हिंदी दिवस पर शायरी – Hindi Diwas Shayari in Hindi 2018

राष्ट्रीय हिंदी दिवस हर साल 14 सितम्बर को मनाते हैं. 14 सितंबर 1949 यह वों दिन था, जब हमारी मातृभाषा को संविधान ने राजभाषा का दर्जा प्रदान किया था. इसी दिन को मद्देनजर रखते हुए आज हम 14 September 2018 को Hindi Diwas मना रहे हैं. स्कूलों में आयोजित कार्यक्रमों में छात्र हिंदी दिवस पर शायरी, भाषण, निबंध, कविता बोलकर अपनी मातृभाषा को अपनाने का संकल्प दोहराते हैं. इसी अवसर पर आरकेअलर्ट की टीम आपके साथ Hindi Diwas Shayari 2018 हिंदी दिवस की शायरी पेश कर रहे हैं.

हमारी राजभाषा हिंदी को बढ़ावा देने की खातिर ही हिंदी दिवस मनाया जाता हैं. इसे पहली बार नेहरु सरकार में 1953 से हर साल मनाने का निर्णय किया गया था. देशभर के निजी व सरकारी स्तर के सभी प्रकार के कार्यालयों व संस्थानों में इसे बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता हैं.

हिंदी दिवस उन लोगों के लिए घर वापसी का तरीका है जो अपनी मातृभाषा को छोड़कर अन्य भाषाओं के प्रेम में अभी भी पड़े हैं. वक्त रहते उन्हें जाग जाना चाहिए, एवं हमें गर्व के साथ कहना चाहिए कि हम इस देश के हिन्दीभाषी हैं.

हिंदी दिवस पर शायरी के इस आर्टिकल में अपने दोस्तों व रिश्तेदारों को इस महापर्व की बधाई व शुभकामनाएँ प्रेषित करने के लिए हिंदी दिवस विशेस का पिटारा लेकर आए हैं. हमें आशा है आप इसे अपने फ्रेड्स के साथ जरुर साझा करेगे.

हिंदी दिवस की शायरी – Shayari on Hindi Diwas in Hindi 2018

2018 हिंदी दिवस पर शायरी, हिंदी दिवस के लिए शायरी, राजभाषा हिंदी की शायरी, हैप्पी हिंदी दिवस 2018 शायरी, हिंदी डे की शायरी, राष्ट्रीय हिंदी भाषा दिवस पर शायरी.

Hindi Diwas 2018 Shayari, Hindi Diwas ki Shayari 2018, Best Shayari On Hindi Diwas 2018 In Hindi, Hindi Bhasha ki Shayari, Shayari Sms Wishes Slogans On Hindi Diwas In Hindi Language.

जैसे शत रंगों के मिल्न से
खिलता है प्यारा वसंत
वैसे ही भाषाओं की मिश्री सी
बोलती है हिंदी भाषा


राष्ट्र भाषा सभी जन के लिए आवश्यक है, भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी ही बन सकती हैं.


हाँ मैं हिंदी हूँ मेरा ठिकाना
प्यारा हिन्दुस्तान है.


ये भारत की शान हैं, हिंदी हमारी जान हैं.


आर्याव्रत के ललाट की बिंदी
हमारी प्यारी हिंदी


बिंदी बिन नारी का श्रृंगार अधुरा
हिंदी बिन यह देश कैसे पूरा


हर दिल की यही अभिलाषा, हिंदी हो इस देश की राष्ट्रभाषा (हिंदी दिवस पर शायरी)


भारत की कहानी अब
हिंदी में ही है सुनानी


आज स्याही से लिख दो तुम पहचान अपनी, हिंदी हो तुम, हिंदी से सीखो करना प्यार।


इसीलिए कहते है भारत महान
बनी है हिंदी इस वतन की शान


जन जन का यही है कहना अब
हिंदी का अपमान क्यों सहना


जब तक ये धरती आसमा रहेगा
हिंदी तेरा नाम दिलों जान में रहेगा


जों अपनी माँ की भाषा की इज्जत करते हैं, दुनियां उनकी इज्जत करती हैं.


क्यूँ न कहे कोई यह नारा
राष्ट्र भाषा बिन भारत अधुरा


विकसित राष्ट्र की यही पहचान
जिनकी हो एक भाषीय पहचान


आऊं इक साथ बढ़े
हिंदी को अपनाएं


जन जन की यही आशा है
हिंदी हमारी मातृभाषा हैं
तोड़े यह संकीर्णता के बंधन
हिंदी सारे वतन को एक धागे में जोड़े


तभी है भारत महान,
हिंदी है देश की शान


वों वक्त भी आएगा, जब चहुओर हिंदी की पताका लहराएगी
इस जहाँ का हर भाषाभाषी भारतीय कहलाएगा

इन हिंदी दिवस पर शायरी के संग्रह को पढ़कर आपकों भी गर्व होना चाहिए कि आप भी एक हिंदी भाषी हो. दोस्तों हिंदी को बढ़ावा तभी मिलेगा, जब हम जागेगे, इसे इतना शेयर करों कि हर हिन्दीभाषी यह पेज खोले.

हिन्दी दिवस शायरी हिंदी में – Hindi Diwas Shayari in Hindi 2018 इस लेख में आप स्वयं रचित कोई शायरी जोड़ना चाहते हैं तो प्लीज कमेंट कर जरुर बताएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.