शिक्षा विभाग में पदोन्नति पर अभ्यर्थियों ने लगाई रिट, हाईकोर्ट से मिला स्टे, जाने कब आएगी वरीयता सूचि

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में सेकंड ग्रेड से व्याख्याता वाणिज्य पद पर पदोन्नति के लिए शिक्षा विभाग तैयारी कर रहा है | लेकिन विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) के लिए बार-बार नियम परिवर्तन किये जाने से कुछ अभ्यर्थियों ने राजस्थान हाईकोर्ट में इन नियमो के खिलाफ रिट लगाई | जिसके बाद हाईकोर्ट ने अब तक कुल 8 अभ्यर्थियों को स्टे किया है |

Advertisements

पदोन्नति पर अभ्यर्थियों ने लगाई रिट

शिक्षा निदेशालय की ओर से सेकंड ग्रेड से व्याख्याता पदों पर डीपीसी की तैयारी शुरू कर दी गई है | लेकिन वाणिज्य विषय की पदोन्नति के लिए वरीयता सूचि अभी तक जाती नहीं की गई है | दूसरी ओर व्याख्याता डीपीसी के लिए बार-बार नियम परिवर्तन किये जाने से स्टे की प्रक्रिया लगातार बढती जा रही है |

News

हाईकोर्ट ने 8 अभ्यर्थियों को स्टे किया

Advertisements

व्याख्याता संघर्ष समिति के सदस्य आनंद पारीक ने बताया की पूर्व में बीकॉम के साथ जो एमकॉम धारक 6 अभ्यर्थियों के लिए राजस्थान हाईकोर्ट ने स्टे किया था | उसी हवाले से अब तीन अगस्त 2021 से पहले एमकॉम करने वालो को भी शिवराज सिंह सहित 8 अभ्यर्थियों के लिए स्टे किया है |

व्याख्याता पदों पर डीपीसी की तैयारी शुरू

गत 4 वर्षों से यूजी-पीजी समान विषय नियम लागू करने से प्रक्रिया रुकी हुई थी | लेकिन ये अब पूरी होने की पूरी उम्मीद है, पर डीपीसी को लेकर आज भी संशय बरकार है, क्योंकि 7 फरवरी को इस नियम में संशोधन कर 3 अगस्त 2021 से पूर्व यूजी-पीजी असमान विषय वाले शिक्षकों को सम्मिलित करते हुए अस्थाई पात्रता सूची जारी कर दी गई है तथा मुख्य सचिव के निर्देश अनुसार 31 मार्च से पूर्व विभाग में सभी डीपीसी करने की तैयारी चल रही है |

Advertisements
Join Telegram Join Now
Join WhatsApp Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top