janmashtami krishna janmashtami Vrat, Puja Vidhi, Panjari, Dahi Handi Status Whatsapps Fb

Janmashtami Vrat Puja Vidhi Panjiri Dahi Handi etc Programme and Time you can Check below. We Have Provide Below Janmashtami Vrat janmashtami krishna janmashtami Complete Puja Vidhi Below. How to Make janmashtami Panjiri & janmashtami Prasad Racipes’ We have Provide elow. janmashtami Dahi Handi janmashtami Status Whatsapps Facebook. Krishna janmashtami Wallpaper Krishna janmashtami bhajan. Radha Krshina Photo Wallpaper Janmashtami Image Janmashtami Festival Celebrate Happy Krishna Janmashtami Festival.janmashtami puja ke tarike janmashtami puja ka gana janmashtami date janmashtami 2018 krishna janma time janmashtami wishes janmashtami wishes for friends and Family etc Can Read Below.

janmashtami krishna janmashtami Vrat, Puja Vidhi, Panjiri, Dahi Handi Status Whatsapps Fb [श्री क्रष्ण जन्माष्ठमी व्रत पूजा पंजीरी दही हांड़ी स्टेटस्]

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 2018 में जन्माष्टमी 02 सितंबर और 3 सितम्बर को कृष्ण जन्माष्ठमी हैं | गोकुल में रास रचाने वाले, गोपियों के रशिक, गायों के ग्वाले, नन्द के लाल, माखन चोर, यशोद के नन्द लाल, मथुरा के गोविन्द गोपाल का जन्म 3 सितम्बर को काली रात के अँधेरे में रात्री 12: 00 बजे होगा | सभी देवी देवताओं द्वारा देवकी नंदन का स्वागत किया जाएगा | श्री कृष्ण भगवान् का जन्म यादव कुल में होने की वजह से इन्हें Yadav Krishn God भी कहा जाता हैं | श्री कृष्ण भगवन के असंख्य नाम हैं जिनमे 108 मुख्य नाम हैं जिनमे कुछ नाम इस प्रकार है –

कंस दलन , जसुदासुत , नंदलाल , मुरलीधर ,गोविन्द, हर , गिरधारी गोपाल ||
राधारमण , रुक्मणी के श्रृंगार , नन्द नंदन , वासुदेव सुत, राधा प्राणाधार ||
चंद्रश्रेष्ठ यदुवंश के गोपिन के चितचोर , गोपी वल्लभ , कृष्णजी, कान्हा , माखन चोर ||

Janmashtami Fix Date : 2 सितम्बर की रात 11 बजकर 57 मिनट से रात 12 बजकर 48 मिनट तक है.

Janmashtami Puja Murat 

Janmashtami pooja muhrt

Janmashtami Vrat 2018

हिन्‍दू मान्‍यता के अनुसार श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भादो माह की कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी तिथ‍ि को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था. इस बार अष्‍टमी तिथ‍ि 2 सितंबर की रात 8:47 पर लगेगी, जबकि रोहिणी नक्षत्र 8:48 पर लगेगा. इसलिए व्रत 2 सितंबर को रखा जाएगा और अगले दिन यानी कि 3 सितंबर को रोहिणी नक्षत्र के समाप्‍त होने पर रात 8:05 मिनट पर व्रत का पारण होगा. हालांकि वैष्‍णव सम्‍प्रदाय को मानने वाले 3 सितंबर को व्रत रखेंगे और अगले दिन यानी कि 4 सितंबर को सुबह सूर्योदय से पहले 6:13 मिनट पर व्रत का पारण करेंगे.

जन्‍माष्‍टमी का व्रत कैसे रखें ?

  1. जो भक्‍त जन्‍माष्‍टमी का व्रत रखना चाहते हैं उन्‍हें एक दिन पहले केवल एक समय का भोजन करना चाहिए |
  2. जन्‍माष्‍टमी के दिन सुबह स्‍नान करने के बाद व्रत का संकल्‍प लें |
  3. इसके बाद माता देवकी के लिए सूतिका गृह बनाएं |
  4. इस सूतिका गृह में माता देवकी समेत श्री कृष्ण की मूर्ति स्थापित करें और पूजा करें |
  5. सारे दिन उपवास रखें. इस व्रत में आप दिन में पानी, फल और दूध ले सकते हैं |
  6. इसके बाद आ‍धी रात को विधिपूर्वक पूजा करें |
  7. जन्‍माष्‍टमी की पूजा का समय 2 सितंबर 2018 की रात 11 बजकर 57 मिनट से रात 12 बजकर 48 मिनट तक है |
  8. अगले दिन यानी कि 3 सितंबर को अष्‍टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र के खत्‍म के बाद व्रत का पारण करें |

Shree Krishna Janmashtami Puja Vidhi (Hindi, Bengali, Gujarati, Marathi) :

भगवान श्रीकृष्‍ण की पूजा आधी रात को ही की जाती है | माता देवकी ने मथुरा स्थित कंस की जैल में कृष्‍ण को आधी रात में जन्‍म दिया था | कंस के डर से देवकी के पति वसुदेव ने कृष्‍ण को टोकरी में रखकर रातों रात बाबा नंद और माता यशोदा के घर नंदगांव पहुंचा दिया | जन्‍माष्‍टमी की पूजा शुरू करने से पहले रात 11 बजे फिर से स्‍नान कर लें | उसके बाद घर के मंदिर में ऊपर बताई गई सभी सामग्री रख लें और पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं | इसके बाद पालने को सजा लें और चौकी पर लाल कपड़ा बिछा कर लड्डू गोपाल की मूर्ति स्‍थापित कर पूजा प्रारंभ करें | कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी के दिन षोडशोपचार पूजा की जाती है, जिसके तहत 16 चरणों को शामिल किया जाता है |

Janmashtami Dahi Handi (गोकुल के कान्हा द्वारा गोपिकाओं की दही हांड़ी फोड़ना) 

भगवान कृष्ण बचपन से ही नटखट और शरारती थे। माखन उन्हें बेहद प्रिय था जिसे वह मटकी से चुरा कर खाते थे। भगवान कृष्ण की इसी लीला को उनके जन्मोत्सव पर पुन: ताजा रचा जाता है। देश के कई भागों में इस दिन मटकी फोड़ने का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाता है। जन्माष्टमी पर्व की पहचान बन चुकी दही-हांडी या मटकी फोड़ने की रस्म भक्तों के दिलों में भगवान श्रीकृष्ण की यादों को ताजा कर देती हैं।

Janmashtami Panjiri (प्रसाद) –

धनियां की पंजीरी – धनियां पंजीरी प्रसाद फलाहार व्रत में ये ही खाई जाती है. सामान्य पंजीरी आटे की होने के कारण फलाहार व्रत में प्रसाद के रूप में नहीं ली जाती, व्रत करने वाले लोग व्रत खोलते समय सबसे पहले इस पंजीरी को खाकर ही अपना व्रत खोलते हैं |

Janmashtami Wishes SMS, Message

Janmashtami is celebrated with much plurality, every year especially in Mathura, the birth place of Krishna and Vrindavan, the place where Krishna spent his childhood. This year it will be celebrated on 2 & 3 September 2018. Wish your family and friends a Happy Janmashtami Krishna Janmashtami.

Janmashtami Wallpaper :

Janmashtami Wallpaper

Janmashtami Wishes for Friends :

हे लालों के लाल हमारे प्‍यारे ठाकुर नंद लाल,
बुराई से रक्षा करो, दुखों का करो संहार,
आप सभी को मुबारक हो जन्‍माष्‍टमी का त्‍योहार!!!
Happy Janmashtami

यशोदा के कृष्‍ण के,
राधा के श्‍याम के,
ग्‍वालों के कान्‍हा के,
गोपियों के माखन चोर के,
जन्‍मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं!!!
Happy Janmashtami

Janmashtami Status for Whatsapps, FB

श्री कृष्‍ण गोविंद, हरे मुरारी,
हे नाथ! नारायण वासुदेवा!
जय श्री कृष्‍ण!!!
Happy Janmashtami,

मुरली मनोहर, ब्रज की धरोहर,
वो नंदलाला गोपाला,
बंसी की धुन से सबके दुख हरने वाला,
सब मिलकर मचाओ धूम कि कृष्‍ण है आने वाला!!!
Happy Janmashtami.

Janmashtami Radha Krishna Pic, Image

Shree Krishna Janmashtami Aarti

आरती: आखिरी में घी के दीपक से श्रीकृष्‍ण की आरती करें:
आरती युगलकिशोर की कीजै, राधे धन न्यौछावर कीजै।
रवि शशि कोटि बदन की शोभा, ताहि निरिख मेरो मन लोभा।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
गौरश्याम मुख निरखत रीझै, प्रभु को रुप नयन भर पीजै।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
कंचन थार कपूर की बाती . हरी आए निर्मल भई छाती।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
फूलन की सेज फूलन की माला . रत्न सिंहासन बैठे नंदलाला।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
मोर मुकुट कर मुरली सोहै,नटवर वेष देख मन मोहै।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
ओढे नील पीट पट सारी . कुंजबिहारी गिरिवर धारी।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
श्री पुरषोत्तम गिरिवरधारी. आरती करत सकल ब्रजनारी।।
।।आरती युगलकिशोर…।।
नन्द -नंदन ब्रजभान किशोरी . परमानन्द स्वामी अविचल जोरी।।
।।आरती युगलकिशोर…।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.