JRRSU Shikshashastri Courses Diploma Certificates Details जगद्गुरु रामानन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के संकाय शैक्षणिक पाठ्यक्रम डिप्लोमा प्रमाण पत्र का विवरण

JRRSU Shikshashastri Courses Diploma Certificates Details JRRSU Jaipur Diploma Courses JRRSU Degree Courses New update Jagadguru Ramanadacharya Rajasthan  Sanskrit University Examination Details JRRSU Results Update JRRSU New Courses PDF Download Jagadguru Ramanadacharya Rajasthan  Sanskrit University formerly known as Rajasthan Sanskrit University is a public state university situated in Madau Jaipur Rajasthan, India. The university was established on 6 February 2001, and Mandan Mishra served as the first vice-chancellor of the university. University affiliates about more than 60 colleges/institutions of Acharya, Shastri and Shikshashastri level throughout the state. Jagadguru Ramanadacharya Rajasthan Sanskrit University has been Organized Degrees diploma certificate courses. The Interested Candidates are apply this courses form on JRRSU Jaipur  The Students can check Degrees diploma certificate courses full Information and new update on this web page and official website. The JRRSU University Jaipur is good Education Provide for all appeared candidates. This university provides the facility of many courses to students such as Graduation course Post Graduation course Ph.D course etc. In JRRSU University Jaipur most of the courses have admission on the basis of merit and in some courses admission is based on entrance test.

JRRSU Shikshashastri Courses Diploma Certificates Details जगद्गुरु रामानन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के संकाय शैक्षणिक पाठ्यक्रम डिप्लोमा प्रमाण पत्र का विवरण

जगद्गुरु रामनन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय पूर्व में राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के रूप में जाना जाता था | एक सार्वजनिक राज्य विश्वविद्यालय है जिसने राजस्थान सरकार को अपनी महिमा वापस लाने के लिए भारत में संस्कृत शिक्षा को बढ़ावा देने के लीये बनाया गया है | राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय 60 से अधिक कॉलेज / संस्थानों के बारे में विश्वविद्यालय सहयोगी है । यह विश्वविद्यालय 6 फरवरी 2001 को स्वामी श्री श्री 1008 नारायण दासजी महाराज त्रिवेणी धाम, जयपुर द्वारा स्थापित किया गया था। पद्मश्री मंदान मिश्र ने विश्वविद्यालय के पहले समर्थक उप-कुलपति के रूप में काम किया। 27 जून 2005 को विश्वविद्यालय का नाम बदलकर जगदगुरु रामानंदचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय का नामकरण किया गया। विश्वविद्यालय परिसर 78.85 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है यह संस्कृत विश्वविद्यालय मैदौ (भंक्रोटा), जयपुर में स्थित हैJagadguru Ramanadacharya Rajasthan Sanskrit University offers courses and programs leading to officially recognized higher education degrees in several students including a library as well administrative services. We hope that the above-provided information is useful for all the exam participants.

Degrees

  • Shastril
  • Shiksha Shastri (B.Ed)
  • Acharya
  • Shiksha Acharya (M.Ed]
  • P.hd

Diploma

  • Jyotish Shastra
  • Vastu Shastra
  • Post graduate diploma in yoga therapy

Certificates

  • Jyotish Shastra 1
  • Vastu Shastra
  • Yoga instructor course

जेआरआरएसयु संकाय विवरण JRRSU Faculties Details

साहित्य संकाय –

डॉ. ताराशंकर शर्मा – आचार्य
डॉ. सुभाष चन्द शर्मा – सह आचार्य
डॉ. उमेश नेपाल – सहायक आचार्य
डॉ. स्नेहलता शर्मा – सहायक आचार्य
डॉ. मधुबाला शर्मा – सहायक आचार्य

व्याकरण संकाय –

डॉ. अशोक कुमार तिवारी – आचार्य
डॉ. राजधर मिश्र – सह आचार्य
डॉ. प्रमोद कुमार शर्मा – सह आचार्य
डॉ.शशि कुमार – सहायक आचार्य
डॉ. दयाराम दास – सहायक आचार्य

वेद एवं पौरोहित्य संकाय –

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद मिश्र – आचार्य
डॉ. नारायण होसमने – सहायक आचार्य
डॉ. शम्भु कुमार झा – सहायक आचार्य
डॉ. देवन्द्र कुमार शर्मा – सहायक आचार्य

ज्योतिष संकाय –

डॉ. विनोद कुमार शर्मा – सह आचार्य
डॉ. कैलाश चन्द शर्मा – सहायक आचार्य
डॉ. शिवाकान्त मिश्र – सहायक आचार्य

दर्शन संकाय –

डॉ. रामेश्वरनाथ द्विवेदी – सहायक आचार्य
श्री महेश शर्मा ( शास्त्री कोसलेन्द्रदास) – सहायक आचार्य

शिक्षा संकाय –

डॉ. कम्भंपाटि साम्बशिवमूर्ति – सह आचार्य
डॉ. माता प्रसाद शर्मा – सह आचार्य
डॉ. दिवाकर मिश्र – सहायक आचार्य
डॉ. कुलदीप सिंह – सहायक आचार्य
अनुसन्धान विभाग

डॉ. संदीप जोशी – सहायक आचार्य

जगद्गुरु रामानन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के संकाय

1. वेद-वेदाङ्ग संकाय

2. साहित्य-संस्कृति संकाय

3. दर्शन संकाय

4. श्रमणविद्या संकाय

5. आधुनिकज्ञान-विज्ञान संकाय

6. शिक्षा संकाय

1. वेद-वेदाङ्ग संकाय –

  • ऋग्वेद
  • शुक्लयजुर्वेद (माध्यन्दिनशाखीय)
  • शुक्लयजुर्वेद (काण्वशाखीय)
  • कृष्णयजुर्वेद (तैत्तिरीयशाखीय)
  • सामवेद (कौथुमशाखीय)
  • सामवेद (जैमिनीयशाखीय)
  • अथर्ववेद
  • पौरोहित्य
  • वेदनैरुक्तप्रक्रिया
  • वेदविज्ञान
  • गणितज्योतिष
  • सिद्धान्तज्योतिष
  • फलितज्योतिष
  • सामुद्रिकज्योतिष
  • वास्तुविज्ञान
  • धर्मशास्त्र
  • नव्यव्यकरण
  • प्राच्यव्याकरण

    2. साहित्य-संस्कृति संकाय –

    साहित्य
    पुराणेतिहास
    प्राचीन राजनीतिशास्त्र

    3. दर्शन संकाय –

    सामान्यदर्शन
    वेदान्तदर्शन
    मीमांसादर्शन
    न्यायदर्शन
    निम्बार्कदर्शन
    वल्लभदर्शन
    योगदर्शन
    रामानन्ददर्शन
    रामानुजदर्शन

    4. श्रमणविद्या संकाय

    जैनदर्शन
    बौद्धदर्शन
    प्राकृत जैनागम एवं अपभ्रंश

    5. आधुनिकज्ञान-विज्ञान संकाय –

    अंग्रेजी साहित्य
    हिन्दी साहित्य
    इतिहास
    राजनीति विज्ञान
    लोक प्रशासन
    समाज शास्त्र
    अर्थशास्त्र
    गृहविज्ञान (केवल छात्राओं के लिए)
    पर्यावरण अध्ययन

6. शिक्षा संकाय –

शिक्षा-संकाय :-

विश्‍वविद्यालय के शिक्षा संकाय के अन्‍तर्गत शिक्षाशास्‍त्री (बी.एड.), शिक्षाचार्य (एम.एड.), विद्यानिधि शिक्षा (एम.फिल.) एवं विद्यावारिधि (पीएच.डी.) शिक्षा के पाठ्यक्रम संचालित है। वर्तमान में शिक्षाशास्‍त्री पाठ्यक्रम विश्‍वविद्यालय से सम्‍बद्ध 68 शिक्षा महाविद्यालयों में चल रहा है। सत्र 2007-2008 से विश्‍वविद्यालय के शिक्षाशास्‍त्रविभाग में भी शिक्षाशास्‍त्री पाठ्यक्रम प्रारम्‍भ किया गया है। एम.एड. उपाधि के समतुल्‍य शिक्षाचार्य पाठ्यक्रम अभी केवल विश्‍वविद्यालय के शिक्षाशास्‍त्रविभाग में चल रहा है, जो सत्र 2006-2007 में प्रारम्‍भ हुआ है। शिक्षाशास्‍त्रविभाग के अन्‍तर्गत सत्र 2006-2007 में विद्यानिधि शिक्षा (एम.फिल) पाठ्यक्रम भी प्रारम्‍भ किया गया है। शिक्षाशास्‍त्री पाठ्यक्रम में पी.एस.एस.टी. द्वारा मैरिट के आधार पर प्रवेश होता है। इसी प्रकार विद्यानिधि शिक्षा (एम.फिल.) तथा विद्यावारिधि (शिक्षा) उपाधि में प्रवेश के लिए यू.जी.सी. की नेट अथवा राज्‍य सरकार की स्‍लेट परीक्षा उत्तीर्ण अभ्‍यर्थी को सीधे प्रवेश दिये जाने की व्‍यवस्‍था है। नेट/स्‍लेट के अतिरिक्त इन पाठ्यक्रमों के लिए विश्‍वविद्यालय अपने स्‍तर पर ली गयी पात्रता परीक्षा की मैरिट के आधार पर भी प्रवेश देता है। शिक्षाचार्य (एम.एड.) में पूर्व प्रवेश परीक्षा द्वारा प्रवेश दिया जाता है। शिक्षाचार्य :- शिक्षाचार्य (एम.एड.के समतुल्‍य) पाठ्यक्रम एक वर्षीय है जिसमें राज्‍य सरकार के निर्णयानुसार सत्र 2008-2009 से प्री शिक्षाचार्य टेस्‍ट के आधार पर प्रवेश दिये जाने का निर्णय लिया गया है। यह पाठ्यक्रम अभी विश्‍वविद्यालय के शिक्षाशास्‍त्र विभाग में संचालित है जिसमें कुल 25 स्‍थानों के 70 प्रतिशत स्‍थान (18 सीट) शिक्षाशास्‍त्री परीक्षा उत्तीर्ण के लिये तथा 30 प्रतिशत स्‍थान (7 सीट) बी.एड. (संस्‍कृत शिक्षण विषय सहित) उत्तीर्ण अभ्‍यर्थियों के लिये निर्धारित है। शिक्षाचार्य पाठ्यक्रम के अध्‍ययन-अध्‍यापन एवं परीक्षा का माध्‍यम संस्‍कृत है।

जेआरआरएसयु शैक्षिक कार्यक्रम JRRSU Academic

  • आचार्य Acharya
  • शास्त्री Shastri
  • शिक्षाशास्त्री Shikshashastri

    जेआरआरएसयु के पाठ्यक्रम JRRSU Courses

  • मास्टर डिग्री शास्त्री (ईसीबीए) Master Degree Shastri B.A
  • आचार्य ( एमए) Acharya M.A
  • शिक्षा शास्त्री (ई.बी.ए.) Shiksha Shastri (B.Ed)
  • शिक्षा आचार्य (ईएमईएमई) Shiksha Acharya (M.Ed)
  • विदनिधी (ईक़ीएम.फिल) Vidyanidhi (M.Phil)
  • विद्याधरि (ईक़ी पीएचडी) ) Vidyavaridhi (Ph.D)
  • विद्यावाचस्पति (ओ.क. डी.लिट) Vidyavachaspati (D.Litt)

जेआरआरएसयु के डिग्री पाठ्यक्रम JRRSU Degrees

  • शास्त्री Shastril
  • शिक्षा शास्त्री (बीएड) Shiksha Shastri (B.Ed)
  • आचार्य Acharya
  • शिक्षा आचार्य (एमएड) Shiksha Acharya (M.Ed]
  • पीएचडी P.hd

जेआरआरएसयु के डिप्लोमा कोंर्स JRRSU Diploma

  • ज्योतिष शास्त्र Jyotish Shastra
  • वास्तु शास्त्र Vastu Shastra
  • योग चिकित्सा (पीजीडीवाईटी) में स्नातकोत्तर डिप्लोमा post graduate diploma in yoga therapy(PGDYT)

जेआरआरएसयु के प्रमाण पत्र JRRSU Certificates

  • ज्योतिष शास्त्रा Jyotish Shastra
  • वास्तु शास्त्र Vastu Shastra
  • योग प्रशिक्षक पाठ्यक्रम (YIC) Yoga instructor course(YIC)

The candidates can check JRRSU Jaipur all Courses Information and other news by Jagadguru Ramanadacharya Rajasthan Sanskrit University on this web page. The All Private and Regular Candidates can check JRRSU Jaipur All Courses & Latest News New Update and other any information this University on this web page. We will Direct Provide New Notification link and any news by this web portal. So The Applicants are regular visit this web page. The University Integrated five years Master Degree. Acharya (eq.M.A), Shiksha Shastri (eq.B.Ed), Shiksha Acharya (eq.M.Ed), Vidyanidhi (eq.M.Phil), Vidyavaridhi (eq.Ph.D) & Vidyavachaspati (oeq.D.Litt). More Details is Provided Below.

JRRSU Official Website

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.