे क्षमा मांगे |
  • भगवान के सामने कहें, कि अगर इस पूजा में हमसे कोई भी गलती हो गई हो, तो हे प्रभु उसे क्षमा करना |
  • अब बप्पा की मूर्ति विसर्जन करने के लिए ले जाए |
  • ध्यान रखें कि विसर्जन करते समय बप्पा की प्रतिमा से निकले अन्य चीज इधर-उधर नहीं गिरने। उसे भी मान-सम्मान के साथ जल में प्रवाह कर दें |
गणेश विसर्जन करते वक्त इन मंत्रों का करें जाप

सभी भक्त व श्रद्धालु ध्यान रखे की गणेश विसर्जन करते समय निचे दिए गए मंत्र का जाप अवश्य करे |

वक्र तुण्डाय हुं
मेधोल्काय स्वाहा
गं गणपतये नमः
हस्तिपिशचिलिखे स्वाहा
ऊँ ह्रीं गं हस्तिपिशाचिलिखे स्वाहा
ऊँ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वरवरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा

Follow the page of Rkalert.in to download all National And International Events & Festival’s congratulatory messages, Shayari, Quotes, Photo, images, HD Wallpaper, FB Whatsapp Status

Follow On FacebookClick Here
Join Facebook GroupClick Here
Follow On TwitterClick Here
Subscribe On YouTubeClick Here
Follow On InstagramClick Here
Join On TelegramClick Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.