Karwa Chauth Par Kya Kare Aur Kya Nhi Kare करवा चौथ व्रत के नियम शुभ/अशुभ फल प्राप्ति के संकेत

Karwa Chauth Par Kya Kare Kya Na Kare What to do and what not to do on Karva Chauth fast Karva Chauth Vrat Ke Niyam करवा चौथ पर क्या शुभ और अशुभ है : करवा चौथ का पर्व सुहाग‍िनों के ल‍िए अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण होता है | पूर्णिमा के चांद के बाद जो चौथ (कृष्णपक्ष की चतुर्थी) पड़ती है, उस दिन करवाचौथ मनाया जाता है | इस दिन देश और विदेशों में भी भारतीय महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए करवा चौथ का न‍िर्जल व्रत करके रात को चंद्र देव के दर्शनों के बाद ही व्रत खोलती हैं |

Karwa Chauth Par Kya Kare Kya Na Kare

इस साल यानि 2020 में करवा चौथ 4 नवंबर को है | जिस तरह हर व्रत के कुछ विशेष नियम होते हैं ठीक उसी तरह करवा चौथ व्रत के भी कुछ खास नियम हैं | इनका पालन करना बहुत जरूरी होता है | इन न‍ियमों के ब‍िना करवा चौथ व्रत सफल नहीं होता | और कही न कही आप दोष के भागी हो जाते है | आइये जानते है करवा चौथ व्रत पर क्या करे और क्या नहीं करवा चौथ पर क्या शुभ और अशुभ है Karwa Chauth Par Kya Kare Kya Na Kare करवा चौथ व्रत से जुडी मुख्य बाते करवा चौथ व्रत शुभ/अशुभ फल प्राप्ति के संकेत जानने के लिए इस पेज को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े |

What to do and what not to do on Karva Chauth fast करवा चौथ व्रत से जुड़ी ज़रूरी बातें

पति की लंबी उम्र की कामना से सुहाग‍िनें करवा चौथ का व्रत करती हैं | करवा चौथ व्रत के कुछ व‍िशेष न‍ियम हैं, लेकिन कुछ सुहागिन महिलाओं को ये नहीं पता होता कि करवा चौथ पर क्या करें क्या ना करें Karwa chauth par kya kare kya na इस लेख में विद्वानों व ज्योतिषाचार्य द्वारा बताये गए करवा चौथ व्रत के नियम करवा चौथ व्रत में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए Karva Chauth Vrat Fasting Rules करवा चौथ पर क्या शुभ और अशुभ है करवा चौथ व्रत शुभ/अशुभ फल प्राप्ति के संकेत करवा चौथ व्रत से जुडी अहम बाते आपके साथ शेयर कर रहे है | मान्‍यता है क‍ि भूलकर भी करवा चौथ व्रत के इन न‍ियमों का उल्‍लंघन नहीं करना चाह‍िए | अन्‍यथा व्रती मह‍िलाओं को व्रत का फल नहीं म‍िलता है |

करवा चौथ व्रत की शुरुआत कैसे करें

अपने पति की दीर्घआयु के लिए करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओ को यह जानना बेहद जरुरी है की करवा चौथ व्रत की शुरुआत कैसे करें Karva Chauth Vrat Ki Shuruaat Kaise Kare अगर आप इन बातो से अनजान है तो इस पेज को स्क्रॉल कर देख सकते है की How to start Karva Chauth Fast करवा चौथ व्रत की शुरुआत कैसे करनी चाहिए |

  • सुबह सूरज उगने से पहले सास अपनी बहू को सरगी देती है, जिसमें बहू के लिए कपड़े, उसके सुहान की चीज़ें जैसे चूड़ी, बिंदी, सिंदूर आदि, साथ ही फेनिया, फ्रूट, ड्राईफ्रूट, नारियल आदि होते है |
  • सास द्वारा दी हुई सरगी से बहू अपने व्रत की शुरुआत करती है | अगर सास साथ में नहीं हैं, तो वो बहू को पैसे भिजवा सकती हैं, ताकि वो अपने लिए सारा सामान ख़रीद सके |
  • सुबह सूरज निकलने से पहले सास की दी हुई फेनिया बनाकर पहले अपने पित्रों, गाय, कुत्ते और कौए का हिस्सा अलग रख लें | फिर अपने पति और परिवार के लोगों के लिए भी अलग निकाल दें | उसके बाद फेनिया और सास के दिए हुए फ्रूट, ड्राईफ्रूट, नारियल खाकर ही व्रत की शुरुआत करें |
  • इस दिन सास द्वारा मिली सरगी में दिए हुए कपड़े और शृंगार की चीज़ें पहनें |

करवा चौथ व्रत की कथा सुनने के नियम

  • करवा चौथ की पूजा या कथा सूर्यास्त से पहले ही सुन लेनी चाहिए | शाम के व़क्त जब दिन छुपने और शाम ढलने की शुरुआत
  • होती है, उस समय पूजा नहीं करनी चाहिए, इसलिए करवाचौथ की पूजा सूर्य के ढलने से पहले ही कर लें |
  • कहानी सुनते समय साबूत अनाज और मीठा साथ में रखते हुए कथा सुनी जाती है |
  • जो महिला अकेले पूजा करती हैं, वो अकेले कहानी पढ़ सकती हैं और मोबाइल या डेस्कटॉप पर कहानी सुन सकती हैं |
    कहानी सुनते समय हुंकारा ज़रूर भरना चाहिए |
  • बहू को कथा सुनने के बाद सास के लिए बायना निकालना होता है | जिस तरह सास आपके लिए सुहाग का सामान, कपड़े, मीठा और शगुन रखती हैं, उसी तरह आपको भी सास के लिए बायना निकालते समय उसमें ये सभी चीज़ें रखनी चाहिए | बहू पूजा करने और कथा सुनने के बाद सास का बायना निकालती है |
  • जब बहू व्रत शुरू करती है, तो सास उसे करवा देती है, उसी तरह बहू भी सास को करवा देती है |
  • सास पूजा करने और कथा सुनने के बाद अपनी बहू को ये इजाज़त देती है कि अब तुम पानी, जूस या चाय आदि पी सकती हो | ध्यान रखे जूस या फल का सेवन कथा सुनने के बाद और सास का बायना निकालने के बाद ही करना चाहिए |

वर्किंग वुमन के लिए करवा चौथ का व्रत करने के नियम

वे महिलाए जो किसी सरकारी/प्राइवेट या अन्य संस्था में कार्यरत है | अर्थात नौकरी करती है | उन महिलाओ को पूर्ण विधि-विधान से व्रत करने में काफी समस्या का सामना करना पड़ता है | ऐसे में आप इन करवा चौथ का व्रत के नियमो का पालन कर पूर्ण विधि-विधान से व्रत कर फल प्राप्त कर सकती है |

  • जो महिलाएं वर्किंग हैं, वो एक साफ़ बोटल में सास के दिए हुए करवे का पानी ऑफ़िस में ले जाएं | ध्यान रखे सास का दिया हुआ करवा एकदम खाली न करें यानी उसमें थोड़ा पानी रहने दें | साथ ही अनाज वाले करवे में से थोड़ा-सा साबूत अनाज और सास के बायने के शगुन का पैसा ले जाएं |
  • जिस समय आप कथा पढ़ या सुन रही हों, उस समय अनाज और पानी अपने पास रखें |
  • कथा सुनते समय सामने एक प्लेट या टीशू पेपर रख लें और हुंकारा भरते हुए अनाज का एक-एक दाना उस प्लेट या टिशू पेपर में रखते जाएं |
  • ऑफ़िस से लौटकर करवे में वो पानी डाल दें, जिसे आप ऑफ़िस ले गई थीं और साबूत अनाज को अर्घ्य देने के लिए रख लें |
  • शाम को उसी पानी और साबूत अनाज से चंद्रमा को अर्घ्य दें |
  • अर्घ्य देते समय चांदी का लोटा, सिक्का या अंगूठी हाथ में ज़रूर रखें. फिर जिस जल और अनाज को साथ में रखकर आपने कथा सुनी, उसी से चांद्रमा को अर्घ्य दें |
  • यदि आप ऑफिस में बहुत सारी चूड़ियां पहनकर नहीं जा सकतीं, तो दो-चार-छह इस तरह के ईवन नंबर में चूड़ियां पहनकर जा सकती हैं |

कुवांरी लड़कियां के लिए करवाचौथ का व्रत के नियम

अक्सर लोगों को ये कन्फ्यूज़न रहती है कि क्या कुवांरी लड़कियां करवाचौथ का व्रत रख सकती हैं? तो आपको बतादे की कुवांरी लड़कियां भी करवाचौथ का व्रत ज़रूर रख सकती हैं | शादी-शुदा महिलाए करवा चौथ का व्रत अपने पति की लम्बी आयु की कमाना करने के लिए करती है और कुवांरी लडकिया मनपसंद वर मिले इसके लिए करवा चौथ का व्रत रखती है | आइये जानते है की कुवांरी लड़कियो को करवा चौथ का व्रत रखने के लिए किन – किन बातो का ध्यान रखना चाहिए और कौनसे नियन की पालना करनी चाहिए |

करवा चौथ मेहंदी डिजाईन यंहा देखें – Karwa Chauth Latest Mehndi Photo

  • कुवांरी लड़कियां चांद को न देखकर तारों को देखकर अपना व्रत खोल सकती हैं |
  • उन्हें किसी से सरगी नहीं मिलती इसलिए उन्हें भी किसी को सुहाग का सामान नहीं देना होता है |
  • कुवांरी लड़कियों को तारे देखने के लिए छलनी का इस्तेमाल नहीं करना होता है, क्योंकि उन्हें छलनी में किसी की सूरत भी नहीं देखनी होती है |
अर्घ्य देते समय पूजा की थाली में क्या-क्या होना चाहिए
  1. शाम को जब महिलाएं चंद्रमा को अर्घ्य देती हैं, तो उनकी पूजा की थाली में ये चीज़ें होनी बहुत ज़रूरी है. छलनी, आटे का दीपक, फल, ड्राईफ्रूट, मिठाई और दो पानी के लोटे- एक चंद्रमा को अर्घ्य देने के लिए और दूसरा वो जिससे आप पहले पति को पानी पिलाती हैं और फिर वो आपको पिलाते हैं |
  2. अर्घ्य देते जाते समय वो चुन्नी जरुर साथ रखे जिसे आपने कथा सुनते समय पहना था |
  3. करवा चौथ पर बधाई शायरी – हिंदी में यंहा पढ़ें
करवा चौथ व्रत शुभ फल प्राप्ति के लिए इन नियमो की पालना जरुर करे

अगर आप करवा चौथ का व्रत करने के बारे में सोच रहे है तो आपको एक बार निचे दिए गए करवा चौथ व्रत के नियमो को जरुर पढना चाहिए | और पूर्ण विधि-विधान से व्रत करे | किसी कारणवश कोई भी गलती हो जाती है तो व्रत का कोई शुभ फल नहीं मिलता | इसलिए सावधान रहिये और इन करवा चौथ व्रत के नियमो का पालन करे | यहाँ आपको वो जानकारी दी गई है जो आप करवा चौथ व्रत के दौरान कर सकते है | इन नियमो के बिना करवा चौथ व्रत अधुरा माना जाता है |

Karwa Chauth Full HD Wallpaper – Download Here

  • करवा चौथ का व्रत सूर्योदय से चंद्र उदय तक रखा जाता है |
  • करवा चौथ के दिन महिलाओं को पीले या लाल रंग के वस्त्र ही धारण करने चाहिए |
  • पीरियड्स में भी करवाचौथ का व्रत रख सकती हैं |
  • आप चाहें तो घर के मंदिर में पूजा कर सकती हैं या फिर अलग से चौकी लगाकर भी पूजा कर सकती हैं |
  • पूजा करते समय आपका चेहरा पूर्व की तरफ होना चाहिए |
  • करवा चौथ व्रत की कथा सुनते समय साबूत अनाज और मीठा साथ में अवश्य रखें |
  • करवा चौथ की पूजा में मिट्टी का करवा विशेष माना जाता है इसलिए इस दिन मिट्टी के करवे से ही करवा चौथ की पूजा करें |
  • करवा चौथ का व्रत निर्जल रहकर किया जाता है लेकिन यदि आपको किसी प्रकार की स्वास्‍थ्‍य समस्या है तो आप करवा चौथ की कहानी सुनने के बाद जल ग्रहण कर सकती हैं |
  • यह व्रत पति की लंबी उम्र के लिए किया जाता है | इसलिए सुहागन महिलाओं को करवा चौथ के दिन पूरा श्रृंगार अवश्य करना चाहिए |
  • इस दिन सतियों की कथा, पौराणिक कथा सुन-पढ़ कर या कीर्तन-भजन अथवा गायन-वादन के अपने समय को शुभ बना सकती हैं |
  • करवा चौथ के दिन दुबारा स्नान नहीं कर सकती तो अच्छी तरह से हाथ मुंह धोकर साफ वस्त्र धारण करके करवा चौथ की पूजा करे |
  • जब चंद्रदेव न‍िकल आएं तो उन्‍हें देखने के बाद अर्घ्य दें |
  • करवा चौथ का व्रत पूर्ण होने के बाद पति का चेहरा अवश्य देंखे और उनका आशीर्वाद अवश्य लें |
  • पूजा में हुई किसी भी गलती के लिए करवा चौथ माता से क्षमा याचना जरूर कर लें | मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से चौथ माता अत्‍यंत प्रसन्‍न होती हैं और पत‍ि-पत्‍नी को खुश‍ियों का आशीर्वाद म‍िलता है |
  • करवा चौथ पर पति पत्नी के लिये प्यार भरी शायरी और बधाई मेसेज पढ़ें
Karwa Chauth Par Ye Kam Na Kare करवा चौथ के दिन भूलकर भी ये काम नहीं करना चाहिए

ऐसे कुछ कार्य होते है जो हमे विशेषत करवा चौथ के दिन नहीं करने चाहिए | अगर गलती से भी ये कार्य हो जाता है तो इसका हमे अशुभ फल प्राप्त होता है | आइये जानते है की ऐसे कौनसे कार्य है जो हमे करवा चौथ के दिन नहीं करने चाहिए |

  • इस दिन काले और सफेद रंग के वस्त्र धारण करना निषेध माना जाता है |
  • सुहाग की वस्तुएं जैसे लहठी, चूड़ी, बिन्दी और सिंदूर को कचड़े में भूलकर भी ना फेंके। सुहाग की ऐसी वस्तुएं यदि पहनते वक्त टूट जाए तो उसे किसी नदी या तालाब में प्रवाह कर दें और अपने सुहाग की कामना करें |
  • इस दिन सिलाई, कढ़ाई, कटाई ना करें साथ ही इन सब कामों के लिए कैंची का प्रयोग नहीं करें | करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को इस दिन समय बिताने के लिए ताश के पत्ते खेलना, चुगली करना और सोना जैसे काम नहीं करना चाहिए |
  • इस दिन मांस, मछली, अंडा और मुर्गा आदि तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए |
  • इस दिन किसी भी आदमी को दूध, दही, चावल या उजला वस्त्र आदि नहीं देना चाहिए |
  • इस दिन अपने से बड़ों का अपमान नहीं करना चाहिए |
  • अपने पति के अलावा किसी अन्य पुरुष के बारे में किसी तरह का ख्याल मन में ना लाएं |
  • किसी अन्य सुहागन स्त्री को भला बुरा या शाप देने की गलती ना करें |
  • करवाचौथ के दिन शारीरिक संबंध बनाने से दूर रहें |
  • दिवाली बधाई शायरी – हिंदी में पढ़ें

हम उम्मीद करते है की आपको करवा चौथ व्रत नियम की जानकारी अच्छी लगी | अगर आप चाहती है की किसी भी सुहागन का व्रत असफल ना हो तो इस जानकारी को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवारजनों व प्रियजनों के साथ जरुर शेयर करे और सोशल मीडिया जैसे Facebook Whatsapp Twitter इत्यादि पर पोस्ट करे | ऐसी ही धार्मिक और रोचक जानकारी के अलावा करवा चौथ की शायरी फोटो स्टेटस डाउनलोड करने के लिए हमारे पोर्टल www.Rkalert.in पर विजिट करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.