शिक्षक दिवस 05 सितम्बर 2017 शिक्षक की भूमिका कर्तव्य और अनमोल वचन

शिक्षक दिवस भारत में प्रति वर्ष 05 सितम्बर  को मनाया है | शिक्षक दिवस के दिन हमरे पूर्व राष्ट्रपति डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्ण का जन्म दिवस है | उनकी याद को हमेश ताजा रखने के लिए हम प्रति वर्ष 05 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मानते है | इस महान पुरष द्वारा कहे गए कुछ अनमोल वचन जो हम आप के लिए लेकर आ रहे है |

 Shikshak Diwas

गुरु की महिमा क्या कहे निर्मल गुरु से ही होए |
बिन गुरुवर जीवन कटु फल सा होए ||

शिक्षक दिवस पर अनमोल वचन Shikshak Diwas Anmol Vachan

  • एक साहित्य प्रतिभा कहा जाता है की हर एक की तरह दिखाती है लेकिन उस जैसा कोई नहीं दिखता है |
  • हमें मानवता को उन नैतिकता जड़ो तक वापस ले जाना चाहिए जहा से अनुशाशन और स्वतन्त्रता दोनों का उद्गम हो
  • किताब पढ़ना हमें एकांत में विचार करने की आदत और सच्ची खुसी देता है
  • केवल निर्मल मन वाला व्यक्ति ही जीवन के आध्यत्मिक अर्थ को समझ सकता है स्वयं के साथ ईमानदारी आध्यात्मिक अखंडता की अनिवार्यता है

Teacher Day Best Quotes

  • पुस्तके वी साधन है जिनके माध्यम से हमें विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण कर सकते है |
  • कला मानवीय आत्मा की गहरी परतो को उजागर करती है कला तभी संभव है जब स्वर्ग धरती को छुए
  • लोकतंत्र सिर्फ विशेष लोगो के नहीं बल्लिक हर एक मनुष्य की आध्यात्मिक संभावनाओ में एक यकीन है |
  • कहते है की धर्म के बिना इन्सान लगाम के बिना घोड़े की तरह है |
  • कहा गाया है की शिक्षक में दो गुण होते है एक आप को डरा कर नियमो में बाधते है और दूसरा जो आप को खुले में छोड़ कर आपका मार्ग प्रशस्त करता है |
  • कहा गया है की जन्म दाता से जायदा महत्व शिक्षक का होता है क्योकि ज्ञान ही इन्सान बनाता है |
  • एक अच्छा शिक्षक सफलता का चढ़ाव नहीं परन्तु असफलता का ढलान है
  • शिक्षक कभी खुद बुलंदियों पर नहीं पहुचते लेकिन बुलंदियों पर पहुचाने वाले शिक्षक ही निर्मित करते है |
    किताबे व अनमोल वचन भी जीवन में शिक्षक की भूमिका अदा करते है |

आदर्श शिक्षक वो है जो खुद को पुल की तरह इस्तेमाल करे जिसपर अपने विद्यार्थीयों को चलने के लिये आमंत्रित करता है, उनके यात्रा को सुगम बनाए, खुशी से विनाश को खत्म करे, तथा खुद से पुल बनाने के लिये प्रोत्साहित करे

समाज निर्माण में शिक्षक की भूमिका Role of Teacher in Society Creation

शिक्षक दिवस 2017

कहा गया है की जैसे एक शिक्षक ही देश भक्त और एक आतंकवादी बना सकता है | यहाँ बताया गया है की शिक्षक ही मार्गदर्शन देता है | शिक्षक के बताये गए रास्तें पर शिष्य आँख बंद कर के चल निकलता है | अगर शिक्षक शिष्य को दिन को रात और रात को दिन कह दे तो शिष्य उसी बात को सुनने के बाद उस असत्य को भी सत्य मान लेता है | कहा गया है की विद्यर्थी एक कच्ची मिट्टी की तरह होता है | शिक्षक उसे जिस रूप में ढालना चाहे वो वही रूप धारण कर लेगा | इस कारण कहा गया है की समाज निर्माण में एक शिक्षक की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है | शिक्षक एक विशेष प्रकार का दायित्व ग्रहण करता है | कहा गया है की देश निर्माण में माता पिता के बाद किसी का स्थान है तो वो शिक्षक का ही माना गया है |

शिक्षक का कर्तव्य Teacher duty

कहा गया है की एक सफल शिक्षक की सकारात्मक सोच जो कभी ना खुद उम्मीद का दामन छोड़ती है और न ही कभी किसी शिष्य को छोड़ने का हक़ देते है | अगर एक शिक्षक ही अपने आप से उम्मीद ना रख सकता तो शिष्य को जीवन में क्या रास्ता दिखा सकता है | कहा गाया है की सभी शिष्य एक जैसे नहीं होते है | सब की अपनी अपनी रूचि होती है | अपनी -अपनी एक पारिवारिक सोच होती है | इस प्रकार बहार की दुनिया और उसे जुड़े सही व गलत रास्तो का चयन एक शिष्य अपने शिक्षक के माध्यम से ही प्राप्त करता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.