Balika Diwas Par Kavita National And International Girl Child Day Poem in Hindi Save Girl Child Hindi Poem राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर कविता

Best Short And Long Poem on Save Girl Child 2021 Balika Diwas Par Kavita Poem National International Girl Child Day Poem Kavita in Hindi : महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए हर साल राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बालिका दिवस मनाया जाता है | बहुत सी स्कूलो, कॉलेजो, निजी व सरकारी संस्थाओ में बालिका दिवस पर कार्यक्रम, प्रतियोगिता व महिला संरक्षण के लिए रैली का आयोजन किया जाता है | यहाँ सरल हिंदी भाषा में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर कविता बेटियों पर कविता Poem on Girl Child Day in Hindi National International Girl Child Day Poem Kavita लेकर आये है |

Girl Child Day Poem Kavita

Girl Child Day Poem राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर कविता

इस लेख में आपके लिए बालिका दिवस पर कविता National International Girl Child Day Poem Kavita Hindi Poem on Girl Child Beti Bachao Beti Padhao Poems Save Girl Child Poem in Hindi बेटि पर हिन्दी कविताओं का एक बहुत बढ़िया कलेक्शन लेकर आए है | अगर आप बालिका दिवस कविता प्रतियोगिता में भाग ले रहे है तो ये काविताए Girl Child Day Poem Kavita आपके लिए मददगार साबित होगी | यदि आप अपनी मनपसंदीदा “Short & Long Poem on Girl Child Day” कविता इस पेज में जोड़ना चाहते है तो हमारे साथ शेयर करे |

National And International Girl Child Day Kavita Poem in Hindi

बहुत चंचल बहुत खुशनुमा सी होती हैं बेटियाँ
नाजुक सा दिल रखती हैं, मासूम सी होती हैं बेटियाँ
बात बात पर रोती हैं, नादान सी होती हैं बेटियाँ
रहमत से भरभूर खुदा की नेमत हैं बेटियाँ
हर घर महक उठता है, जहाँ मुस्कुराती हैं बेटियाँ
अजीब सी तकलीफ होती हैं, जब दूर जाती हैं बेटियाँ
घर लगता है सूना – सूना पल – पल याद आती हैं बेटियाँ
खुशी की झलक और हर बाबुल की लाड़ली होती हैं बेटियाँ
ये हम नहीं कहते ये तो रब कहता है
कि जब मैं खुश रहता हूँ जो जन्म लेती हैं बेटियाँ |

Poem on Baby Girl in Hindi

फूलों सी नाज़ुक, चाँद सी उजली मेरी गुड़िया।
मेरी तो अपनी एक बस, यही प्यारी सी दुनिया।।
सरगम से लहक उठता मेरा आंगन।
चलने से उसके, जब बजती पायलिया।।
जल तरंग सी छिड़ जाती है।
जब तुतलाती बोले, मेरी गुड़िया।।
गद -गद दिल मेरा हो जाये।
बाबा -बाबा कहकर, लिपटे जब गुड़िया।।
कभी घोड़ा मुझे बनाकर, खुद सवारी करती गुड़िया।
बड़ी भली सी लगती है, जब मिट्टी में सनती गुड़िया।।
दफ्तर से जब लौटकर आऊं।
दौड़कर पानी लाती गुड़िया।।
कभी जो मैं, उसकी माँ से लड़ जाऊं।
खूब डांटती नन्ही सी गुड़िया।।
फिर दोनों में सुलह कराती।
प्यारी -प्यारी बातों से गुड़िया।।
मेरी तो वो कमजोरी है, मेरी सांसो की डोरी है।
प्यारी नन्ही सी मेरी गुड़िया।।

Short Poem on Girl Child in Hindi

मेहँदी बोली कुमकुम का त्यौहार नहीं होता-
रक्षाबंधन के चन्दन का प्यार नहीं होता-
इसका आँगन एक दम सूना-सूना सा रहता है-
जिसके घर में बेटी का अवतार नहीं होता-
जिस धरती पर से मात्र शक्ति का मान नहीं जा सकता है-
नर के नारी से सम्मान नहीं जा सकता है-
बेटा घर में हो तो बेशक सीना ठंडा रह जाये-
बेटी घर में हो तो भूखा मेहमान नहीं जा सकता…

Hindi Poem on Girl Respect

घर की जान होती हैं बेटियाँ,
पिता का गुमान होती हैं बेटियाँ,
ईश्वर का आशीर्वाद होती हैं बेटियाँ,
यूँ समझ लो कि बेमिसाल होती हैं बेटियाँ.
बेटो से ज्यादा वफादार होती हैं बेटियाँ,
माँ के कामों में मददगार होती हैं बेटियाँ,
माँ-बाप के दुःखको समझे, इतनी समझदार होती हैं बेटियाँ,
असीम प्यार पाने की हकदार होती हैं बेटियाँ.
बेटियों की आँखे कभी नम ना होने देना,
जिन्दगी में उनकी खुशियाँ कम ना होने देना,
बेटियों को हमेशा हौसला देना, गम ना होने देना,
बेटा-बेटी में फर्क होता हैं, ख़ुद को ये भ्रम ना होने देना.

 National Girl Child Day Images Photo HD Wallpaper
 Girl Child Day Shayari Wishes Message FB Whatsapp Status
 National & International Girl Child Day Quotes In Hindi English
 Best Powerful Save Girl Child Slogans Nare
 International Girl Child Day Photo Images Poster Drawing Photo

Poem on International Day of the Girl Child in Hindi

आप बालिका दिवस पर कविता बेटियों पर कविता पढ़ने व डाउनलोड करने के लिए इस प्रकार से भी खोजे international girl child day poem in hindi national girl child day poem in hindi girl child poem in hindi girl child day poem poem on girl child day in hindi Beti Bachao Beti Padhao Poems short poem on girl child in hindi hindi poem on girl child killing hindi poem on girl respect hindi poem on girl child education poem on national girl child day save girl child poem in hindi poem on baby girl in hindi emotional poem on beti in hindi etc.

Hindi Poem on Girl Child Killing

कन्या भ्रूण का हो क्यों हनन?
इस पर थोड़ा करो मनन!
जीव का है जीवन अधिकार
फिर क्यों उस पर अत्याचार?
जननी जन्मदायिनी कन्या,
इससे चलता है संसार,
नाम हो कुल का बेटे से,
तो वंश पनपता बेटी से,
बेटी बिना है सूना जीवन,
बिन चिडि़या के जैसे आँगन,
बिन खुशबू के चंदन काठ,
कन्या भ्रूण पर कुठाराघात,
है समाज का घोर कलंक,
भर लो उसको अपने अंक।

Save Girl Child Poem in Hindi

कहती है एक लड़की जमाने की ये कहानी
जन्म लड़की का मिला है यही है उसकी नादानी
सभी कहते है ये उससे तेरी मुस्कान बड़ी सुदंर
मगर ये रीत कैसी है वो बाहर हसँ नही सकती।
है वो सपनो की दुनिया मे है चाहत चाँद छूने की
जमाने की ये हरकतें है बेड़ी उसकी राह की
कुछ कहते हैं, लड़की है कहाँ जायेगी ये अकेली
कोई कहता है दुनिया है नही बाहर निकलने की।
कोई कहता संभल चलना तू इज्जत है दो घरो की
घर वाले सभी कहते राजकुमारी है हमारी
कोई कहता के नाजुक सी कली मेरे घरौदे की
मगर ये है कली कैसी जो कभी खिल नही सकती।

 बालिका दिवस बेटी बचाओ पर सर्वश्रेष्ठ नारे स्लोगन
 राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर शायरी स्टेटस बधाई सन्देश
 बालिका दिवस पर कोट्स अनमोल वचन सुविचार

Save Girl Child Hindi Poem बेटियों पर कविता

हम उम्मीद करते है की आपको यह Girl Child Day Poem कलेक्शन बेहद पसंद आयेगा | इन Save Girl Child Poem को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों व प्रियजनों के साथ सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करे | ऐसे ही प्रेरणादायक कविता नारे कोट्स शायरी स्टेटस फोटो वॉलपेपर डाउनलोड करने के लिए हमारे पोर्टल www.Rkalert.in पर विजिट करे | यहाँ से आप सरकारी नौकरी व बोर्ड, यूनिवर्सिटी से सम्बंधित लेटेस्ट अपडेट जैसे परीक्षा दिनांक, टाइम टेबल, एडमिट कार्ड व रिजल्ट देख सकते है |

Download National Girl Child Day Shayari Photo Status Pics images

One comment

  1. भ्रूण से बुढ़ी होने तक,
    हर छण तुम सजग रहना ।
    ना पड़े बुरी नजर लाडो पर ,
    तू ऐसी अपनी नजर रखना ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.