Pink city Jaipur Main tourist Destination जाने जयपुर शहर के मुख्य पर्यटन स्थलों के बारे में चौकाने वाले रहस्य

Pink city Jaipur Main tourist Destination Jaipur city area name list Jaipur city attractions Jaipur a pink city Jaipur a heritage city Jaipur city day tour Jaipur city ghumne ki jagah Jaipur city history Jaipur city hawa mahal Jaipur city information in Hindi The Jaipur is popularly known as the Pink City of Rajasthan, which is not only Pink but also the most colorful city of India. The city is the

Pink City Jaipur

mixture and combination of Indian culture and modern experiences. Jaipur is probably the first planned city of India. It was planned to design in Pink color, as the color signs for hospitality.  The Hawa Mahal was built for the royal women to enjoy festivals and events. It is made of beautiful pink and red sandstone.Pink city Jaipur Main tourist Destination It is best to visit Jal Mahal when it is raining, It looks dreamlike and breathtaking under the night sky.Best part at Amber Fort is to witness a Kathak performance on a full moon night. Nahargarh fort beautifully displays the unique blend of Indian and European architectural style. Jaipur has hot-air balloon safari to take the fascinating view of the forts & palaces and entire Jaipur city with its colors.Pink city Jaipur Main tourist Destination 

हेल्लो दोस्तों आज हम भारत के सबसे बड़े राज्य राजस्थान की राजधानी जयपुर की बात करते है जयपुर एक विश्व प्रसिद्ध शहर हैं | जयपुर को महाराजा जयसिंह द्वितीय ने 18 नवम्बर 1726 में अपने राज्य के रूप में बनवाया था | और महाराजा के नाम पर ही जयपुर का नाम रखा दिया गया |जयपुर को गुलाबी नगरी के नाम से भी जाना जाता है | एक बार इंग्लैंड की महारानी एलिज़ाबेथ और युवराज अल्बर्ट जयपुर आये थे|तब पुरे जयपुर नगरी को गुलाबी कलर किया गया था|

यहा पर धोलपुर के पथरो से दीवारे बनाई गई हैं | जयपुर मैदानी सूखी झीलो में बसा हुवा हैं | जिसके तीन ओर अरावली पर्वत माला है | जयपुर के चारो और एक बड़ी दीवार बनाई गई है | जयपुर को पिंक सिटी के नाम से भी जाना जाता हैं| और सबसे ज्यादा तो जयपुर को यहा की हवेली व पर्यटक स्थलों के रूप में जाना जाता हैं |

जयपुर सिटी की दीवार

जयपुर शहर की दीवार, पुरे शहर को घेरे हुए है. इसे 1727 में महाराजा जय सिंह 2 द्वारा बनवाया गया था. यह 6 फीट ऊँची और 3 मीटर चौड़ी है. इस दीवार में 7 गेट भी बनाये गये हैं | Something new to the city flavor is exploring the city while cycling. Cycle in Jaipur and Virasat Experiences gives you a bicycle to help you experience the Pink city in the most different way. 

 

जयपुर की स्थापना कब हुई आप भी पूरी जानकारी प्राप्त करे ?

Jaipur is a standout amongst the most socially rich legacy urban areas in India. Established in the year 1727, the city is named after Maharaja Jai Singh II who was the primary organizer of this city.  दोस्तों आज हम आपके लिए भारत के सबसे बड़े राज्य राजस्थान की राजधानी जयपुर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं | जयपुर को आमेर पर शासक महाराज जयसिंह द्वितीय ने 18 नवम्बर 1726 में बनाया था,  और उन्हीं के नाम पर इसका नाम रखा गया गया। जयपुर को गुलाबी शहर (पिंक सिटी) के नाम से भी जाना जाता है |Also known as the Pink City, Jaipur serves as a gateway to other prominent tourist destinations of the state such as Jodhpur, Udaipur and Jaisalmer.

Pink City

स्वतंत्रता के बाद इस रियासत का विलय भारतीय गणराज्य में हो गया। जयपुर सूखी झील के मैदान में बसा है जिसके तीन ओर की पहाड़ियों की चोटी पर पुराने क़िले हैं। यह बड़ा सुनियोजित नगर है। बाज़ार सब सीधी सड़कों के दोनों ओर हैं और इनके भवनों का निर्माण भी एक ही आकार-प्रकार का है। नगर के चारों ओर चौड़ी और ऊँची दीवार है, जिसमें सात द्वार हैं। यहाँ के भवनों के निर्माण में गुलाबी रंग के पत्थरों का उपयोग किया गया है, इसलिए इसे गुलाबी शहर भी कहते हैं। जयपुर में अनेक दर्शनीय स्थल हैं, जिनमें हवा महल, जंतर-मंतर, जल महल, आमेर का क़िला और कुछ पुराने क़िले अधिक प्रसिद्ध हैं।

  जयपुर सिटी के मुख्य पर्यटन स्थल की जानकारी

राजस्थान राज्य के जयपुर शहर को पर्यटन स्थल के रूप जाना जाता है| इसमें हवेलियां, दुकान और बाजार को मुख्य मार्ग से व्यवस्थित किया गया हैं | तथा यहा पर प्रसिद्ध पर्यटक स्थल हैं

  • Hawa Mahal
  • Jal Mahal
  • Amer Fort
  • Nahargarh Fort
  • Shopping in Jaipur
  • Chokhi Dhani
  • Food exposures
  • Heritage Hotels
  • Ranthambore National Park
  • Hot-air Balloon Safari
  • Raj Mandir
  • Jantar Mantar
  • Jaipur Literature Festival
  • Statue Circle Garden
  • Birla Mandir
  • Jawahar Circle Garden
  • Cultural Attraction
  • City Palace
  • Cycle City Tour
  • Pink city Jaipur Main tourist Destination
  • jaipur city area name list
  • jaipur city attractions
  • jaipur a pink city
  • jaipur a heritage city
  • jaipur city day tour
  • Hawa Mahal-Hawa Mahal is one of the important hallmarks of Jaipur that attracts tourists from all over the world
  • City Palace-This is one of the architectural wonders that reflects a perfect blend of the Rajasthani and Mughal architectural style
  • Jantar Mantar-This famous observatory was built to study the movements of stars and planets
  • Albert Hall-This magnificent building is the store house of artifacts and paintings of the past
  • Jaigarh Fort-This fort gives a birds eye view of Jaipur
  • Rambagh Palace-This is the former residence of Maharaja of Jaipur, and now one of the luxurious hotels in Jaipur
  • Amber Fort-Built by Meenas and later ruled by Raja Man Singh I, this fort witnesses numerous tourists all through the year
  • Birla Mandir-It is a wing of several Birla Mandir located across the country. Also known as Lakshmi Narayan Temple, this temple looks stunning at night.

हवा महल

हवा महल  जयपुर का मुख्य आकर्षण पर्यटक केन्द्रों में से एक है | इस महल का निर्माण महाराजा सवाई प्रताप सिंह के द्वारा करवाया गया था. और यह जयपुर के दक्षिण में स्थित है। यह महल शाही सिटी पैलेस का हिस्सा है और जनाना कक्ष तक फैला है। हवा महल में हवा के आने जाने के लिए 953 खिड़कियाँ बताई गई है, इसलिए इसे हवामहल नाम दिया गया. 5 मंजिला इस ईमारत में उपर जाने के लिए सीढियां नहीं बनाई है, इसमें ढलान के द्वारा उपर जाया जा सकता है. कुछ लोगो का मानना है कि इसे राजपुताना महिलाओं के लिए बनवाया गया था, ताकि वे महल के अंदर से ही पुरे शहर को देख सकें, लेकिन उन्हें बाहर से कोई न देख सके. इसे लाल गुलाबी पत्थरों से बनवाया गया है. यहाँ पुरातात्विक संग्रहालय भी है,

हवा महल की रोचक बातें जो शायद आप नहीं जानते हैं ?

  • यह विश्व का सबसे ऊँचा महल है.
  •  आपको हवा महल के अंदर जाना है तो आपको पिछले भाग से जाना होंगा.
  • हवा महल में कुल पाँच मंजिले है
  • यह महल सफलता से अपनी जगह पर 87 डिग्री के एंगल में खड़ा है.
  • पैलेस ऑफ़ विंड्स ही हवा महल का दूसरा नाम है.
  • हवा महल को ठंडा रखने के लिए कुल 953 खिड़कियाँ है
  • जयपुर के सभी शाही लोग इस महल का उपयोग गर्मियों में आश्रयस्थल की तरह करते है.
  • हवा महल को लाल चंद उस्ताद ने डिज़ाइन किया था.
  • यह महल विशेषत शाही महिलाओ के लिये बनवाया गया था.
  • इस महल को बनाने का उद्देश्य शाही महिलाओ को बाज़ार और महल के बाहर हो रहे उत्सवो को दिखाना था.
  • एक एकमात्र ऐसा महल है जो मुग़ल और राजपूत आर्किटेक्चरल स्टाइल में बना हुआ है.
  •  यह महल भारतीयो और अंतर्राष्ट्रीय फिल्मो का पसंदीदा शूटिंग स्पॉट आज भी बना हुआ है.
  • हवा महल में ऊपरी मंजिल में जाने के लिए केवल ढालू रास्ता है, वहाँ ऊपर जाने के लिये कोई सीढ़ी नही बनी है.
  • हवा महल को महाराजा सवाई प्रताप सिंह ने 1799 में बनवाया था.
  •  यह पाँच मंजिले पिरामिड के आकार में बनी हुई है जिसकी ऊँचे आधार से 50 फ़ीट बड़ी है.
  • भगवान श्री कृष्ण के राजमुकुट के आकार के अनुसार हवा ही महल को बनाया गया है.
  • हवा महल की खिड़कियों पर  लगी जाली चेहरे पर लगे परदे के समान काम करती है |

जयपुर सिटी पैलेस

ये जयपुर के पूर्वोत्तर भाग में स्थित है सिटी पैलेस जयपुर का फेमस एक पर्यटक स्थल है. इसे सवाई जय सिंह ने 1729 से 1732  में बीच बनवाया था. और सिटी पैलेस राजाओं का तख्त रहा है। इसमें भारतीय और यूरोपीय वास्तुकला शैली का सटीक मिश्रण है। इस महल के परिसर में चन्द्र महल, प्रीतम निवास चौक, दीवान-ए-खास, दीवान-ए-आम, महारानी पैलेस, भग्गी खाना, गोविन्द देव जी मंदिर और मुबारक महल  शामिल है| चंद्र महल सिटी पैलेस का सबसे भीतरी किला है। और अब चन्द्र महल को संग्रहालय में बदल दिया गया है, जहाँ हथकरघा उत्पाद और अन्य समान मौजूद है, जो राज्य की सांस्कृतिक विरासत को दर्शाता है. यहाँ की वास्तुकला को देख आप मंत्रमुग्ध हो जायेंगे, साथ ही यहाँ से आप पुरी पिंक सिटी को देख व महसूस कर सकते हैं|

आमेर  किला

इसे अम्बर किला भी कहते है. यह आमेर में स्थित है, जो जयपुर से 11 किलोमीटर दूर स्थित है. आमेर किले के नाम से मशहूर इस खूबसूरत किले को महाराजा मान सिंह प्रथम ने बनवाया था. जिसे बाद में राजा जय सिंह प्रथम द्वारा और बढ़ाया गया था. लाल बलुआ पत्थर और संगमरमर के पत्थर को मिलाकर इसका निर्माण हुआ था, जो हिंदू-मुस्लिम वास्तुकला के एक मिश्रण को दर्शाता हैं.इसमें शाही विरासत का दीवान-ए-आम, दीवान-ए-खास, शीश महल और सुख निवास जिसमें एयर कंडीशनर का प्रभाव देने के लिए एक सरल और प्राकृतिक जल प्रवाह भी बनाया गया है  इसका मुख्य द्वार पूर्व की ओर है, इसके अलावा 3 और द्वार है. अंबर पैलेस में चार आंगन हैं, जहाँ दीवान-ए-आम भी है.आपातकालीन रास्ता भी है जो इसे जयगढ़ किले से जोड़ता है।

जंतर मंतर वेधशाला

यह विश्व की सबसे बड़ी वेधशालाओं में से एक है. जिसको महाराजा जय सिंह दितीय के समय इसे बनवाया गया था, इस वेधशाला को आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया जा चुका है और इसमें खगोलीय उपकरणों का बहुत बड़ा संग्रह है। यह खगोलीय वेधशाला दुनिया की सबसे बड़ी वेधशाला है| महाराजा जय सिंह द्वितीय को वास्तुकला, खगोल विज्ञान, दर्शन सहित विभिन्न विषयों में रुचि थी. , जिस वजह से उन्होंने देश की सबसे बड़ी वेधशाला का निर्माण शुरू करवाया. उस समय वहां ज्यामितीय डीवाईस भी उपलब्ध था, जिसके द्वारा समय को मापते थे, इसमें 14 स्थापित और ध्यानकेंद्रित उपकरण हैं जो समय को मापने, ग्रहणों की भविष्यवाणी करने, तारों की निगरानी करने और सूर्य के चारों ओर धरती की कक्षा का पता लगाने के लिए लगाए गए हैं। और सबसे बड़े स्टार की आसपास कक्षाओं का अवलोकन किया करते थे. इन खगोलीय उपकरणों ने दुनिया भर के खगोलविदों और आर्किटेक्टर को अपनी ओर आकर्षित किया था.

जयगढ़ किला

जयगढ़ किला अरावली रेंज में, चील का टीला पर स्थित है. यहाँ से आमेर पैलेस भी दिखाई देता है. इसे 1726 में आमेर पैलेस की रक्षा के लिए जय सिंह के द्वारा बनवाया गया था. और इसे विद्याधर नाम के वास्तुकार ने डिज़ाइन किया था इसकी संरचना आमेर पैलेस के जैसे ही है, इसे विजय किला के नाम से भी जाना जाता है|

नाहरगढ़ किला

अरावली की पहाडि़यों के किनारे पर स्थित नाहरगढ़ किले से गुलाबी शहर जयपुर का मनोरम नज़ारा दिखता है। इसका नाम पहले सुदर्शन गढ़ था, इस खूबसूरत किले के कमरे एक लंबे गलियारे से जुड़े हैं। लेकिन कहते है, जब ये बन रहा था, तब राजा नाहर सिंह की आत्मा यहाँ अंदर मौजूद थी और इसके निर्माण कार्य को देख रही थी, जिसके बाद इसका नाम नाहरगढ़ रख दिया गया. इसे 1734 में बनवाया गया था, जिसे 1864 में फिर से और बढ़ाया गया था. आमिर खान की फिल्म ‘रंग दे बसंती’ के कुछ सीन यहाँ लिए गए थे , इसके अलावा शुद्ध देशी रोमांस फिल्म के लिए भी सीन लिया गया था |

रामगढ़ झील

यह मानव निर्मित झील हैं और जमवा रामगढ़ के पास स्थित है. यह जयपुर से 32 किलोमीटर दूर स्थित है.  यह झील जयपुर की सुंदरता को बढ़ाकर इसे रेगिस्तान का स्वर्ग बना देती है।  1982 में एशियन गेम्स में नौकायन का इवेंट इसी झील में हुई थी . बरसात के समय ये झील पूरी तरह भर जाती है, जिससे यह के लोगों के लिए मुख्य पिकनिक स्पॉट बन जाता है|

जयपुर का आधुनिकरण

राजस्थान राज्य के जयपुर शहर का इतिहास व स्थापना और खूबसूरत दर्शनीय पर्यटन स्थलों के साथ साथ  आधुनिकरण में भी दुनिया में एक नाम हैं| जयपुर विश्व के आधुनिक क्षेत्र में भी पीछे नही यहा पर अनेक आधुनिकरण के कर्यो में नाम हैं |जैसे :- मेट्रो ट्रेन होटल आदि

जयपुर मेट्रो रेल

(जयपुर मेट्रो रेल) भारत के राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर में मेट्रो रेल प्रणाली का नाम है | जयपुर में मेट्रो को लाने का काम बड़े समय से चल रहा था| जयपुर में मेट्रो के प्रॉजेक्ट को 5 अगस्त  2010 को जयपुर मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड और दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गये थे | जयपुर मेट्रो प्रॉजेक्ट की कीमत 11 अरब रुपय आकी गई थी |

जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन

जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन शोर्ट नाम, जेपी जयपुर में एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। जयपुर 2002 के बाद से भारतीय रेल के उत्तर पश्चिमी रेलवे मुख्यालय के रूप में भी कार्य कर रहा है। यह अंतरराज्यीय बस टर्मिनल सिंधी कैम्प के नजदीक है। जयपुर स्टेशन अकेले पर ही 88 ब्रॉड गेज और 22 मीटर गेज ट्रेनों और एक दिन में 35,000 यात्रियों का आना जाना होता हैं। और ये राजस्थान में सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन है |

जयपुर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा

जयपुर हवाई अड्डा सांगानेर जयपुर में स्थित है। इसकी उड़ान पट्टी की लंबाई 7500 फीट. है। जयपुर विमान अड्डा जिसे सांगानेर हवाई अड्डा भी कहते हैं, जयपुर शहर से 13 किलोमीटर दूर है।  इस एयरपोर्ट पर एक घंटे में 500 यात्रियों का सफर होता है।

जयपुर सिटी की 5 स्टार होटल

जयपुर एक पर्यटक स्थान ही नही बल्कि दुनिया की मानी जानी होटलों में भी जयपुर का नाम सबसे पहले आता हैं | यहा पर एसी होटल हैं जिनके बारे पुरे पुरे विश्व में चर्चा का एक विषय हैं | राजस्थान राज्य के जयपुर सिटी की 5 स्टार होटलों के नाम निचे दिए जा रहे हैं |

  •  होटल कंचनदीप
  • गेटवे होटल रामगढ़ लॉज
  • होटल ट्राईडेंट (Hotel Trident)
  • होटल भीम विलास-बेड एण्ड ब्रेकफास्ट
  •  मैरियट होटल, जयपुर
  • होटल होलीडे इन
  • होटल सरोवर पोर्टिको, जयपुर
  •  होटल रामाडा
  • होटल अकासिया इन (Hotel Acacia Inn)
  • होटल मंदाकिनी कैसल

जयपुर शहर के सिनेमा हॉल राज मंदिर

जयपुर शहर के राज मंदिर सिनेमा हॉल अपनी पुरातन वास्तुकला के लिए जाना जाता है | राज मंदिर सिनेमा बीते युग की याद ताजा करता है।यह हाॅल शाही महल की याद दिलाता है  राज मंदिर सिनेमा के मालिक सुराना ज्वैलर्स  हैं |  यह एशिया का सबसे बड़ा हाॅल है। इस हाॅल में बैठक क्षमता एक साथ 1300 लोगों की है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.