100 दिन के कार्यकाल पर यूपी सिएम योगी आदित्यनाथ ने दिया डीडी न्यूज को इंटरव्यू

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीडी न्यूज को दिए अपने साक्षात्कार में प्रदेश से जुड़े तमाम मुद्दों पर अपनी राय रखी। इस दौरान उन्होंने भुत पूर्व की सरकारों की जमकर आलोचना की हैं । योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 15 वर्ष में प्रदेश की कार्यसंस्कृति को नष्ट कर दिया गया था, एक विशेष पार्टी ने पूरे प्रदेश की व्यवस्था को खराब कर दिया। प्रदेश में कई ऐसे जिले हैं जिसने कभी विकास हुआ ही नहीं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने चेताया की हमारी सरकार निर्दोष को सताएगी नहीं और दोषी को बक्शा नहीं जायेगा | इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व की सरकारों के शासनकाल मैं हुए अपराध षड्यंत्रों,सरकारी अधिकारियो की मनमर्जी,अवेध खनन, और महिलाओं के साथ रोज होने वाले छेड़खानी के मामलो को भी गिनाया और उनके उपर सक्ति से फैसला लेने की बात कहि | उतर प्रदेश मैं फेले अपराध और घटनाओं को मिटाने के बारे मैं उपलब्धियों की जानकारी निम्न प्रकार से हैं |

सहारनपुर की घटना का राजनीतिक षड़यंत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के एसएसपी समेत तमाम अधिकारी जिन्होंने अपने विवेक से कभी निर्णय लेने की हिम्मत नहीं की क्योंकि सरकार ने इनके निर्णय लेने की क्षमता को खत्म कर दिया है। लेकिन हमने उन्हें निर्णय लेने की आजादी दी है। इस बदलाव को आने में समय लगेगा। वहीं सहारनपुर की हिंसा के बारे में बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना के पीछे राजनीतिक षड़यंत्र है।

उत्तर प्रदेश में अवैध खनन

सहारनपुर की हिंसा की भी पृष्ठभूमि में भी अवैध खनन के लोग लिप्त हैं, इन लोगों को जब रोका गया तो इन लोगों ने मुद्दे को बदलने के लिए यहां की हिंसा को बढ़ाने के लिए फाइनेंस कर रहे हैं। सौ दिन के भीतर प्रदेश में एक भी सांप्रदायिक दंगा नहीं हुआ है, यह सरकार की उपलब्धि है कि यहां एक भी सांप्रदायिक हिंसा नहीं हुई है। सहारनपुर में जो कुछ हुआ उसमें मुख्य साजिशकर्ता को हमने गिरफ्तार कर लिया है और कोई भी दोषी बचने नहीं पाएगा।

डीएम और एसएसपी के मूर्खतापूर्ण निर्णय

डीएम और एसएसपी ने मूर्खतापूर्ण निर्णय लिया, शाम को नाप दिए गए, अगर आप अपने काम के लिए जवाबदेह नहीं हैं तो उसका आपको परिणाम भुगतना होगा। अगर कोई व्यक्ति अपना काम ईमानदारी से काम नहीं कर सकता है तो मेरे सामने सख्त कार्रवाई करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। मुझे किसी अधिकारी या व्यक्ति को नहीं देखना है, मुझे प्रदेश के 22 करोड़ लोगों को देखना है।

यूपी में नहीं चलेगा अवैध काम

कानून के साथ खिलवाड़ करने की छूट किसी को भी नहीं दी जाएगी, जो लोग अवैध काम में लिप्त हैं, उन्हें सख्त निर्देश है कि वह अपना अवैध काम यूपी में जारी नहीं रख पाएंगे। अवैध गतिविधियों में जो लिप्त लोग थे उनके खिलाफ हमने कार्रवाई की, इनपर हमारी नजरें हैं, इन्हें सख्ती से रोका भी जा रहा है। अधिकतर मामलों में सख्त कार्रवाई हुई है। मुजफ्फरनगर में तीन चार घटनाएं सामने आई है, ऐसा नहीं हो सकता है कि कोई गलत करे तो वह छूट जाएगा। कहीं भी कोई कानून को हाथ में लेगा तो कानून अपना काम करेगा।

तुष्टिकरण की राजनीति

मुझे लगता है तलाकशुदा महिलाएं ज्यादा मुस्लिम समाज में हैं, अगर सरकार तलाकशुदा, विधवा आदि महिलाओं के लिए काम कर रही है तो इसमें क्या गलत है। रानी लक्ष्मी बाई योजना के तहत तलाकशुदा, विधवा महिलाओं की मदद की जाती है। इसमें कोई तुष्टिकरण नहीं है, यह आधी आबादी से जुड़े लोगों के संरक्षण का मामला है, इसपर कोई विवाद नहीं होना चाहिए।

गेंहू का विक्रय केंद्र खोला

हम लोग प्रदेश के विकास और लोक कल्याणकारी योजनाओं को बंद नहीं करने जा रहे हैं। कर्जमाफी हमारे लिए कर्जमाफी नहीं बल्कि किसानों का सतत विकास करना है। किसान को उसकी उपज का दाम तो दूर उसका समर्थन मूल्य भी नहीं मिल रहा है। हमने किसानों को समर्थन मूल्य से दस रुपए अधिक मूल्य दिया। हमने गेंहू क्रय केंद्र खोलने की शुरूआत की। हमने छत्तीसगढ़ का दौरा किया जहां गेंहू क्रय केंद्र था, इसके बाद हमने प्रदेशभर में गेंहू क्रय केंद्र खोला, जिसके बाद बाजार में गेंहू का दाम बढ़ गया।

पहली बार 27 लाख मीट्रिक टन गेंहू खरीदा

बाजार में किसान को 1650 रुपए मिल रहा था, लेकिन वहाँ भी कटोती होती थी, जिसके बाद 37 लाख मीट्रिक टन गेंहू खरीदा गया, यह अबतक की सबसे बड़ी खरीद है, आलू किसानों की एमएसपी को पहली बार निर्धारित किया गया। गन्ना किसानों का भुगतान किया जा रहा है। किसान हमारे लिए प्राथमिकता है। पर्याप्त मात्रा में खाद और उन्नत किस्म का बीज तमाम जगहों पर मुहैया कराया गया है। पहली बार बुंदेलखंड में पानी का संकट नहीं आया है, यहां इस बार पेयजल का संकट नहीं आया है। प्रशासन ने शानदार व्यवस्था की, आने वाले दो वर्ष में हम बुंदेलखंड की स्थिति बदल देंगे। हम बुंदेलखंड को सिक्स लेन एक्सप्रेस वे से जोड़ेंगे, लखनऊ से बलिया और काशी को एक्सप्रेस वे से जोड़ेंगे।

बूचर खानों पर कार्यवाही

उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अवेध रूप से चल रहे बुचर खनों पर प्रतिबंद लगा दिया हैं | मुख्यमंत्री योगी ने खा की बिना लाहिसेंस किसी भी व्यक्ति को बुचर खाना चल|ते देखा गया तो उसे बक्सा नहीं जायेगा और उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी |

मेधावि छत्रों को देंगे छात्रव्रती

महिला की खूब पढ़ो खूब बढ़ो योजना : के तहत योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने इसमें बेसिक व माध्यमिक शिक्षा को जोड़ है। हमने स्कूल चलो अभियान के तहत प्रदेश के हर बच्चे को स्कूल भेजने का अभिायन शुरू किया है, इसमें जो बच्चे प्रतिभावान है, उन बच्चों के लिए स्कॉलरशिप दी जाएगी। कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चे को ड्रेस, बैग, जूते, किताब दी जाएगी। यह प्रक्रिया जुलाई माह में पूरी हो जाएगी। जुलाई माह में प्राथमिक स्कूल में बदलाव देखने को मिलेगा। छात्र-शिक्षकों के अनुपात को सही करने का काम चल रहा है। हमने जन प्रतिनिधियों को कहा है कि कम से कम एक विद्यालय को गोद लें और उसे एक मॉडल स्कूल के तौर पर विकसित कर सके। हम हर विद्यालय में एक शिक्षक और बुनियादी शिक्षा को स्थापित करने पर काम कर रहे हैं।

अपराधियों की कमर तोड़ दी जाएगी

प्रदेश का सर्वांगीण विकास हो, इसे ध्यान में रखकर हमने अपनी कार्ययोजना तैयार की, इसके लिए सख्त कानून की जरूरत है, हम इसके लिए काम कर रहे हैं। अपराधियों की कमर तोड़ने के लिए हम कानून बनाने जा रहे हैं। हिंदू युवा वाहिनी के बारे में बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई भी कानून को हाथ लेगा फिर चाहे वह हिंदू युवा वाहिनी हो या कोई और, हमने पुलिस को साफ कर दिया है कि उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करिए ताकि आने वाले समय में यह लोग याद रखें।

 

You Must Read

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.