RamNath Kovind Biography रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप चुने गये

RamNath Kovind Biography Ramnath Kovind 14th President of India RamNath Kovind Life family RamNath Kovind History Education and other Details Ram Nath was born on 1st October in the year 1945. He was born and brought up in Kanpur Uttar Pradesh. He Practiced in Delhi High court for long 16 Years as a Professional Lawyer before he walked onto the world of Indian Poultices in the year 1994. In June 2017, he won the nomination of the Bharatiya Janata Party for President of India in the 2017 Indian presidential election. Shri Kovind completed his school education in Kanpur and obtained the degrees of B.Com and L.L.B. from Kanpur University. In 1971, he enrolled as an Advocate with the Bar Council of Delhi. Shri Kovind was Union Government Advocate in the Delhi High Court from 1977 to 1979 and Union Government Standing Counsel in the Supreme Court from 1980 to 1993. He became Advocate-on-Record of the Supreme Court of India in 1978. He practised at the Delhi High Court and Supreme Court for 16 years till 1993. Shri Kovind also served as Member of the Board of Management of the Dr B.R Ambedkar University Lucknow and Member of the Board of Governors of the Indian Institute of Management Kolkata. He was part of the Indian delegation at the United Nations and addressed the United Nations General Assembly in October 2002. Ram Nath Kovind Biography

RamNath Kovind Biography  रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप चुने गये

रामनाथ कोविंद भारत के वर्तमान राष्ट्रपति : रामनाथ कोविंद आज मंगलवार को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। दोपहर 12.15 बजे संसद के सेंट्रल हॉल में कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति का स्थान ग्रहण करेंगे। मुख्य न्यायधिश जस्टिस खेहर कोविंद को शपथ दिलाएंगे और इसके बाद राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और नव निर्वाचित राष्ट्रपति अपनी कुर्सियों को आपस मैं बदलेंगे।चीफ जस्टिस खेहर, स्पीकर सुमित्रा महाजन और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी सेंट्रल हॉल मैं उनके साथ होंगे। शपथ ग्रहण के बाद सेंट्रल हॉल में नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भाषण होगा। In 1997, Kovind joined the SC/ST employees’ movement against the central government to protest against some government orders. These orders were later termed null and void through the passage of three amendments to the Constitution. रामनाथ कोविंद ने छोटी सी उम्र में ही सामाजिक सेवा करना शुरू कर दिया था | और अपने स्थानीय लोगो में शिक्षा के जगत में एक अच्छी पहचान कमा ली थी | ये बचपन से ऊधार परवर्ती के थी जिस के कारण से ये अच्छे वक्ता थे |

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भारत के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ समारोह

नव निर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को आज देश के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई जाएगी | उनका शपथग्रहण समारोह दोपहर 12:15 बजे संसद भवन सेंट्रल हॉल में होगा. इस समारोह में भाग लेने के लिए, राज्यसभा के सभापति, प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, मंत्री परिषद के सदस्य, राज्‍यों के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, तमाम सांसद और भारत सरकार के प्रमुख असैनिक और सैनिक अधिकारी केन्द्रीय हॉल में इकट्ठा होंगे. इसके अलावा उनके परिवार के लोग भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे. राष्ट्रपति और नव-निर्वाचित राष्ट्रपति गणमान्य व्यक्तियों के साथ सेंट्रल हॉल में पहुंचेंगे. नव-निर्वाचित राष्ट्रपति द्वारा भारत के मुख्य न्यायाधीश के समक्ष शपथ लेने के बाद उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाएगी. इसके बाद वह भाषण देंगे |

रामनाथ कोविंद
रामनाथ कोविंद
14वाँ राष्ट्रपति, भारत
पद पर मौजूद
पदभार लिहल गइल
25 जुलाई 2017
परधानमंत्री नरेंद्र मोदी
उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू
इनसे पहिले प्रणब मुखर्जी
बिहार के राज्यपाल
पद पर रहलें
16 अगस्त 2015 – 20 जून 2017
इनसे पहिले केशरी नाथ त्रिपाठी
इनके बाद केशरी नाथ त्रिपाठी
राज्यसभा सांसद
पद पर रहलें
1994 – 2006
निजी जानकारी
जनम 1 अक्टूबर 1945 (उमिर 74)
डेरापुर, संजुक्त प्रांत, ब्रिटिश भारत
नागरिकता भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
जीवनसाथी सविता कोविंद
संतान
  • प्रशांत कोविंद (बेटा)
  • स्वाती कोविंद (बेटी)
पढ़ाई बीकॉम, एलएलबी
महतारी संस्था कानपुर विश्वविद्यालय
अकुपेशन वकालत, राजनीति

रामनाथ कोविंद की बायोग्राफी :

रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय : रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपूर जिले के एक छोटे से गाँव परौंख मैं दलित परिवार मैं हुआ | कोविन्द का सम्बन्ध कोरी जाति से है जो उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के अंतर्गत आती है। रामनाथ कोविंद बचपन से ही बुद्धीमान प्राणी थे और उन्होंने ग्रेजुएट तक की पढ़ी करके वकालत की ,वकालत की उपाधि लेने के पश्चात उन्होने दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की। वह 1977 से 1979 तक दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे। 08 अगस्त 2014 को बिहार के राज्यपाल के पद पर उनकी नियुक्ति हुई। उन्होनें संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा भी तीसरे प्रयास में ही पास कर ली थी।

रामनाथ कोविंद के बारे मैं

जन्म : 1 अक्टूबर 1945 परौंख, डेरापुर ,कानपुर, उत्तर प्रदेश
राष्ट्रीयता : भारतीय
राजनीतिक दल : भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी : सविता कोविंद (विवाह :३० मई १९७४)
बच्चे : दो ,पुत्र – प्रशांत कुमार, पुत्री – स्वाती
निवास : कानपुर, उत्तर प्रदेश
शैक्षिक सम्बद्धता : बीकॉम, एल॰ एल. बी., कानपुर विश्वविद्यालय
पेशा : वकालत, राजनीति, राज्यपाल [1]
धर्म : हिन्दू , कोरी (कोली)

रामनाथ कोविंद का राजनितिक जीवन :

रामनाथ कोविंद जून, 1975 में आपातकाल के बाद जनता पार्टी की सरकार बनने पर रामनाथ कोविंद वित्तमंत्री मोरारजी देसाई के निजी सचिव रहे थे। जनता पार्टी की सरकार में उच्चतम न्यायालय के जूनियर काउंसलर के पद पर कार्य किया। वर्ष 1977 में जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद वह तत्कालीन प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के निजी सचिव बने थे। इसके बाद भाजपा नेतृत्व के संपर्क में आए। वर्ष 1991 में रामनाथ कोविंद भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित हो गये थे। 1994 में वे उत्तर प्रदेश राज्य से राज्य सभा के लिये निर्वाचित हुए। फिर वर्ष 2000 में पुनः उत्तर प्रदेश राज्य से राज्य सभा के लिए निर्वाचित हुए। इस प्रकार कोविन्द लगातार बारह वर्ष तक राज्य सभा के सदस्य रहे। वे दो बार ‘भाजपा अनुसूचित मोर्चा’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा उत्तर प्रदेश के महामंत्री रह चुके हैं।।

रामनाथ कोविंद राज्यपाल के रूप मैं :

रामनाथ कोविंद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे। 8 अगस्त, 2015 को रामनाथ कोविंद की बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई। केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश से राज्यपाल बनने वाले तीसरे व्यक्ति हैं।

रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप मैं :

श्री रामनाथ कोविंद का नाम भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 19 जून, 2017 को एन.डी.ए. के सर्वसम्मत राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में घोषित किया। रामनाथ कोविंद स्वयंसेवक हैं। भाजपा के पुराने नेता हैं। संघ और भाजपा में कई प्रमुख पदों पर रहे हैं। सांसद रहे हैं। एस.सी.एस.टी. प्रकोष्ठ के प्रमुख का दायित्व भी उन्होंने निभाया है और संगठन की मुख्यधारा की ज़िम्मेदारियां भी कुशलतापूर्वक निभाई हैं। दिल्ली हाईकोर्ट के अधिवक्ता के तौर पर रामनाथ कोविंद का एक अच्छा खासा अनुभव है। सरकारी वकील भी रहे हैं। राष्ट्रपति पद के लिए जिस तरह की मूलभूत आवश्यकताएं समझी जाती हैं, वह उनमें हैं और मृदुभाषी भी हैं। कम बोलना और शांति के साथ काम करना रामनाथ कोविंद की शैली है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बारे मैं महत्वपूर्ण तथ्य : Interesting Fact of Ramnath Kovind

  1. रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश से भाजपा के दलित नेता हैं।
  2. वे दो बार राज्य सभा के सदस्य रहे हैं।
  3. वे सरकारी वकील रहे और 1971 में बार काउंसिल के लिए नामांकित हुए।
  4. उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय तथा उच्चतम न्यायालय में 16 साल तक प्रैक्टिस की है।
  5. रामनाथ कोविंद ने कानपुर यूनिवर्सिटी से बी.कॉम और एल.एल.बी. की पढ़ाई की है।
  6. दिल्ली हाईकोर्ट में कोविंद 1977 से 1979 तक केंद्र सरकार के वकील रहे। 1980 से 1993 तक केंद्र सरकार के स्टैंडिग काउंसिल में थे।
  7. वर्ष 1994 में रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश से राज्य सभा के लिए सांसद चुने गए थे। वह 12 साल तक राज्य सभा सांसद रहे।
  8. वे कई संसदीय समितियों के सदस्य भी रहे हैं।
  9. कोविंद गवर्नर्स ऑफ़ इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट के भी सदस्य रहे हैं।
  10. 2002 में रामनाथ कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया। वे कई देशों की यात्रा कर चुके हैं।
  11. रामनाथ कोविंद बीजेपी दलित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और कोली समाज के अध्यक्ष रहे हैं।
  12. 8 अगस्त, 2015 में उनकी बिहार के राज्यपाल पद पर नियुक्ति हुई थी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सुविचार

1. विचारों का सम्मान लोकतंत्र की खूबी है. हमारी विविधता ही हमें महान बनाता है. हम बहुत अलग हैं लेकिन फिर भी एक है और एकजुट हैं- 

2 .मैं छोटे से गांव से आया हूं. मैं मिट्टी के घर में पला-बढ़ा हूं. मुझे राष्ट्रपति का पद सौंपने के लिए धन्यवाद- 

3. मारी सेना, पुलिस और किसान राष्ट्र की निर्माता है. वैज्ञानिक, शिक्षक, युवा और महिलाएं राष्ट्र की निर्माता हैं- कोविंद

4. देश संस्कृति, परम्परा और अध्यात्म पर गर्व है- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.