Raksha Bandhan का शुभ मुहर्त जानिए रात में लग रहा है चंद्रग्रहण

12 वर्षो बाद फिर Raksha Bandhan के दिन यह योग बना चन्द्र ग्रहण, सूतक, भद्रा

भाई-बहन के पवित्र रिश्ते के इस पर्व को हम रक्षा बंदन के रूप में मनाते हैं रक्षा बन्दन के दिन बहिन अपने भाई को रक्षा सूत्र बांधती और लम्बी उम्र की कामना करती हैं लेकिन इस बार रक्षा बंदन के इस पर्व पर एक योग बन रहा जो पिछले 12 वर्षो पहले बना था | रक्षा बंदन के पहले दिन भद्रा हैं जो दुसरे दिन खत्म होती हैं और उसी समय चन्द्र ग्रहण प्रारम्भ हो रहा और चन्द्र ग्रहण पूर्ण होने के 9 घंटे तक सूतक रहेगा इस समय कोई शुभ कार्य नही किया जा सकता लेकिन इस समय में रक्षा बंदन का त्यौहार हैं जो की एक शुभ कार्य हैं आप सभी परेशान हो रहें होंगे की हम अपने भाइयो को राखी कब बांधे पंडितो के हिसाब से कुछ समय शुभ रहेगा जिस में आप यह शुभ कार्य कर सकते और  चन्द्र ग्रहण के बुरे प्रभाव से बच सकते हैं

शुभ मुहुर्त राखी बांधने का

सुबह 11.05 बजे से लेकर 1.52 मिनट करीब 3 घंटे तक का ही शुभ मुहुर्त रहेगा कुछ संत जनों की माने तो शुभ मुहूर्त सुबह 10.30 से 10.48 बजे तक रहेगा। इसलिए 18 मिनट का ही शुभ मुहूर्त रहेगा

चंद्रग्रहण का समय

चंद्रग्रहण 7 अगस्त रात 10.53 बजे से शुरू होगा। इसका मोक्षकाल देर रात 12.48 बजे तक होगा। अवधि कुल 1 घंटा 57 मिनट की होगी ।

भद्रा का समय

7 अगस्त को सूर्योदय से लेकर सुबह 10 बजकर 30 मिनट तक होगा परन्तु भद्रा का असर दिन में लगभग 11:05 तक प्रभावित कर सकता है।

सूतक का समय

सूतक काल 7 अगस्त को दोपहर 1.55 मिनट से शुरु हो जाएगा।

कहा कहा दिखाए देगा चंद्रग्रहण

चंद्रग्रहण पूर्ण न होकर खंडग्रास होगा। यह भारत समेत एशिया के अधिकांश देशों, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, यूरोपीय आदि देशों में दिखाई देगा।

क्या प्रभाव पड़ेगा इस चंद्रग्रहण से आप के जीवन में और वातावरण में

ग्रहण के समय मकर राशि स्थित चंद्रमा पर सूर्य व नीच राशि में स्थित मंगल और शनि की कुदृष्टि रहेगी जिस के कारण से प्राकर्तिक आपदा और राजनीति में उतल पुतल होने वाला हैं फसलों को नुकसान और जान जीवन में हानि होने की सभावना जताये जा रही हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.