What Is GST Who benefits and whose losses

GST क्या हैं |

GST Goods Service Tax अथार्त सामान वस्तु सेवा कर कोई भी वस्तु पर लगने वाला कर या टेक्स या दवा हैं | भारत में लगने वाले tex को एक साथ ही खत्म कर देगी | यानी की भारत देश में हर तरह की वस्तुओ व सेवाओं पर लगने वाला अलग अलग कर, शुल्क ,टेक्स खत्म कर दिए जाएंगे और नये आंकड़े के मुताबिक सभी प्रकार की वस्तुओं सेवाओं पर सिर्फ एक ही प्रकार का tax वसूल किया जाने वाला शुल्क GST जी एस टी के नाम से जाना जाएगा |

राज्य सभा ने 122 वाँ सविंधान संशोधन के द्वारा GST बिल पर बहस और वोटिंग हुई | भारत देश में tax सुधारो को लेकर आजादी के बाद से अब तक सबसे महत्वपूर्ण सविंधान संशोधन माना गया हैं जिसे राज्य सभा ने पारित किया |राज्य सभा ने GST को लेकर सविंधान संशोधन को मंजूरी मिल जाने के बाद पुरे देश में GST 01 जुलाई 2017 से लागू कर दिया दिया जाएगा |

GST से किसको फायदा और किसको नुकसान

01 जुलाई 2017 से GST बिल पुरे भारत में लागू कर दिया जाएगा | जीएसटी परिषद ने सोने समेत कुछ जींसों को छोड़कर ज्यादातर सेवाओं के लिए कर दरों को अंतिम रूप दिया है। भारत देश में शिक्षा और स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवाओं को जीएसटी दायरे के बहार रखा गया हैं | वही दूसरी तरफ खाद्य सामग्री अनाज व दूध जैसी घरेलू वस्तुएं को कर मुक्त दिया हैं | तमाम बैठको के सम्पूर्ण सूत्रों के अुनसार जीएसटी को आम जनता तक राहत पहुचने का हथियार बनाने के प्रयास में परिषद ने शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल जैसी सेवाओं को जीएसटी से छूट देने का फैसला किया। और अन्य सेवाओं पर चार विभिन्न दरों 5,12,18 व 28 प्रतिशत जीएसटी लगाने का फैसला पहले ही किया जा चुका है।

जीएसटी के तहत कोस्मेटिक सामान मेकअप के सामान, सनस्क्रीन लोशन, शैंपू, हेयर क्रीम, हेयर डाइ, शेविंग क्रीम, डिओड्रेंट, तेल, घी, रिफाइंड आॅयल, जैम, जेली, ज्विंगम, हेयर आयल साबुन और टूथपेस्ट महंगा होगा। फ्लोर कवरिंग, बाथरूम के सामान और कारें महंगी होंगी। इसके अलावा कारों पर 28 प्रतिशत की सर्वोच्च दर से जीएसटी लगेगा। वहीं छोटी कारों पर 1 प्रतिशत, मध्यम पर 3 प्रतिशत और बड़ी एवं लग्जरी कारों पर 15 प्रतिशत की दर से उपकर भी लगेगा।

GST से किसको होगा नुकसान?

अगर जीएसटी लागू होता है तो इससे केंद्र को तो फायदा होगा लेकिन राज्यों को इस बात का डर हैं कि इससे उन्हें नुकसान होगा। इसका कारण यह है कि इसके बाद वे कई तरह के टैक्स नहीं वसूले पाएंगे जिससे उनकी कमाई कम हो जाएगी। गौरतलब है कि पेट्रोल व डीजल से तो कई राज्यों का आधा बजट चलता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र ने राज्यों को राहत देते हुए मंजूरी दे दी है कि वे इन वस्तुओं पर शुरुआती सालों में टैक्स लेते रहें। राज्यों का जो भी नुकसान होगा, केंद्र उसकी भरपाई पांच साल तक करेगा।

GST से आम जनता को होगा फायदा

अगर 01 जुलाई 2017 से जीएसटी बिल लागू होता हैं इसका पूरा पूरा फायदा आम जनता को होने वाला हैं क्योकि आम गरीब जनता को खाध्य पदार्थ और देनिक जीवन में आक आने वाली हर प्रकार की वस्तुओ की दर में कमी होने वाली हैं | और दूसरी बात यह की पुरे देश में समान मूल्य पर ही सामन उपलब्ध होगा न की अलग अलग दर के हिसाब से चाहे कही पर भी खरीद सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.