विवो को 5 साल के लिए मिली IPL की टाइटल स्पॉन्सरशिप : चीनी कंपनी BCCI को हर साल करेगी 440 करोड़ रुपए का भुगतान

Vivo IPL 2020 Title Sponcership : China’s giant mobile company Vivo has once again won the title sponsorship of the Indian Premier League. For this five-year sponsorship, Vivo bid the highest at Rs 2199 crore. चीनी मोबाइल कंपनी VIVO ने एक बार फिर IPL की टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल कर ली है | अब उसके पास अगले पांच साल 31 जुलाई 2022 तक टाइटल स्पॉन्सरशिप रहेगी | स्पॉन्सरशिप के लिए वीवो ने सर्वाधिक 2199 करोड़ रुपए की बोली लगाई. जबकि प्रतिद्वंद्वी ओपो 1430 करोड़ रुपए की बोली के साथ दूसरे स्थान पर रहा |चीनी मोबाइल हैंडसेट कम्पनी विवो ने 2018 से 2022 तक की पांच साल की अवधि के लिए इंडियन प्रीमियर लीग के लिए टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल कर ली है | With this, the Chinese company will pay about Rs 440 crore per year to BCCI which is four times more than before. The BCCI had invited tenders till 31 July 2022. Vivo had achieved title sponsorship at the rate of Rs 100 crore per year for two years, which was Rs 20 crore more than Pepsi. Pepsi received sponsorship for 2013-2015.

वीवो टाइटल स्पॉन्सरशिप 2018-2022

आईपीएल ने आधिकारिक ट्विटर पर ट्वीट करके बताया की वीवो ने आईपीएल 2018 से 2022 के लिए टाइटल स्पॉन्सरशिप को बरकरार रखा है. उसने 2,199 करोड़ रुपये की बोली लगायी जो पिछले करार से 554 प्रतिशत अधिक है |भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI) ने एक अगस्त 2017 से 31 जुलाई 2022 तक की अवधि के लिए आईपीएल के टाइटल प्रायोजन के लिये पिछले महीने निविदा मंगवाई थी | जो 27 जुलाई को स्वीकार की गई |VIVO IPL 2020 जल्द ही शुरू होने वाला हैं इस बार विवो आईपीएल 2020 का आगाज होने वाला हैं क्रिकेट आईपीएल खेल प्रतियोगिता का पुरे विश्व को इंतजार रहता हैं हर साल ये प्रतियोगिता आयिजित करवाई जाती हैं बीसीसीआई के दवारा इस प्रतियोगिता में सभी खिलाडियों की पहले बोली लगायी जाती हैं ख़रीदे जाते हैं | सभी खिलाडियों के लिये दीवाली का माहोल रहता हैं | इस प्रतियोगिता में विदेशी खिलाडियों को भी ख़रीदा जाता हैं | और सभी की उचित बोलिया लगायी जाती हैं | इस प्रतियोगिता सब से पहले पपेसी ने टाइटल स्पॉन्सरशिप  ख़रीदा और बाद में कोकोकला ने इस प्रकार ये खेल 2007 से पहली बार खेला गया था | आईपीएल 2020 टाइटल स्पॉन्सरशिप  विवो के पास ही रहेंगी

वीवो ने मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो को छोड़ा पीछे

बात यह हैं कि वीवो ने 2016 से 2017 के सत्र के लिए टाइटल अधिकार हासिल किए थे | यह डील 100 करोड़ रू प्रतिवर्ष के आधार पर हुआ था करार के नवीनीकरण के लिये वीवो ने एक अन्य मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो को पीछे छोड़ा, वीवो ने 1430 करोड़ रुपये की बोली लगायी थी वीवो ने इससे पहले पेप्सी की जगह टाइटल अधिकार हासिल किए थे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.