Navdurga Aarti Lyrics Video MP3 MP4 नवदुर्गा आरती संग्रह शैलपुत्री, ब्रह्माचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी व सिद्धिदात्री माता की आरती

Nav Durga Aarti. Navratri Ki 9 Aarti नवदुर्गा आरती संग्रह हिंदी में Nav Durga Aarti Lyrics Nav Durga Aarti in Hindi PDF Navdurga Aarti Lyrics Video in Hindi शैलपुत्री, ब्रह्माचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी व सिद्धिदात्री माता की आरती :- नवरात्री हिन्दू धर्म में मनाये जाने वाला पर्व है | और इस पावन पर्व पर माँ दुर्गा के नौ दिनों तक नौ रूपों की पूजा की जाती है | कहा जाता है की नवरात्री में माँ दुर्गा के नौ रूपों की उपासना कर माँ दुर्गा, माँ लक्ष्मी और माँ सरस्वती जी को प्रसन्न कर मनवाछित फल प्राप्त कर सकते है |

माँ दुर्गा के भक्त अपनी मनोकामना पूर्ण करने के लिए पुरे सच्चे मन से माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा-पाठ, आरती, मंत्र व रक्षाकवच का पाठ करते है | इस आर्टिकल में माँ दुर्गा के नौ रूपों की नौ आरती Nav Durga Aarti Lyrics Nav Durga Aarti in Hindi PDF Navdurga Aarti Video दी गई है | इन आरतियो को अलग-अलग नौ दिनों तक पुरे विधि-विधान से करने पर माँ दुर्गा माँ अम्बे को प्रसन्न किया जा सकता है |

Nav Durga Aarti Lyrics Video in Hindi

Nav Durga Aarti Lyrics 9 Deviyon ki Aarti नवदुर्गा आरती संग्रह

Contents

नवरात्री के इस पावन पर्व पर माँ दुर्गा के नौ रूप क्रमश: शैलपुत्री, ब्रह्माचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री माता की पूजा की जाती है | जो माँ दुर्गा की नौ आरती नवदुर्गा आरती नवरात्री की 9 आरती Nav Durga Aarti No Devi Ki Aarti 9 Deviyon Ki Aarti Nav Durga Aarti in Hindi 9 देवियों की आरती नवदुर्गा आरती Nav Durga Aarti Lyrics Nav Durga Aarti in Hindi PDF Nav Durga Aarti Lyrics Video in Hindi सर्च कर रहे है | वे यहाँ इस पेज के अंत तक माँ दुर्गा के नौ रूपों की आरती नवदुर्गा आरती पढ़ सकते है |

शैलपुत्री माता की आरती व मंत्र Maa Shailputri Aarti Mantra In Hindi

Maa Shailputri ki Aarti Mantra In Hindi शैलपुत्री माता की आरती व मंत्र : नवरात्री के प्रथम दिन माँ शैलपुत्री जी की आराधना की जाती है | पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री के रूप में अवतार लेने से इनका नाम शैलपुत्री पड़ा | शैलपुत्री माता को माँ पार्वती व हेमवती के नाम से भी जाना जाता है |

नवरात्री के पहले दिन कलश/घट स्थापना कर माँ शैलपुत्री की आरती कर मंत्र का जाप किया जाता है | व बहुत से लोग नकारात्मक उर्जा से दूर रहने के लिए शैलपुत्री माता के रक्षाकवच का पाठ करते है | यहाँ आप माँ शैलपुत्री की आरती, शैलपुत्री माता का मंत्र, माँ शैलपुत्री का रक्षाकवच मंत्र पढ़ सकते है |

आरती देवी शैलपुत्री जी की

शैलपुत्री मां बैल असवार, करें देवता जय जयकार |
शिव शंकर की प्रिय भवानी, तेरी महिमा किसी ने ना जानी ||

पार्वती तू उमा कहलावे, जो तुझे सिमरे सो सुख पावे |
ऋद्धि-सिद्धि परवान करे तू, दया करे धनवान करे तू ||

सोमवार को शिव संग प्यारी, आरती तेरी जिसने उतारी |
उसकी सगरी आस पुजा दो, सगरे दुख तकलीफ मिला दो ||

घी का सुंदर दीप जला के, गोला गरी का भोग लगा के |
श्रद्धा भाव से मंत्र गाएं, प्रेम सहित फिर शीश झुकाएं ||

जय गिरिराज किशोरी अंबे, शिव मुख चंद्र चकोरी अंबे |
मनोकामना पूर्ण कर दो, भक्त सदा सुख संपत्ति भर दो ||

मां शैलपुत्री जी का मंत्र

या देवी सर्वभूतेषु प्रकृति रूपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो ||

वन्दे वांछितलाभाय चन्द्रर्धकृत शेखराम् |
वृशारूढ़ा शूलधरां शैलपुत्री यशस्वनीम् ||

|| पूणेन्दु निभां गौरी मूलाधार स्थितां प्रथम दुर्गा त्रिनेत्राम् ||

|| पटाम्बर परिधानां रत्नाकिरीटा नामालंकार भूषिता ||

प्रफुल्ल वंदना पल्लवाधरां कातंकपोलां तुग कुचाम् |
कमनीयां लावण्यां स्नेमुखी क्षीणमध्यां नितम्बनीम् ||

माँ शैलपुत्री का रक्षाकवच मंत्र

ओमकार: मेंशिर: पातुमूलाधार निवासिनी |
हींकार: पातु ललाटे बीजरूपा महेश्वरी ||

श्रींकारपातुवदने लावाण्या महेश्वरी |
हुंकार पातु हदयं तारिणी शक्ति स्वघृत ||

|| फट्कार पात सर्वागे सर्व सिद्धि फलप्रदा ||

Maa Shailputri Aarti Video माँ शैलपुत्री जी की आरती Shailputri Mata Ki Aarti

ब्रह्माचारिणी माता की आरती मंत्र Maa Brahmcharini ki Aarti Mantra Hindi Me

आरती व मंत्र ब्रह्माचारिणी माता की Maa Brahmcharini ji ki Aarti Mantra Hindi Me : माँ दुर्गा का दूसरा रूप ब्रह्माचारिणी है अत: नवरात्री के दुसरे दिन माँ ब्रह्माचारिणी जी की पूजा की जाती है | ब्रह्माचारिणी माता का रूप पूर्ण ज्योतिर्मय है | ब्रह्माचारिणी माता के दाहिने हाथ में जप माला एवं बाए हाथ में कमंडल रहता है |

नवरात्री के दुसरे दिन माँ ब्रह्माचारिणी जी की आरती व मंत्र का जाप करना चाहिए | ब्रह्माचारिणी माता की उपासना करने से तप, त्याग व संयम की वृद्धि होती है | यहाँ आप ब्रह्माचारिणी माता की आरती व ब्रह्माचारिणी माता के मंत्र का जाप कर सकते है |

आरती देवी ब्रह्माचारिणी जी की

जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता, जय चतुरानन प्रिय सुख दाता |
ब्रह्मा जी के मन भाती हो, ज्ञान सभी को सिखलाती हो ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा, जिसको जपे सकल संसारा |
जय गायत्री वेद की माता, जो मन निस दिन तुम्हें ध्याता ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

कमी कोई रहने न पाए, कोई भी दुख सहने न पाए |
उसकी विरति रहे ठिकाने, जो ​तेरी महिमा को जाने ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

रुद्राक्ष की माला ले कर, जपे जो मंत्र श्रद्धा दे कर |
आलस छोड़ करे गुणगाना, मां तुम उसको सुख पहुंचाना ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

ब्रह्माचारिणी तेरो नाम, पूर्ण करो सब मेरे काम |
भक्त तेरे चरणों का पुजारी,रखना लाज मेरी महतारी ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता, जय चतुरानन प्रिय सुख दाता |
ब्रह्मा जी के मन भाती हो, ज्ञान सभी को सिखलाती हो ||
जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता

मां ब्रह्माचारिणी जी का मंत्र

या देवी सर्वभूतेषू सृष्टि रूपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम: ||

Brahmcharini Mata Ki Aarti Video ब्रह्माचारिणी माता की आरती का विडियो

चन्द्रघंटा माता की आरती और मंत्र Chandraghanta Maa ki Aarti & Mantra

चन्द्रघंटा माता की आरती और मंत्र Chandraghanta Maa ki Aarti & Mantra : नवरात्री के तीसरे दिन माँ चंद्रघंटा को पूजा जाता है | नवरात्री के तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है | माँ का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी होता है | माँ चंद्रघंटा की आराधना से सभी पाप व बाधाओं का निवारण होता है | निचे दी गई चंद्रघंटा माता की आरती व चंद्रघंटा माता के मंत्र का उच्चारण कर माँ चंद्रघंटा को प्रसन्न किया जा सकता है |

चंद्रघंटा माता की आरती

जय माँ चन्द्रघंटा सुख धाम
पूर्ण कीजो मेरे काम
चन्द्र समान तू शीतल दाती
चन्द्र तेज किरणों में समाती
क्रोध को शांत बनाने वाली
मीठे बोल सिखाने वाली
मन की मालक मन भाती हो
चन्द्र घंटा तुम वरदाती हो
सुंदर भाव को लाने वाली
हर संकट मे बचाने वाली
हर बुधवार जो तुझे ध्याये
श्रद्धा सहित जो विनय सुनाय
मूर्ति चंदर आकार बनाये
सन्मुख घी की ज्योत जलाये
शीश झुका कहे मन की बाता
पूर्ण आस करो जगदाता
कांची पुर स्थान तुम्हारा
करनाटिका मे मान तुम्हारा
नाम तेरा रटू महारानी
‘चमन’ की रक्षा करो भवानी

चंद्रघंटा माता का मंत्र हिंदी में

पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता ! प्रसादं तनुते मह्यां चन्द्रघण्टेति विश्रुता !!

Chandraghanta Mata Aarti Video चंद्रघंटा माता की आरती का विडियो

माता कुष्मांडा जी की आरती मंत्र Maa Kushmanda ji ki Aarti Mantra In Hindi

माता कुष्मांडा जी की आरती व मंत्र Maa Kushmanda ji ki Aarti & Mantra In Hindi  : नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कुष्माण्डा देवी की साधना की जाती है | कहा जाता है की जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था, तब कूष्मा देवी ने ब्रह्मांड की रचना की थी |

माँ कूष्माण्डा की उपासना करने सभी रोग-शोक मिट जाते हैं और आयु, यश, बल और आरोग्य की वृद्धि होती है | कूष्माण्डा माता को प्रसन्न करने के लिए बड़े माथे वाली तेजस्वी विवाहित महिला का पूजन कर माता कुष्मांडा के मंत्र का जाप करना चाहिए | यहाँ आप कुष्मांडा माता की आरती और कुष्मांडा माता के मंत्र का उच्चारण कर सकते है |

माता कुष्मांडा की आरती

कुष्मांडा जय जग सुखदानी
मुझ पर दया करो महारानी
पिंगला ज्वालामुखी निराली
शाकम्बरी माँ भोली भाली
लाखो नाम निराले तेरे
भगत कई मतवाले तेरे
भीमा पर्वत पर है डेरा
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा
संब की सुनती हो जगदम्बे
सुख पौचाती हो माँ अम्बे
तेरे दर्शन का मै प्यासा
पूर्ण कर दो मेरी आशा
माँ के मन मै ममता भारी
क्यों ना सुनेगी अर्ज हमारी
तेरे दर पर किया है डेरा
दूर करो माँ संकट मेरा
मेरे कारज पुरे कर दो
मेरे तुम भंडारे भर दो
तेरा दास तुझे ही ध्याये
‘चमन’ तेरे दर शीश झुकाए

माँ कुष्मांडा मंत्र हिंदी में

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च |
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे ||

Maa Kushmanda Maa Ki Aarti Ka Video कुष्मांडा माता की आरती विडियो

माँ स्कंदमाता की आरती व मंत्र Skandmata Aarti Mantra in Hindi

स्कंदमाता माता की आरती मंत्र  Skandmata Aarti Mantra in Hindi : माँ दुर्गा का पांचवा रूप स्कंदमाता है इसलिए नवरात्रि के पांचवे दिन स्कंदमाता की उपासना की जाती है | स्कंदमाता का आसन कमल होने से इन्हें पद्मासना देवी भी कहा जाता है | माँ स्कंदमाता की उपासना करने से भक्तो की समस्त इच्छाएँ पूर्ण हो जाती हैं और मृत्युलोक में परम शांति और सुख का अनुभव मिलाता है | और आप यहाँ निचे स्कंदमाता की आरती व स्कंदमाता का मंत्र पढ़ सकते है |

स्कंदमाता माता की आरती

जय तेरी हो अस्कंध माता
पांचवा नाम तुम्हारा आता
सब के मन की जानन हारी
जग जननी सब की महतारी
तेरी ज्योत जलाता रहू मै
हरदम तुम्हे ध्याता रहू मै
कई नामो से तुझे पुकारा
मुझे एक है तेरा सहारा
कही पहाड़ो पर है डेरा
कई शेहरो मै तेरा बसेरा
हर मंदिर मै तेरे नजारे
गुण गाये तेरे भगत प्यारे
भगति अपनी मुझे दिला दो
शक्ति मेरी बिगड़ी बना दो
इन्दर आदी देवता मिल सारे
करे पुकार तुम्हारे द्वारे
दुष्ट दत्य जब चढ़ कर आये
तुम ही खंडा हाथ उठाये
दासो को सदा बचाने आई
‘चमन’ की आस पुजाने आई

माँ स्कंदमाता मंत्र हिंदी में

सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया |
शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी ||

Skandmata Ki Aarti Ka Video स्कंदमाता की आरती विडियो

माँ कात्यायनी जी की आरती मंत्र हिंदी में Katyayni Mata ki Aarti Mantra

कात्यायनी माता की आरती व मंत्र हिंदी में Katyayni Mata ki Aarti Mantra in Hindi : नवरात्री के छठे दिन माँ कात्यायनी को पूजा जाता है | इवस कात्यायनी माता की आरती व मंत्र का जाप कर माँ कात्यायनी को प्रसन्न किया जाता है | जो माँ कात्यायनी जी की आरती और मंत्र सर्च कर रहे है वे यहाँ नवदुर्गा आरती में माँ कात्यायनी जी की आरती व मंत्र पढ़ सकते है | व माँ के दरबार में इस आरती व मंत्र का उच्चारण कर कात्यायनी माता को प्रसन्न कर सकते है |

कात्यायनी माता की आरती

जय जय अम्बे जय कात्यानी
जय जगमाता जग की महारानी
बैजनाथ स्थान तुम्हारा
वहा वरदाती नाम पुकारा
कई नाम है कई धाम है
यह स्थान भी तो सुखधाम है
हर मंदिर में ज्योत तुम्हारी
कही योगेश्वरी महिमा न्यारी
हर जगह उत्सव होते रहते
हर मंदिर में भगत है कहते
कत्यानी रक्षक काया की
ग्रंथि काटे मोह माया की
झूठे मोह से छुडाने वाली
अपना नाम जपाने वाली
ब्रेह्स्पतिवार को पूजा करिए
ध्यान कात्यानी का धरिये
हर संकट को दूर करेगी
भंडारे भरपूर करेगी
जो भी माँ को ‘चमन’ पुकारे
कात्यानी सब कष्ट निवारे

माँ कात्यायनी मंत्र हिंदी में

चन्द्रहासोज्जवलकराशाईलवरवाहना ! कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी !!

Katyayni Mata Aarti Video कात्यायनी माता की आरती का विडियो

माँ कालरात्रि जी की आरती व मंत्र Kalratri Mata ki Aarti & Mantra Hindi me

कालरात्रि माता की आरती व मंत्र Kalratri Mata ki Aarti Mantra Hindi me : माँ दुर्गा की सातवी शक्ति को कालरात्रि माता के नाम से जाना जाता है | इसलिए नवरात्री के सातवे दिन माँ कालरात्रि की पूजा की जाती है | कालरात्रि माता की उपासना करने से सभी राक्षस, भूत, प्रेत, पिसाच और नकारात्मक ऊर्जाओं का नाश होता है | कालरात्रि माता की आरती व माँ कालरात्रि के मंत्र का उच्चारण कर कालरात्रि माता को प्रसन्न कर सकते है |

माता कालरात्रि की आरती

कालरात्रि जय-जय महाकाली ! काल के मुंह से बचाने वाली !!
दुष्ट संघारक नाम तुम्हारा ! महाचंडी तेरा अवतारा !!
पृथ्वी और आकाश पे सारा ! महाकाली है तेरा पसारा !!
खड्ग खप्पर रखनेवाली ! दुष्टों का लहू चखनेवाली !!
कलकत्ता स्थान तुम्हारा ! सब जगह देखूं तेरा नजारा !!
सभी देवता सब नर-नारी ! गावें स्तुति सभी तुम्हारी !!
रक्तदंता और अन्नपूर्णा ! कृपा करे तो कोई भी दुख ना !!
ना कोई चिंता रहे बीमारी ! ना कोई गम ना संकट भारी !!
उस पर कभी कष्ट ना आवे ! महाकाली मां जिसे बचावे !!
तू भी भक्त प्रेम से कह ! कालरात्रि मां तेरी जय !!

माँ कालरात्रि मंत्र हिंदी में

“एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता, लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी |
वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टक भूषणा, वर्धन्मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी ||“

Kalratri Mata Ki Aarti Ka Video माँ कालरात्रि जी की आरती विडियो

महागौरी मैया की आरती व मंत्र Mahagauri Mata ki Aarti & Mantra in Hindi

Mahagauri Mata ki Aarti & Mantra in Hindi महागौरी माता आरती व मंत्र : नवरात्री के आठवे दिन महागौरी मैया का पूजन किया जाता है | माँ दुर्गा के आठवे रूप महागौरी का रूप विद्युत के समान अत्यंत कांतिमान गौरवर्ण है अर्थात महागौरी मैया को सफ़ेद रंग वाली माँ के नाम से भी जाना जाता है | माँ गौरी की उपासना से भक्तों के सभी कल्मष धुल जाते हैं और पूर्वसंचित पाप भी विनष्ट हो जाते हैं तथा भविष्य में पाप-संताप, दैन्य-दुःख उनके जीवन में कभी नही आते |

जीवन के सुख-शांति के लिए जो महागौरी की आरती व महागौरी के मंत्र की तलाश कर रहे है वे यहाँ से महागौरी मैया की आरती व साथ ही माँ महागौरी के मंत्र का उच्चारण कर सकते है |

महागौरी मैया की आरती

जय महागौरी जगत की माया, जय उमा भवानी जय महामाया |
हरिद्वार कनखल के पासा, महागौरी तेरा वहा निवास ||
चंदेर्काली और ममता अम्बे, जय शक्ति जय जय माँ जगदम्बे |
भीमा देवी विमला माता, कोशकी देवी जग विखियाता ||
हिमाचल के घर गोरी रूप तेरा, महाकाली दुर्गा है स्वरूप तेरा |
सती ‘सत’ हवं कुंड मै था जलाया, उसी धुएं ने रूप काली बनाया ||
बना धर्म सिंह जो सवारी मै आया, तो शंकर ने त्रिशूल अपना दिखाया |
तभी माँ ने महागौरी नाम पाया, शरण आने वाले का संकट मिटाया ||
शनिवार को तेरी पूजा जो करता, माँ बिगड़ा हुआ काम उसका सुधरता |
‘चमन’ बोलो तो सोच तुम क्या रहे हो, महागौरी माँ तेरी हरदम ही जय हो ||

माँ महागौरी मंत्र हिंदी में

|| ॐ देवी महागौर्यै नमः ||

Mahagauri Mata ki Aarti Video महागौरी मैया की आरती का विडियो

माँ सिद्धिदात्री जी की आरती व मंत्र Siddhidatri Mata ki Aarti & Mantra

माँ सिद्धिदात्री जी की आरती व मंत्र Siddhidatri Mata ki Aarti & Mantra : नवरात्री के अंतिम दिन अर्थात नौवे दिन माँ सिद्धिदात्री का पूजन किया जाता है | और अविवाहित कन्याओ का पूजन कर उन्हें भोजन करवा कर दक्षिणा भेंट की जाती है | माँ सिद्धिदात्री की उपासना करने से अनंत दुख रूप संसार से निर्लिप्त रहकर सारे सुखों का भोग करता हुआ वह मोक्ष को प्राप्त कर सकते है | माँ सिद्धिदात्री जी की आरती व माँ सिद्धिदात्री जी के मंत्र यहाँ उपलब्ध करवा दिए गए है | इनका उच्चारण कर मातारानी को प्रसन्न कर सकते है |

सिद्धिदात्री माता आरती

जय सिद्धिदात्री तू सिद्धि की दाता, तू भक्तो की रक्षक तू दासो की माता |
तेरा नाम लेते ही मिलती है सिद्धि, तेरे नाम से मन की होती है शुद्धि ||
कठिन काम सिद्ध कराती हो तुम, जभी हाथ सेवक के सर धरती हो तुम |
तेरी पूजा मैं तो न कोई विधि है, तू जगदम्बें दाती तू सर्वसिद्धि है ||
रविवार को तेरा सुमरिन करे जो, तेरी मूर्ति को ही मन मैं धरे जो |
तू सब काज उसके कराती हो पूरे, कभी काम उस के रहे न अधूरे ||
तुम्हारी दया और तुम्हारी यह माया,रखे जिसके सर पैर मैया अपनी छाया |
सर्व सिद्धि दाती वो है भागयशाली, जो है तेरे दर का ही अम्बें सवाली ||
हिमाचल है पर्वत जहाँ वास तेरा, महा नंदा मंदिर मैं है वास तेरा |
मुझे आसरा है तुम्हारा ही माता, वंदना है सवाली तू जिसकी दाता ||

माँ सिद्धिदात्री मंत्र हिंदी में

सिद्धगन्‍धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि |
सेव्यमाना सदा भूयात सिद्धिदा सिद्धिदायिनी ||

Siddhidatri Mata ki Aarti Video माँ सिद्धिदात्री जी की आरती का विडियो

नवदुर्गा आरती अर्थात माँ दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की अलग-अलग आरतीया व मंत्र यहाँ आपको उपलब्ध करवा दी गई है | माँ दुर्गा के नौ रूपों की आरती कर माँ दुर्गा की मूर्ति के सामने आसन ग्रहण कर नवदुर्गा मंत्रो का उच्चारण कर मातारानी को प्रसन्न कर मनवांछित फल प्राप्त कर सकते है |

यह भी देखे
Follow On FacebookClick Here
Join Facebook GroupClick Here
Follow On TwitterClick Here
Subscribe On YouTubeClick Here
Follow On InstagramClick Here
Join On TelegramClick Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.