विश्व पर्यावरण दिवस 2018 पर्यावरण दिवस पर पौधरोपण निबंध कविता नारे और महत्वपूर्ण कथन

विश्व पर्यावरण दिवस 2018 : विश्व पर्यावरण दिवस हर वर्ष 05 जून को मनाया जाता हैं | विश्व पर्यावरण दिवस का मतलब – हमारी प्रक्रति को सुरक्षित रखना,पेड़ो की सुरक्षा करना ,हमारी प्रथ्वी को हरा भरा रखना,कल कारखानों से निकले धुए से बचना,गन्दगी का न फेलना,जलवायु को स्वच्छ रखना,अधिक से अधिक पेड़ लगाना,पेड़ो की देख रेख करना,स्वच्छ जल को दूषित नहीं करना,धवनी प्रदुषण नहीं करना, इन सब बातों के बारे मैं आम नागरिक को जागरूक करने के लिए हर वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता हैं | विश्व पर्यावरण दिवस 2018 मैं पूरे विश्व भर के लोगों के द्वारा 5 जून, सोमवार को मनाया जायेगा।

Environment Day 2018 पर्यावरण दिवस 2018

विश्व पर्यावरण दिवस को पर्यावरण दिवस और ईको दिवस के नाम भी जाता है। ये वर्षों से एक बड़े वार्षिक उत्सवों में से एक है जो हर वर्ष 5 जून को अनोखे और जीवन का पालन-पोषण करने वाली प्रकृति को सुरक्षित रखने के लक्ष्य के लिये लोगों द्वारा पूरे विश्व भर में मनाया जाता है।

History on World Environment Day : विश्व पर्यावरण दिवस का इतिहास

विश्व पर्यावरण दिवस, आम लोगों को जागरुक बनाने के लिये साथ ही कुछ सकारात्मक पर्यावरणीय कार्यवाही को लागू करने के द्वारा पर्यावरणीय मुद्दों को सुलझाने के लिये, मानव जीवन में स्वास्थ्य और हरित पर्यावरण के महत्व के बारे में वैश्विक जागरुकता को फैलाने के लिये वर्ष 1973 से हर 5 जून को एक वार्षिक कार्यक्रम के रुप में विश्व पर्यावरण दिवस को मनाने की शुरुआत की गयी | पर्यावरण की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी सिर्फ सरकार या निजी संगठनों की ही नहीं बल्कि पूरे समाज की जिम्मेदारी है ।विश्व पर्यावरण दिवस की स्थपना 5 जून 1972 को संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा की गई । इसे पहली बार 1973 में कुछ खास विषय-वस्तु के “केवल धरती” के साथ मनाया गया था। 1974 से, दुनिया के अलग-अलग शहरों में विश्व पर्यावरण उत्सव की मेजबानी की जा रही है।

विश्व पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है – 5 जून 1973 ई को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया।

बड़े पर्यावरण मुद्दें जैसे भोजन की बरबादी और नुकसान, वनों की कटाई, ग्लोबल वार्मिंग का बढ़ना इत्यादि को बताने के लिये विश्व पर्यावरण दिवस को वार्षिक उत्सव के रूप मैं मनाने की शुरुआत की गयी थी। पर्यावरण संरक्षण के दूसरे तरीकों सहित बाढ़ और अपरदन से बचाने के लिये सौर जल तापक, सौर स्रोतों के माध्यम से ऊर्जा उत्पादन, नये जल निकासी तंत्र का विकास करना, प्रवाल-भिति को बढ़ावा देना और मैनग्रोव का जीणोंद्धार आदि के इस्तेमाल के लिये आम लोगों को बढ़ावा देना, सफलतापूर्वक कार्बन उदासीनता को प्राप्त करना, जंगल प्रबंधन पर ध्यान देना, ग्रीन हाउस गैसों का प्रभाव घटाना, बिजली उत्पादन को बढ़ाने के लिये हाइड्रो शक्ति का इस्तेमाल, निम्निकृत भूमि पर पेड़ लगाने के द्वारा बायो-ईंधन के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये इसे मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस 2018 पर अनमोल वचन

  • पर्यावरण मुद्दों के बारे में आम लोगों को जागरुक बनाने के लिये इसे मनाया जाता है।
  • विकसित पर्यावरणीय सुरक्षा उपायों में एक सक्रिय एजेंट बनने के साथ ही साथ उत्सव में सक्रियता से भाग लेने के लिये अलग
  • समाज और समुदाय से आम लोगों को बढ़ावा देते हैं।
  • उन्हें जानने दो कि पर्यावरणीय मुद्दों की ओर नकारात्मक बदलाव रोकने के लिये सामुदायिक लोग बहुत जरुरी हैं।
  • सुरक्षित, स्वच्छ और अधिक सुखी भविष्य का आनन्द लेने के लिये लोगों को अपने आसपास के माहौल को सुरक्षित और
  • स्वच्छ बनाने के लिये प्रोत्साहित करना चाहिये।

विश्व पर्यावरण के बारे मैं इस वर्ष का विषय है : अपनी आवाज़ उठाइये, समुद्र तल नहीं।

विश्व पर्यावरण को बचाने के 10 संदेश

1. पर्यावरण दिवस पर पेड़ों को बचाना, वृक्षारोपण करने का संदेश
2. विश्व पर्यावरण दिवस के दिन कचड़े के ढेर की सफाई करने का संदेश
3. विश्व पर्यावरण दिवस पर देश में प्रदूषण की सच्चाई को बयां करने का संदेश
4.रैली के जरिए लोगों को जागरूक करने का संदेश.
5. विश्व पर्यावरण दिवस पर देश में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित कर पर्यावरण को बचाने का संदेश.
6.विश्व पर्यावरण दिवस पर पेड़ों को बचाने का संदेश दिया .
7 . पेड़ लगाकर पर्यावरण को बचाने का सन्देश
8 . प्रदूषण रोककर पर्यावरण को बचाने का सन्देश
9 . वन्य जीवो और जंगलो को काटने से बचाने के लिए संदेश
10 . एक कदम स्वच्छता की और मोदी संदेश

Slogen on World Environment Day : विश्व पर्यावरण दिवस पर नारे

  • एक विश्व, एक पर्यावरण।”
  • सोचो, खाओ, बचाओ”और अपने फूडप्रिंट को घटाओ।”
  • आपके ग्रह को आपकी जरुरत है- जलवायु परिवर्तन का विरोध करने के लिये एक होना।”
  • CO2, आदत को लात मारो-
  • बर्फ का पिघलना- एक गंभीर विषय है?”
  • शुष्क भूमि पर रेगिस्तान मत बनाओ।”
  • हमारी पृथ्वी- हमारा भविष्य” और इसे बचायें।”
  • जब लोग पर्यावरण को प्रथम स्थान पर रखेंगे, विकास अंत में आयेगा।”
  • ओजोन परत पर्यावरण चिंता; भूमि की हानि और मिट्टी का निम्निकरण।”

World Environment Day Important Statement : विश्व पर्यावरण दिवस पर महापुरुषो के महत्वपूर्ण कथन –

  • पर्यावरण सब कुछ है जो मैं नहीं हूँ। – अल्बर्ट आइंस्टाईन
  • इन पेड़ों के लिये भगवान ध्यान देता है, इन्हें सूखे, बीमारी, हिम्स्खलन और एक हजार तूफानों और बाढ़ से बचाता है। लेकिन वो इन्हें बेवकूफों से नहीं बचा सकता। – जॉन मुइर
  • कीचड़ से साफ पानी में प्रदूषण करने के द्वारा आप कभी भी पीने को अच्छा पानी नहीं पायेंगे। – एशीलस
  • अगर हम पृथ्वी को सुंदरता और खुशी पैदा करने की अनुमति नहीं देते, अंत में ये भोजन पैदा नहीं करेगा, दोनों में से एक। – जोसेफ वुड क्रच
  • वो दावा करते हैं ये हमारी माँ का, धरती, उनके अपने प्रयोग के लिये, और उससे उनके पड़ोसियों को दूर रखो, अपने बिल्डिंगों और अपने कूड़े से बिगाड़ों उसे। – सिटींग बुल
  • मनुष्य और भूमि के बीच सौहार्द की एक स्थिति संरक्षण है। – एलडो लियोपोल्ड

Essay on Environment Day : विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध

विश्व पर्यावरण दिवस के अभियान की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र की महासभा के द्वारा 1972 में की गई। यह प्रत्येक वर्ष जून के महीने में 5 तारीख को मनाया जाता है। यह मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर निकट भविष्य में पर्यावरण के मुद्दों पर ध्यान आकर्षित करने के लिए एक वार्षिक अभियान के रूप में घोषित किया गया था। यह दुनिया भर में गर्म वातावरण के मुद्दों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए एक मुख्य उपकरण के रूप में संयुक्त राष्ट्र द्वारा निर्मित किया गया था। संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस अभियान का मुख्य उद्देश्य लोगों के सामने पर्यावरण के मुद्दों का वास्तविक चेहरा देना और उन्हें विश्वभर में पर्यावरण के अनुकूल विकास का सक्रिय प्रतिनिधि बनाने के लिए सशक्त करना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.