University Exams UGC Guidelines 2021 Live Update देश की सभी यूनिवर्सिटी की मई महीने में आयोजित होने वाली OFFLINE परीक्षाएं स्थगित

UGC Guidelines 2021 Latest Update UGC New Guidelines 2021 All University Exams May Month Exams Postponed: यूजीसी की नई गाइडलाइंस UGC New Guidelines 2021 जारी कर दी गयी हैं | देश में सभी यूनिवर्सिटी की मई महीने में होने वाली सभी परीक्षाये स्तिगत कर दी गयी हैं भयानक रूप लेने की वजह के कारण मई माह में होने वाली सभी परीक्षाये रद्द करनी पड़ी | ये सभी जानकारी UGC New Guidelines 2021 में तय की गयी हैं | लेकिन आपको बतादे की यूजीसी के दिशा-निर्देश जारी होने से पहले देश के कई विश्वविद्यालय परीक्षाओं को लेकर फैसला ले चुके हैं | कई यूनिवर्सिटी ने परीक्षाओ को रद्द कर अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया है तो कई यूनिवर्सिटी ने परीक्षा आयोजित करवाने का कार्यक्रम घोषित कर दिया है | आप यहाँ से जान सकते है की ऐसी कौनसी यूनिवर्सिटी है जो यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले परीक्षा को लेकर फैसला लिया है |

Latest Update UGC Guidelines for University Exams 2021: कोरोना महामारी के चलते विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एक नोटिस जारी कर सभी विश्वविद्यालयों को मई महीने में आयोजित होने वाली ऑफलाइन परीक्षाओं को रद्द करने का निर्देश दिया है। यूजीसी द्वारा जारी किया गया नोटिस आधिकारिक वेबसाइट ugc.ac.in पर उपलब्ध है। आयोग ने सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को लिखे अपने पत्र में जोर देकर कहा कि चल रही COVID-19 महामारी के दौरान, सभी की स्वास्थ्य और सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है जैसा कि निर्देशित किया गया है।

UGC Guidelines For University Exams 2021

अगर आप जानना चाहते है की ऐसी कौन – कौन सी यूनिवर्सिटी है हो यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले ही परीक्षा को लेकर फैसला कर चुकी है | तो आप बिल्कुल सही पोर्टल पर है यहाँ आपको University Exams UGC Guidelines 2021 और यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले परीक्षा को लेकर फैसला लेने वाली यूनिवर्सिटी की सम्पूर्ण जानकारी बताई गई है | हमारे देश कई ऐसी यूनिवर्सिटी है जो यूजीसी की नई गाइडलाइंस का इंतजार कर रही है | और फाइनल ईयर के बहुत से ऐसे विद्यार्थी है जो ये जानने के लिए बेताब है की फाइनल ईयर की परीक्षा होगी या नहीं | अगर नहीं होगी तो प्रमोट किस आधार किया जावेगा | लेकिन कुछ राज्यों ने UGC Guidelines जारी होने से पहले ही परीक्षा से सम्बंधित अहम फैसला ले लिया है | जिसकी जानकारी आप यहाँ देख सकते है |

Calcutta University’s Decision Regarding Exam परीक्षा को लेकर कलकत्ता यूनिवर्सिटी का फैसला

यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले कलकत्ता यूनिवर्सिटी ने अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर स्टूडेंट्स को इंटरनल असेसमेंट और पिछले सेमेस्टरों में प्रदर्शन के आधार पर पास या प्रमोट करने का फैसला किया | कलकत्ता यूनिवर्सिटी इस फैसले के अनुसार विद्यार्थियों को 20 फीसदी मार्क्स इंटरनल असेसमेंट से और 80 फीसदी मार्क्स पिछले बेस्ट सेमेस्टरों से दिए जाएंगे | अगर फाइनल ईयर के विद्यार्थियों की बात करे तो बीए / बीएससी पार्ट III और बीकॉम पार्ट III ओल्ड (1+1+1) में पिछले दो सालों के मार्क्स का बेस्ट एग्रीगेट परसेंटेज से 80 फीसदी मार्क्स दिए जाएंगे जबकि इंटरनल असेसमेंट से 20 फीसदी मार्क्स दिए जाएंगे |

Patna Women’s College Promoted All Students पटना वीमेन्स कॉलेज ने सभी स्टूडेंट्स को किया प्रमोट

पटना वीमेन्स कॉलेज 3rd 5th Sem Exam 6 जुलाई से आयोजन करवाने का फैसला किया था लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पटना वीमेन्स कॉलेज ने यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले ही सभी छात्राओं को अगले सेमेस्टर में प्रमोट करने का निर्णय लिया | और सभी छात्राओं को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया | और जिन छात्राओ ने एंड सेम एग्जाम के फॉर्म भरे थे उनकी शैक्षणिक गतिविधियों को चालू रखने के लिए एग्जामिनेशन सेल और एकेडमिक काउंसिल ने उन सभी छात्राओ को भी प्रमोट कर दिया है |

यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले हरियाणा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों की परीक्षा को लेकर फैसला

यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले हरियाणा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों ने परीक्षा को लेकर अहम फैसला किया | हरियाणा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश विश्वविद्यालयों द्वारा लिए गए फैसले के अनुसार शेष बची सभी परीक्षाओ को रद्द कर विद्यार्थियों को उनके पहले के पेपरों में प्रदर्शन के आधार पर पास करने का फैसला किया |

इलाहाबाद विश्वविद्यालय परीक्षा को लेकर यूजीसी की गाइडलाइन का इंतजार

COVID-19 महामारी के कारण पंजाब सरकार ने राज्य की सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं को 31 May तक स्थगित कर दिया है | क्योकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच परीक्षा आयोजित किए जाने को लेकर छात्र और अभिभावक बहुत चिंतित है | हालही में पंजाब सरकार ने आदेश दिया है की पंजाब की सभी यूनिवर्सिटी की परीक्षाओ का अंतिम फैसला यूजीसी की नई गाइडलाइंस में दिए गए दिशा-निर्देशों पर निर्भर करेगा | यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय परीक्षा का फैसला यहाँ अपडेट कर दिया जावेगा |

परीक्षा को लेकर दिल्ली, गुजरात और राजस्थान यूनिवर्सिटी का फैसला

गुजरात टेक्निकल यूनिवर्सिटी (जीटीयू) के फाइनल ईयर के छात्रों ने यूजीसी को पत्र लिखकर परीक्षाएं रद्द कर पिछले सेमेस्टर की परीक्षा या मेरिट के आधार पर रिजल्ट जारी करनवाने की मांग की है |

यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले राजस्थान यूनिवर्सिटी ने फाइनल ईयर परीक्षा का टाइम टेबल डेटशीट जारी कर दी |राजस्थान यूनिवर्सिटी द्वारा जारी टाइम टेबल डेटशीट के अनुसार फाइनल ईयर की परीक्षा 15 जुलाई से 7 सितंबर तक चलेंगी | परीक्षा को लेकर राजस्थान यूनिवर्सिटी ने आदेश जारी करते हुए परीक्षार्थियों, शिक्षक और कर्मचारियों को निर्देश दिए की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और अनिवार्य रूप से मास्क पहनकर परीक्षा केंद्र पर आये | वही परीक्षा केन्द्रों को आदेश दिए की प्रवेश से पहले विद्यार्थियों की थर्मल स्कैनर से जांच और हैंड सेनेटाइज जरुर करे |

दिल्ली यूनिवर्सिटी परीक्षा फैसले की बात करे तो फाइनल ईयर के छात्रों के लिए ओपन बुक एग्जाम का नया शेड्यूल जारी कर दिया है | दिल्ली यूनिवर्सिटी द्वारा जारी नए शेड्यूल के अनुसार फाइनल ईयरकी परीक्षा 10 जुलाई से शुरू होंगी |

उत्तर प्रदेश विश्वविधालयो की परीक्षा को लेकर यूजीसी गाइडलाइंस का इंतजार

यूजीसी की ओर से फाइनल ईयर की परीक्षाओं के लिए गाइडलाइंस जारी किए जाने के इंतजार के बीच यूपी सरकार ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों व कॉलेजों की परीक्षाओं को लेकर फैसला लेगी | ऐसा अनुमान लगया जा रहा है की राज्य की सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं निरस्त कर छात्रों को अगली कक्षाओं में प्रोन्नत करने का शासनादेश जारी हो सकता है | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को उनके सरकारी आवास पर हुई बैठक में ही परीक्षाएं निरस्त करने का फैसला ले लिया गया था | परीक्षाओं के संबंध में गठित चार कुलपतियों की कमेटी ने परीक्षाएं निरस्त कर छात्रों को अगली कक्षाओं में प्रोन्नत करने की सिफारिश की थी | लेकिन परीक्षा को लेकर अंतिम फैसला यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने के बाद किया जावेगा |

University Exams UGC Guidelines 2021 फाइनल ईयर की परीक्षाओं को लेकर यूजीसी गाइडलाइंस का इंतजार

यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने से पहले यह अनुमान लगाया जा रहा है की आंतरिक मूल्यांकन और पिछली कक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का फैसला लिया जा सकता है | लेकिन कुछ राज्यों में विश्वविद्यालयों में कई प्रश्नपत्रों की परीक्षाएं हो चुकी हैं | ऐसे में एक प्रस्ताव यह भी है कि जिन प्रश्नपत्रों की परीक्षा हो चुकी है, उनका मूल्यांकन करा लिया जाए | लेकिन कोरोना संकट को देखते हुए शिक्षक प्रश्नपत्रों के मूल्यांकन करवाने का विरोध कर रहे है | ऐसे में बहुत से अनुभवीयो का कहना है की प्रथम वर्ष के छात्रों को ऐसे ही प्रोन्नत किया जा सकता है, उनके अंकों का निर्धारण द्वितीय वर्ष में मिलने वाले अंकों के आधार पर किया जा सकता है व द्वितीय वर्ष के के छात्रों को पिछली कक्षा या सेमेस्टर में प्राप्त अंकों के आधार पर ही अंक देकर अगली कक्षा या सेमेस्टर में प्रोन्नत किया जावे और अंतिम वर्ष के छात्रों को पिछले दो वर्षों की परीक्षा में प्राप्त अंकों के औसत के आधार पर अंक दिए जावे | लेकिन परीक्षा का अंतिम फैसला यूजीसी गाइडलाइंस जारी होने के बाद किया जावेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.